डब्बा ट्रेडिंग के ठिकाने पर छापा, 4 युवक गिरफ्तार दो लैपटॉप व 14 मोबाइल जब्त...संचालक फरार

Chittorgarh News - भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़ पुलिस ने शहर में अवैध रूप से वायदा काराेबार, अनाधिकृत स्टॉक तथा कमोडिटी...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:45 AM IST
Chittorgarh News - rajasthan news dabba raided the place of trading 4 youth arrested two laptops arrested and 14 mobile seized
भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़

पुलिस ने शहर में अवैध रूप से वायदा काराेबार, अनाधिकृत स्टॉक तथा कमोडिटी एक्सचेंज के रूप में डब्बा ट्रेडिंग का खुलासा किया है। इसके ठिकाने पर छापे में 14 मोबाइल, तीन कंप्यूटर सीपीयू और दो लैपटॉप के साथ हिसाब किताब के कागजात जब्त किए। कमोडिटी और स्टाक एक्सचेंज पर अवैध रूप से रोज करीब 5 करोड़ का टर्नओवर हाेता था। यह काम दस साल से चल रहा था। इसका संचालक संदीप सेठिया मौके पर नहीं मिला। वहां मिले चार कर्मचारियाें काे गिरफ्तार कर लिया गया है। राजस्थान में इस साल में इस तरह का यह पहला केस बताया जा रहा है।

एसपी अनिल कयाल के अनुसार गांधीनगर सेक्टर 5 में एक मकान में ऑनलाइन सट्टा कारोबार की सूचना पर सदर एसएचओ नवनीत बिहारी व्यास के नेतृत्व में पुलिस टीम पहुंची। मकान के एक कमरे में टेबल पर तीन कंप्यूटर तथा पास में दो लैपटॉप चालू थे। इन पर चार लाेग काम करते, मोबाइल पर बात व हिसाब नोट कर रहे थे। कंप्यूटर स्क्रीन पर ऑनलाइन एनसीडीएक्स जैसी वेबसाइट खुली हुई थी। पास में पड़े स्लीप पेड (सौदा बुक) में विभिन्न कंपनियों के इक्विटी एवं शेयर की समय के साथ रेट लिखी थी। मौके पर काम करते मिले गांधीनगर सेक्टर नंबर 4 निवासी कुसुमकांत पुत्र रमाकांत शर्मा, रतलाम (मध्य प्रदेश) निवासी सचिन पुत्र आनंदीलाल चौहान, रतलाम निवासी राहुल पुत्र नरेंद्र जैन एवं रतलाम निवासी प्रतीक पुत्र रमेश राव पाटील ने बताया कि इस केंद्र का मालिक संदीप सेठिया कुछ समय पहले ही हिसाब लेकर गया। पुलिस चारों को गिरफ्तार कर लिया। इन्होंने स्वीकार किया कि इनके पास ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग संबंधी लाइसेंस या अधिकृत संस्था से अनुमति नहीं है।

डब्बा आपरेटर चित्तौड़ का ही, ग्राहक रतलाम व इंदौर तक से आते हैं

यह फाइनेंशियल स्मैक है, कार्रवाई से पुलिस को समझना पड़ा कराेबार... एसपी कयाल के अनुसार यह दो नंबर का कारोबार होने के बावजूद ऊपर से पूरी तरह शेयर व वायदा कारोबार ही है। उन्होंने पहले मध्यप्रदेश के नीमच में हुई ऐसी एक कार्रवाई की जानकारी पर नीमच में हुई एफआईआर मंगवाई। उसमें दर्ज कानूनी धाराओं और इंटरनेट पर डब्बा कारोबार संबंधी जानकारी लेने के बाद यह कार्रवाई की। राजस्थान में इस साल सहित हाल के सालों में ऐसे केस की जानकारी नहीं मिली।


सौदे एक्सचेंज तक नहीं पहुंचते, ट्रेडर अपने स्तर पर निबटा देता

डब्बा ट्रेडिंग में भी शेयरों और कमोडिटीज का कारोबार होता है। बस फर्क यह है कि जहां रजिस्टर्ड ब्रोकर अपने इन्वेस्टर्स और और कमोडिटी या स्टॉक एक्सचेंजों के बीच एजेंट का काम करता है, वहीं डब्बा चलाने वाला अपने आप में एक पूरी संस्था होता है। वह ग्राहकों के सौदों को केवल अपने रजिस्टर में लिखता है। ये सौदे एक्सचेंज या बाजार तक नहीं पहुंचते। उसी के स्तर से सौदों का निबटारा हो जाता है। ग्राहक यह सब जानते है पर लालच के चलते इसके प्रति आकर्षित हो जाते हैं। इसकी एक वजह यह है कि इसमें टैक्स नहीं लगता।

आरोपियों पर 5 एक्ट की 6 धाराओं में बना केस, जानिए क्यों....

प्रारंभिक जांच में सौदा पन्नों एवं टेलीफोन रिकॉर्डिंग से पता चला कि मुख्य डब्बा ऑपरेटर गांधीनगर का संदीप सेठिया है। करीब दस साल से पैरेलल स्टॉक/ कमोडिटी एक्सचेंज के रूप में वह यहां डब्बा ट्रेडिंग कर रहा था। इसका अनुमानित टर्नओवर करीब 5 करोड़ रुपए प्रतिदिन था। उसके ग्राहकों में भीलवाड़ा, नीमच, रतलाम तथा इंदौर तक के लोग शामिल है। इस सेंटर पर बड़े पैमाने पर इक्विटी डेरिवेटिव्स, कमोडिटी डेरिवेटिव्स एवं एग्रीकल्चर डेरिवेटिव में काम किया जा रहा था। ग्राहक के किसी भी सौदे को वैधानिक एक्सचेंज (एनएसई बीएसई एनसीडीईएक्स व एमसीएक्स) के किसी सॉफ्टवेयर में पंच नहीं किया गया। इससे सरकार को सर्विस टैक्स, एज्युकेशन सेल्स, सिक्योरिटी ट्रांजैक्शन टैक्स (STT) आदि टैक्सेस की हानि पहुंचाई जा रही थी।

Chittorgarh News - rajasthan news dabba raided the place of trading 4 youth arrested two laptops arrested and 14 mobile seized
X
Chittorgarh News - rajasthan news dabba raided the place of trading 4 youth arrested two laptops arrested and 14 mobile seized
Chittorgarh News - rajasthan news dabba raided the place of trading 4 youth arrested two laptops arrested and 14 mobile seized
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना