विज्ञापन

यूरिया की किल्लत, 6 घंटे लाइन में लगने पर मिल रहे 3 कट्टे, किसानों में आक्रोश / यूरिया की किल्लत, 6 घंटे लाइन में लगने पर मिल रहे 3 कट्टे, किसानों में आक्रोश

Bhaskar News Network

Dec 09, 2018, 04:56 AM IST

Chittorgarh News - करवर(बूंदी). करवर कस्बे में सहायक कृषि अधिकारी कार्यालय के बाहर यूरिया के टोकन के लिए जमा लोग। बूंदी | जिले में...

Sadas News - urea39s shortage 3 bits found in the 6 hour line resentment in farmers
  • comment
करवर(बूंदी). करवर कस्बे में सहायक कृषि अधिकारी कार्यालय के बाहर यूरिया के टोकन के लिए जमा लोग।

बूंदी | जिले में पिछले 15-20 दिनों से चली आ रही यूरिया की किल्लत शनिवार को भी बनी रही। पहले उम्मीद जताई जा रही थी कि मांग के अनुरूप यूरिया मंगा लिया गया है और पुलिसकर्मियों के चुनाव की ड्यूटी में लगेे होने से मतदान के बाद सप्लाई शुरू हो जाएगी। इसके साथ ही किल्लत दूर होने लगेगी, लेकिन शनिवार को भी हालात वही रहे, जिससे लोगों में आक्रोश है। स्थानीय लंकागेट सहकारी समिति के बिक्री केंद्र पर यूरिया आने पर लेने के लिए किसानों व उनके परिवार की महिलाओं की भीड़ उमड़ पड़ी। सुबह 7 बजे ही सहकारी समिति केंद्र पर महिला व पुरुष खाद लेने पहुंच गए, जबकि ब्रिक्री केंद्र खुलने का समय 10 बजे का है।

भीड़ को कतारों में खड़ा करवाकर प्रति किसान आधार कार्ड देखकर तीन-तीन कट्टे यूरिया का 5 से 6 घंटे इंतजार के बाद वितरित किया गया। किसानों का कहना था कि गेहूं की फसल में उराई का समय चल रहा है और जिले में यूरिया खाद की किल्लत है। रोज सुबह से खाद के लिए मारे-मारे फिरते हैं। यहां भी कई घंटों लाइनों में लगने के बाद भी जरूरत के हिसाब से यूरिया नहीं मिल रहा है। ऐसे में किसानों को ज्यादा पैसे देकर खाद खरीदनी पड़ रही है। कई किसान अपने परिवार के तीन-चार सदस्यों को लाइन में लगवाकर खाद की पूर्ति कर रहे हैं।

खाद के लिए सुबह से ही आना शुरू

यूरिया लेने के लिए आसपास के गांवों से बड़ी संख्या में किसानों का सुबह से ही आना शुरू हो जाता है। शनिवार सुबह 7 बजे सहकारी समिति केंद्र पर भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला। शहर में बड़ी संख्या में किसान लाइन लगाकर बैठ गए, जबकि केंद्र खुलने का समय 10 बजे का था। इसके अलावा एक विशेष बात यह देखने को मिली कि कई किसान परिवार के खाद मिलने के बाद भी खाद लेने के लिए कतारों में खड़े हो जाते थे।

परेशानी-पर्याप्त खाद नहीं मिल रही

गणपतपुरा के किसान मुकेश मीणा, महावीर मीणा, ऊंकारपुरा के मुकेश सुमन ने बताया कि गेहूं उराई का पीक टाइम चल रहा है। उसके बावजूद खाद की किल्लत लगाकर बनी हुई। सुबह जल्द ही खाद केंद्र पर आ गए, लेकिन खाद 6 घंटे बाद मिला।

X
Sadas News - urea39s shortage 3 bits found in the 6 hour line resentment in farmers
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन