अपनी संस्कृति अपनाएं ताे बिखराव खत्म होगा

Chittorgarh News - राष्ट्र चिंतन कार्यक्रम से पहले साध्वी ऋतम्भरा ने संगम रोड़ स्थित कुकड़ा रिसोर्ट पर शहर के 150 प्रबुद्धजनों के साथ...

Feb 15, 2020, 11:11 AM IST

राष्ट्र चिंतन कार्यक्रम से पहले साध्वी ऋतम्भरा ने संगम रोड़ स्थित कुकड़ा रिसोर्ट पर शहर के 150 प्रबुद्धजनों के साथ वार्ता की। इस दौरान परिवारसहित पहुंचे प्रबुद्धजनों को श्रेष्ठ जीवन जीने के तरीके समझाए। आखिर किन कारणों से परिवारों का बिखराव हो रहा, इस पर लगाम कैसे लगे। इस पर चर्चा हुई।

साध्वी ने परिवार के सदस्यों को समझाया कि जीवन की धन्यता व श्रेष्ठ मानव जीवन के मायने तब है जब हम पूर्णता का अनुभव करें। उन्होंने समय की महत्ता समझाते हुए कहा कि कल कभी नहीं आता और आज कभी नष्ट नहीं होता। इसलिए जो अच्छे काम करने है, उसकी शुरुआत आज अभी से करे। कारण मानव मन हमें अतीत एवं भविष्य में उलझाये रखता है। मन कल्पनाओं का घर बनाता है, मन की चालाकी जान गए सो अपने आप को पहचान गए। चर्चा के दौरान एक प्रश्न सामने आया कि आर्थिक रूप से संपन्न होने के बाद भी परिवारों में बिखराव हो रहा है। इस पर जवाब देते हुए साध्वी ने कहा कि पहले एक झाेपड़ी में भी एक साथ दो भाइयों का परिवार रहता था, आज आर्थिक रूप से संपन्न होने के बाद भी ऐसा नहीं है। इसका कारण है कि हम पाश्चात्य संस्कृति को अपनाकर अपने आपको को समझदार मान रहे है, फिर भी मन में शांति नहीं है। संचालन डाॅ सुशील लढ्‌ढा ने किया।

नगर परिषद के पूर्व उप सभापति भरत जागेटिया, देवी सिंह राव, इंद्रमल सेठिया, ओम प्रकाश उपाध्याय व रंजना चंडालिया, राम गुरबानी,पुष्कर नराणीया, दीनेश अग्रवाल, वंदना वजीरानी, अशोक अजमेरा, कार्यक्रम सयोंजक प्रमोद अग्रवाल, अशोक अग्रवाल व सुशील शर्मा, रवि विराणी, बालकिशन भोई, अनिल ईनाणी, नरेंद्र पोखरना, शैलेन्द्र झंवर, विश्वनाथ टांक, तेजपाल सिंह खोर, पहलवान सालवी, उषा रांदड़, शशि सनाढ्य, तारावती धाकड़, दिनेश गुप्ता, नीरजा गर्ग, राखी राव, प्रकाश मेहता व गिरीश दीक्षित मौजूद थे। वे सेंती में पार्षद मनोज मेनारिया एवं सुनील मेनारिया के निवास पर भी गईं।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना