पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Vana News Rajasthan News How To Stay Happy After The Accident It Depends On You

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हादसे के बाद खुश कैसे रहें, यह आप पर निर्भर

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बुलढाणा जिले के लोणार गांव में एक साधारण संयुक्त किसान परिवार में मेरा जन्म हुआ। पिता रमजान चौधरी अपने भाइयों के साथ भैंसें पालकर दूध बेचने का परंपरागत व्यवसाय करते थे। इसी के साथ थोड़ी सी खेती की जमीन थी। हमारे घर में जरूरतें कभी पूरी नहीं हो पाती थीं। 18 वर्ष का होने तक मैं गांव के सरकारी स्कूल में ही पढ़ा। पिता चाहते थे मैं आईएएस अफसर बनूं। चूंकि कृषक परिवार से हूं, इसलिए कृषि विज्ञान में डिग्री हासिल की। मुझे बचपन से ही डांस का शौक रहा है, फिल्मी गीतों पर मैं खूब थिरकता था। इसके अलावा एडवेंचर एक्टिविटी, बाइक राइडिंग, रनिंग, बाइक स्टंट, रैपलिंग, कोरियोग्राफी में मुझे मजा आता था। कॉलेज में था तो अपने खर्च के लिए मैं औरंगाबाद में डांस क्लास चलाता था। एग्रीकल्चर के तीसरे वर्ष की पढ़ाई के बीच रमजान के लिए मैं बाइक पर घर लौट रहा था। आंखों में भविष्य के सपने तैर रहे थे, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। 3 जून 2015 का वह भयानक हादसा, उसने मेरी जिंदगी बदल दी।

मैं गांव पहुंचने ही वाला था कि सामने से तेज रफ्तार आ रहे एक बाइक सवार ने गड्‌ढे में अपना संतुलन खो दिया। वह सीधा मुझसे आ भिड़ा। उसकी बाइक के इंजन और गार्ड में मेरा दायां पैर फंस गया। जांघ वाला हिस्सा काफी कट चुका था। गांव में और औरंगाबाद में मेजर सर्जरी बोलकर किसी ने इलाज नहीं किया। 32 घंटे बाद मुझे पुणे में उपचार मिला, लेकिन तब तक इंफेक्शन फैल चुका था। डॉक्टर बोले पैर काटना पड़ेगा। इस हादसे में मेरे स्वर्णिम भविष्य के सपने टूट चुके थे। चार महीने बिस्तर पर पड़े-पड़े मैं नकारात्मक सोच से घिरा रहा। लगता था जीवन थम गया है, मेरे लिए सब कुछ खत्म हो गया है। अखबार-किताबें पढ़ते हुए कहीं से विचार आया कि एक पैर वाला व्यक्ति क्या-क्या कर सकता है? तब मुझे व्हील चेयर बास्केटबॉल की जानकारी मिली। पता चला इस खेल का प्रशिक्षण हैदराबाद में दिया जाता है। खर्च बहुत था। लेकिन दोस्तों ने यह खर्च उठाया। इस बीच मैं चौथा सेमिस्टर खत्म कर एग्रीकल्चर की डिग्री हासिल कर चुका था। सेहत ठीक होने के बाद हैदराबाद पहुंचा तो पैसे बहुत कम थे, कोच नहीं था, प्रशिक्षण नहीं मिला पर हिम्मत नहीं हारी। रोजाना 10 घंटे अकेले व्हीलचेयर पर गेंद के साथ अभ्यास करने लगा। मेरी मेहनत से प्रभावित होकर एक कोच ने मुझे सिखाना शुरू किया। इसके बाद दिल्ली में दो महीने कैंप किया, वहां 2016 में महाराष्ट्र की ओर से स्टेट लेवल की स्पर्धा में जीवन का पहला गोल्ड मेडल जीता तो मुझे स्टेट टीम का कैप्टन बना दिया गया। इसके बाद कई सारे राज्यस्तरीय मेडल जीते। 2017 में महाराष्ट्र पैरालंपिक में तीन बार कांस्य पदक जीते। 2018 में महाराष्ट्र की ओर से नेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड जीता। पिछले नवंबर में लेबनान में अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भारत को कांस्य पदक दिलाया। अभी आठ दिन पहले 29 जून 2019 को छठी नेशनल व्हीलचेयर बास्केटबॉल चैंपियनशिप में महाराष्ट्र को फिर गोल्ड मेडल दिलाया है। मैंने स्विमिंग में भी स्टेट लेवल पर एक गोल्ड व तीन ब्रांज मेडल जीते हैं। खिलाड़ी बना रहकर मैं परिवार का उदरपोषण नहीं कर सकता। इसलिए नृत्य की क्लासेस भी चलाता हूं । मुझे कलर्स चैनल पर डांस के दीवाने प्रोग्राम में भाग लेने का मौका मिला है। माधुरी दीक्षित के साथ मुझे बहुत सीखने को मिल रहा है। इस कार्यक्रम में एक पैर पर डांस करने वाला मैं अकेला प्रतियोगी हूं।

एक वाकया बताना चाहूंगा कि 2016 में पुणे में मिनी मैराथन हुई थी। दोस्तों के उकसाने पर मैंने इसमें हिस्सा लिया। बैसाखियों के सहारे मैं 10 किमी दौड़कर फर्स्ट आया। इसके लिए अन्य प्रतियोगी 3 से 5 महीने से प्रैक्टिस कर रहे थे, जबकि मैंने एक दिन भी प्रैक्टिस नहीं की थी। अपंग होने पर आदमी कितना मजबूर हो जाता है, इसका अनुभव मैंने किया है। आने वाले ओलिंपिक में मुझे भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया गया है। दुर्घटना बाद मेरे परिवार और सहृदय लोगों ने मुझमें ऊर्जा का संचार कर इस मुकाम पर पहुंचाया है। मेरा सोचना है कि मनुष्य जन्म एक बार ही मिलता है, जीवन को हर अनुभव के साथ जी लेना चाहिए। दुर्घटना आपका जीवन बदल देती है, लेकिन यह आप पर निर्भर है कि आप उमंग के साथ जीएं या दुख-निराशा में डूबे रहें। मुझे नकली पैर लगवाना है, उसकी कास्ट करीब 7 लाख रुपए है। मैं स्पांसर तलाश रहा हूं जो मुझे पैर खरीदने में मदद कर सके।

(जैसा जावेद चौधरी ने जयश्री बोकिल को बताया)

जावेद चौधरी, महाराष्ट्र के पैरालंपिक चैंपियन

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें