डोडा-चूरा नष्टीकरण को रोकने के लिए एसडीएम कार्यालय के बाहर किया प्रदर्शन

Chittorgarh News - क्षेत्र के अफीम काश्तकारों ने डोडा चूरा नष्टीकरण को रोकने सहित कई मांगों को लेकर एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना...

Dec 04, 2019, 10:25 AM IST
क्षेत्र के अफीम काश्तकारों ने डोडा चूरा नष्टीकरण को रोकने सहित कई मांगों को लेकर एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। किसान सुबह 11 बजे बाद एडीएम कार्यालय के बाद जमा होने लगे एवं दोपहर तक लगभग 300 किसान धरना देकर बैठ गए। धरने को पूर्व सरपंच निम्बाहेड़ा शंभूलाल जाट, सरपंच तुर्किया बद्रीलाल जाट, पूर्व सरपंच प्रवीण भट्ट, श्यामलाल भट्ट, जगदीश, कमलेश अनोपपुरा, रतननाथ योगी, रतनलाल शर्मा आदि ने संबोधित किया। इसके बाद सभी नारेबाजी करते हुए एसडीएम कार्यालय परिसर में पहुंचे और मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। यहां से किसान जुलूस के रूप में आबकारी विभाग व सभी डीएसपी कार्यालय पर भी ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया गया कि 4 दिसंबर से शुरू होने वाली डोडा चूरा नष्टीकरण की प्रक्रिया को तुरंत प्रभाव से रोका जाए। क्योकि डोडा चूरा एक वर्ष से अधिक पुराना हो चूका है। इस वर्ष अतिवृष्टि एवं चूहों के प्रकोप से घरों में रखा सड़ चुका है। वर्तमान में सभी काश्तकार फसलों की सिंचाई में व्यस्त हैं। इस कारण नष्टीकरण की प्रक्रिया में भाग लेना असंभव है। इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाए। साथ ही मांग की गई कि डोडा चूरा को 1200 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से मुआवजा देकर काश्तकार के खेत में ही इसे जलाया जाए। इस वर्ष डोडा चूरा सड़ जाने के कारण नष्टीकरण की मात्रा 6 किलोग्राम प्रति आरी को घटा कर 2 किलोग्राम प्रति आरी करवाने की मांग की गई। भ्रस्टाचार रोकने के लिए अफीम मुखिया व काश्तकारों द्वारा डोडा चूरा नष्टीकरण की प्रक्रिया करवाने का आग्रह किया गया। ज्ञापन देने के दौरान बालूराम चित्तौड़िया, गोवर्धन जाट सांवलिया खेड़ा, सोहन बाबरिया खेड़ा सहित कई गांवों के अफीम मुखिया व काश्तकार आदि उपस्थित थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना