--Advertisement--

कजाकिस्तान में महज अस्सी हजार रु. के लिए साथी स्टूडें्स ने ली मेरे बेटे की जान

भरतपुर | शहर की राजेंद्र नगर कॉलोनी निवासी 22 वर्षीय हेमंत कुमार की कजाकिस्तान में उसके ही साथियों ने गला रेत कर...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 08:57 AM IST
Sadas - only eighty thousand rupees in kazakhstan partner39s friends for lee39s son39s life
भरतपुर | शहर की राजेंद्र नगर कॉलोनी निवासी 22 वर्षीय हेमंत कुमार की कजाकिस्तान में उसके ही साथियों ने गला रेत कर हत्या कर दी। हेमंत कजाकिस्तान स्थित कजाक नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी अलमाटी में थर्ड ईयर मेडिकल का छात्र था। हेमंत के पिता दारा सिंह का आरोप है कि उसके ही रूम पार्टनर ने उसकी गला रेत कर हत्या की है। हेमंत पर 8 नवंबर की रात्रि 11 बजे हमला हुआ। उसके गले पर किसी धारदार हथियार से हमला किया गया। उसे लहुलुहान हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसने रात्रि 2 बजे दम तोड़ दिया। घटना के बारे मेें हेमंत के मित्र शुभम ने अपने परिवार वालों को बताया तब परिवार के सदस्यों ने इसकी जानकारी हेमंत के परिजनों को दी। हेमंत अंतिम बार वह अप्रैल में भरतपुर अपने परिवार से मिलने आया था, तब वह यह कहकर गया था कि दिसंबर में उसका सेमिस्टर की परीक्षा देकर 15 दिन के लिए अवकाश पर आएगा। जिस रूम में हेमंत रहता था उसमें कुल 6 स्टूडेंट रहते थे। इनमें से हेमंत को छोड़कर बाकी 5 मणिपुर के रहने वाले हैं। उन्हीं में से एक टोलेन नाम के स्टूडेंट्स के रूम में से 80 हजार रुपए गुम हुए थे, जिसने हेमंत पर रुपए चोरी करने का आरोप लगाया। उसने हेमंत पर पैसा देने के लिए दबाव भी बनाया। उसने अपने साथियों में वाट्सएप पर यह मैसेज भी डाला कि हेमंत कुमार ने उसके रुपए चोरी कर लिए हैं। अपने परिवार में हेमंत इकलौता बेटा था। उसकी एक छोटी बहिन है नीतू। जो अग्रसेन विद्यापीठ में 11 वहीं कक्षा की स्टूडेंट है और बैडमिंटन की स्टेट प्लेयर है।

जयपुर के कंसलटेंट हरिपाल ने कराया था एमबीबीएस में प्रवेश

कजाकिस्तान यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस करने के लिए हेमंत का एडमिशन जयपुर के कंसलटेंट हरिपाल ने कराया था। एडमिशन दिलाने के एवज में हरिपाल ने उससे 1 लाख 85 हजार रुपए लिए थे। इसके अलावा 4200 डॉलर शिक्षण शुल्क एवं 200 डॉलर हॉस्टल फीस के एवज में लिए गए। हेमंत के पिता दारा सिंह ने बताया यूनिवर्सिटी में भारी भ्रष्टाचार है। पहली साल में ही उसे एक पेपर में फेल कर दिया गया उसके एवज में 2100 रुपए डॉलर वसूले गए। पता चला कि वहां स्टूडेंट्स से इसी प्रकार से ठगी की जाती है। तय शुल्क के अलावा यूनिवर्सिटी पिछले तीन साल में 1 लाख 40 हजार रुपए अतिरिक्त वसूल चुकी है।

विदेश मंत्री से कोई जवाब नहीं आया

परिजनों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज एवं भारतीय दूतावास को ट्वीट कर घटना की सूचना दी है, लेकिन वहां से ट्वीट का कोई जवाब अभी तक नहीं आया है। हेमंत के कजन डॉ. विकास ने बताया मैंने विदेश मंत्री और भारतीय दूतावास कजाकिस्तान को ट्विटर पर ट्वीट कर घटनाक्रम के बारे में बताया है, साथ ही ऐसे हालात में हेल्प करने की गुहार लगाई है, लेकिन वहां से मुझे कोई रेस्पॉन्स नहीं मिला है। कजाकिस्तान दिल्ली से 3 हजार 233 किलोमीटर की दूरी पर है। फ्लाइट से कजाकिस्तान तक पहुंचने में करीब 4 घंटे का समय लगता है। कजाकिस्तान के लिए दिल्ली से सीधी फ्लाइट है।

शव को आने में लगेंगे करीब 3 दिन

हेमंत के पार्थिव शरीर को भरतपुर आने में कम से कम तीन दिन का समय लग सकता है। कजन डाॅ. विकास ने बताया कि अभी तक तो दूतावास से भी संपर्क नहीं हो पाया है। हम हर तरह से प्रयास कर रहे हैं। कजाकिस्तान में यूनिवर्सिटी के पीआरओ से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस इस केस में सक्रिय हो गई है। उसने दो युवकों को हिरासत में भी लिया है। कानूनी कार्रवाई के बाद ही कजाकिस्तान से शव को नो ड्यूज कर रिलीज किया जाएगा।

टोलन ने किया था हेमंत की मां को फोन

हेमंत के पिता ने बताया कि टोलन पर हत्या का शक इसलिए है कि उसके एक रूम पार्टनर मणिपुर निवासी टोलेन के रूम से 80 हजार रुपए गायब हो गए थे। जिस पर उसने उसके बेटे हेमंत पर रुपए चुराने का आरोप लगाया था। टोलेन ने हेमंत की मां आशा देवी के मोबाइल पर कॉल कर पैसों के मामले में बात की थी, उस वक्त मेरी उससे बात नहीं हो पाई। वहीं 9 नवंबर को शाम 7 बजे हेमंत की मौत की सूचना उन्हें मिली। एक बार तो लगा ये किसी ने भद्दा मजाक किया है, लेकिन हकीकत का पता लगा तो पैरों तले जमीन खिसक गई।

X
Sadas - only eighty thousand rupees in kazakhstan partner39s friends for lee39s son39s life
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..