अवैध ब्लास्टिंग से स्कूल की छत का मलबा गिरा, डरे बच्चे अगले दिन स्कूल नहीं अाए

Chittorgarh News - बिनोता. अवैध ब्लास्ट से टाटरमाला विद्यालय की छत से गिरा प्लास्टर। क्षतिग्रस्त भवन देखने पहुंचे जनप्रतिनिधियों...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:56 AM IST
Binota News - rajasthan news debris on the roof of the school collapsed due to illegal blasting scared children did not come to school the next day
बिनोता. अवैध ब्लास्ट से टाटरमाला विद्यालय की छत से गिरा प्लास्टर।

क्षतिग्रस्त भवन देखने पहुंचे जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में भी पत्थर अाकर गिरे

भास्कर संवाददाता | बिनोता

क्षेत्र की पत्थर की खदानों में हो रही अवैध ब्लास्टिंग से शुक्रवार शाम मिंडाना ग्राम पंचायत के इंद्रानगर के राजकीय प्राथमिक स्कूल की छत से मलबा गिर गया। इस दौरान स्कूल परिसर में बच्चे खेल रहे थे, गनीमत रही कि किसी काे चाेट नहीं। डर के मारे शनिवार को आधे से ज्यादा बच्चे स्कूल नहीं पहुंचे। किसी तरह उन्हें बुलाया गया तो दोपहर में ब्लास्टिंग के कारण पत्थर उछलकर आ गिरे। इस मामले में सबसे महत्वपूर्ण पहलू ये है कि करीब तीन साल पहले ब्लास्टिंग से परेशान होकर शिक्षक ने इसी स्कूल में विस्फोट और दो-तीन बच्चों के मरने की अफवाह फैला दी थी। तब भी प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे, लेकिन काेई कार्रवाई नहीं हुई।

शुक्रवार को ब्लास्टिंग से मलबा गिरने की सूचना शनिवार को प्रधानाध्यापिका कविता भट्ट ने एसएमसी सदस्य बद्रीलाल जोगी, सरपंच राजेन्द्र सिंह शक्तावत, उप सरपंच गोपाल मेनारिया, गोपाल मूंदड़ा को दी। ये सभी स्कूल पहुंचे। दोपहर करीब डेढ़ बजे जब ये लोग स्कूल की क्षतिग्रस्त दीवारों का अवलोकन कर रहे थे तो 50 मीटर दूर ब्लास्ट हुआ। धूल के गुबार के साथ पत्थर उछलकर स्कूल परिसर में आ गिरे। इससे यहां मौजूद लोगों में गुस्सा बढ़ गया।

सरपंच ने एसडीएम पंकज शर्मा को फोन लगाया, लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया। इस पर उन्होंने पूर्व केबिनेट मंत्री श्रीचंद कृपलानी, पूर्व विधायक अशोक नवलखा को घटना की जानकारी दी। कृपलानी ने कलेक्टर चेतनराम देवड़ा, एसडीएम शर्मा को सूचना दी। इन अधिकारियों के निर्देश पर पटवारी राजेन्द्र मेघवाल, मिंडाना प्रिंसिपल गोपाल मूंदड़ा स्कूल पहुंचे और घटना की जानकारी लेकर रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी। इसके बाद पूर्व यूडीएच मंत्री कृपलानी, पूर्व विधायक नवलखा, उप प्रधान अशोक जाट, भाजपा नेता भूपेंद्र सिंह बड़ाैली, गोपाल धाकड़ भी स्कूल पहुंचे।

महिलाएं बोलीं- ब्लास्टिंग से घरों में दरारें, सुनने वाला कोई नहीं

इंद्रानगर की महिलाओं ने पूर्व मंत्री कृपलानी समेत अन्य जनप्रतिनिधियों के सामने रोष प्रकट करते हुए बताया कि अवैध ब्लास्टिंग से उनके मकानों सहित स्कूल की दीवारों में दरारें आ गई हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है।

प्रार्थना यहीं होती है, गनीमत रही कि शाम को गिरा मलबा

प्रधानाद्यापिका कविता भट्ट ने बताया कि जिस जगह मलबा गिरा। सुबह के समय प्रार्थना वहीं होती है। बच्चे भी यहीं बैठकर पढ़ाई करते हैं। ये मलबा शनिवार सुबह गिरता तो बड़ा हादसा हो सकता था। इसके अलावा शुक्रवार शाम को यहां खेल रहे बच्चों का नसीब अच्छा था कि वे बरामदे में नहीं थे। अब तो ब्लास्टिंग से कमरों में दरारें आ गई हैं। डर के मारे बच्चे स्कूल आने से भी कतराने लगे हैं।

लंबे समय से हो रही लगातार ब्लास्टिंग, लोग दहशत में


3 बच्चे मरने की अफवाह पर पहुंचा था प्रशासन

इसी स्कूल में तीन साल पहले एक शिक्षक ने अचानक अफवाह फैला दी कि ब्लास्टिंग से तीन बच्चों की मौत हो गई है। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी समेत जनप्रतिनिधि भी पहुंच गए थे। मौके पर पता चला कि बार-बार ब्लास्टिंग के कारण होने वाले कंपन से परेशान अध्यापक ने ध्यानाकर्षण के लिए अफवाह फैला दी थी। बाद में इस अध्यापक पर कार्रवाई भी हुई थी।

Binota News - rajasthan news debris on the roof of the school collapsed due to illegal blasting scared children did not come to school the next day
X
Binota News - rajasthan news debris on the roof of the school collapsed due to illegal blasting scared children did not come to school the next day
Binota News - rajasthan news debris on the roof of the school collapsed due to illegal blasting scared children did not come to school the next day
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना