अब गवाहों-एसएचओ के बयानों की रिकॉर्डिंग जरूरी

Chittorgarh News - चित्तौड़गढ़ | राजस्थान पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक भगवानलाल सोनी ने एक परिपत्र जारी कर धारा 161 में मौखिक...

May 18, 2019, 07:41 AM IST
चित्तौड़गढ़ | राजस्थान पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक भगवानलाल सोनी ने एक परिपत्र जारी कर धारा 161 में मौखिक साक्ष्यों की वीडियो रिकॉर्डिंग के संबंध में आदेश जारी किए हैं। इसमें उन्होंने बताया कि जिन अधिनियमों में कानून द्वारा पीड़ित साक्ष्य के कथनों की वीडियो रिकार्डिंग करना अनिवार्य किया गया है, उसकी आवश्यक रुप से पालना की जाए।

गंभीर अपराध जैसे हत्या, हत्या का प्रयास, गंभीर मारपीट, दुष्कर्म, महिलाओं से संबंधित अपराध, राज्यकर्मी से मारपीट, सरकारी संपत्ति को नुकसान के प्रकरणों में पीड़ित व मुख्य चश्मदीद गवाहों के कथनों की वीडियो रिकॉर्डिंग अनिवार्य की जाए। जांच अधिकारी बदला जाए तो नए अधिकारी समस्त गवाहों के बयानों की वीडियो रिकॉर्डिंग अवश्य कराएं। यदि पहले वीडियो रिकॉर्डिंग की गई है तो भी यह दाेबारा की जाए। यदि पहले के कथनों की वीडियो रिकॉर्डिंग में समानता अथवा भिन्नता हो तो पत्रावली में अंकित करें। वीडियो रिकॉर्डिंग को मोबाइल, फोन अथवा कैमरा जिससे भी की गई हो उसे तत्काल थाने के कंप्यूटर में डाउनलोड कर सेव किया जाए और उसकी दो कॉपी सीडी अथवा डीवीडी बनाकर एक प्रति मूल पत्रावली में रखी जाए और एक कॉपी वृत कार्यालय में भेजी जाए।

एसआर प्रकरणों में एक प्रति एसपी को भी भेजी जाए। इन वीडियो रिकॉर्डिंग की सीडी-डीवीडी को सुरक्षित रखा जाए। भविष्य में सीसीटीएनएस में अनुसंधान मॉड्यूल में इन रिकॉर्डिंग को अपलोड करने की सुविधा उपलब्ध कराने के प्रयास जारी हैं। अादेश में बयानों की वीडियो रिकाॅर्डिंग की फाइल के फाइल नाम एवं स्टोरेज के संबंध में भी दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इस संबंध में प्रत्येक अनुसंधान अधिकारी व पुलिसकर्मियों को आवश्यक प्रशिक्षण भी दिए जाने की बात कही गई है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना