--Advertisement--

Rs.28 लाख ही खर्च कर सकेगा प्रत्याशी अधिक खर्च या दुरुपयोग पर कार्रवाई

भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़ चुनाव आयोग उम्मीदवारों के निर्वाचन व्यय और धन बल का दुरुपयोग पर सतत निगरानी...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 09:40 AM IST
Vana - rs 28 lakh will be able to spend more on expenditure or misuse of action
भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़

चुनाव आयोग उम्मीदवारों के निर्वाचन व्यय और धन बल का दुरुपयोग पर सतत निगरानी रखेगा। मतदाताओं को प्रभावित करने में धन बल का दुरुपयोग करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। इस बार विस प्रत्याशी के चुनाव व्यय की अधिकतम सीमा 28 लाख रुपए है।

चुनाव आयोग के निर्देश पर शनिवार को कलेक्ट्रेट के समिति कक्ष में इस संबंध में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को दिशा निर्देश दिए गए। उप जिला निर्वाचन अधिकारी दीपेंद्रसिंह राठौड़ ने बैठक में चुनाव व्यय के संबंध में आवश्यक नियम, अधिकतम खर्च सीमा, प्रावधानों और कार्रवाई के बारे में जानकारी दी। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को उम्मीदवारों द्वारा चुनाव व्यय के लेखे के रखरखाव की प्रक्रिया भी बताई। बैठक में संबंधित प्रभारी अधिकारी सीडी चारण, सहायक प्रभारी बीआर मीणा एवं प्रकाश बोहरा भी मौजूद थे।

28 लाख से ज्यादा खर्च, पैसा या शराब बांटी तो अयोग्य होगा उम्मीदवार : प्रत्याशी के अधिकतम चुनावी व्यय की सीमा 28 लाख रुपए है। इससे अधिक खर्च प्रमाणित होने पर जीतने के बाद भी निर्वाचन अवैध घोषित किया जा सकता है। धन-बल का दुरुपयोग कर मतदाता को प्रभावित करने, शराब आदि का वितरण, समय पर या निर्धारित तरीके से व्यय लेखा जमा नहीं करने, गलत व्यय लेखा देने पर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 10-ए के तहत उम्मीदवारी से अयोग्य घोषित किया जा सकता है। अधिनियम की धारा 170 बी में कारावास का प्रावधान है। राशि या शराब आदि लेने वाले के विरुद्ध भी कार्रवाई हो सकती है।

नामांकन कल से, भाजपा-कांग्रेस के दावेदारों और नेताओं का दिल्ली में पड़ाव

विधानसभा चुनाव नामांकन प्रक्रिया शुरू होने में अब एक दिन शेष है। दोनों प्रमुख दलों ने शनिवार रात तक प्रत्याशी घोषित नहीं किए। दिल्ली में आखिरी दौर के मंथन पर सभी की नजरें गड़ी हैं। कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक के चलते जिले के पांचों पूर्व विधायक, करीब एक दर्जन से अधिक अन्य दावेदार व नेता दिल्ली में पड़ाव डाले हुए हैं। शनिवार को दिल्ली में ही भाजपा प्रत्याशी चयन कोर कमेटी की बैठक के चलते भी अटकलें तेज रहीं। इधर, नामांकन प्रक्रिया 12 नवंबर को शुरू हो जाएगी।

दर्ज अपराध की जानकारी सार्वजनिक करनी होगी

इस बार प्रत्याशियों को नामांकन के लिए चुनाव आयोग के सख्त नियमों से गुजरना होगा। प्रत्याशियों के खिलाफ यदि कोई आपराधिक मामला दर्ज है तो उसकी जानकारी न्यूज पेपर में सार्वजनिक करनी होगी। नामांकन फॉर्म भी अधिकतम चार जमा करा सकेंगे। प्रत्याशी को पैन कार्ड, इनकम टैक्स, पूरे परिवार की चल-अचल संपत्ति की पूरी जानकारी भी देनी होगी। फॉर्म में प्रत्याशी को अपनी शैक्षणिक योग्यता भी बतानी होगी।

निर्वाचन खर्च के लिए अलग बैंक खाता

नामांकन के कम से कम एक सप्ताह पूर्व प्रत्याशी को किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक या डाकघर में अलग से खाता खोलना होगा। बीस हजार रुपए से अधिक का भुगतान अकाउंट पेयी चेक द्वारा ही किया जाएं। परिणाम के 30 दिन के अंदर निर्वाचन कार्यालय को व्यय का विवरण, बैंक खाते के विवरण के साथ जमा करना होगा।

केबल ऑपरेटर्स बगैर अनुमति विज्ञापन जारी न करें

केबल ऑपरेटर्स को निर्देश दिए गए कि वे केबल टेलीविजन अधिनियम 1995 का पालन करें। बिना जिला मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति की अनुमति के कोई भी चुनावी विज्ञापन जारी नहीं करें। जो विज्ञापन प्रसारित करवाने का प्रस्ताव रखता है, उसे 7 दिन पहले अनुमति लेना अनिवार्य है।

सूची आने से पहले कृपलानी ने कल नामांकन भरने की घोषणा की... जिले में निंबाहेड़ा सीट के प्रत्याशियों के नाम पहली सूची में आने की संभावना है। यहां भाजपा से मौजूदा विधायक व यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने सूची का इंतजार किए बिना सोमवार को नामांकन पत्र दाखिल करने की घोषणा कर दी है। कांग्रेस से उदयलाल आंजना ने भी तैयारी कर ली है। हालांकि आंजना जिले की अन्य सीटों पर चर्चा के लिए शुक्रवार रात दिल्ली रवाना हुए।

X
Vana - rs 28 lakh will be able to spend more on expenditure or misuse of action
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..