Hindi News »Rajasthan »Chomu» टोल हटाने के विरोध में राष्ट्रीय किसान नेता अमराराम चौधरी ने भरी हुंकार

टोल हटाने के विरोध में राष्ट्रीय किसान नेता अमराराम चौधरी ने भरी हुंकार

चौमू चंदवाजी स्टेट हाइवे टोल प्लाजा पर ग्रामीणों ने टोल प्लाजा को अन्यत्र स्थापित करने को लेकर 22वें दिन भी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:40 AM IST

टोल हटाने के विरोध में राष्ट्रीय किसान नेता अमराराम चौधरी ने भरी हुंकार
चौमू चंदवाजी स्टेट हाइवे टोल प्लाजा पर ग्रामीणों ने टोल प्लाजा को अन्यत्र स्थापित करने को लेकर 22वें दिन भी अनिश्चितकालीन धरना जारी रहा। अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमराराम चौधरी ने टोल हटाने के विरोध में हुंकार भरते हुए कहा कि सरकार ने सड़क निर्माण कार्य को पीपीपी मोड पर देखकर भ्रष्टाचार को शिष्टाचार में परिवर्तन करने का काम कर रही है। 10 किमी की दूरी पर टोल लगने से किसानों को खेत में सब्जी लाने ले जाने के लिए, सब्जी व दूध को बाजार में ले जाने के लिए, एक खेत से दूसरे खेत पर जाने के लिए टोल टैक्स देना पड़ता है तथा पेट्रोल व डीजल भरवाने के लिए टोल टैक्स देना पड़ता है। सरकार 15 किमी सड़क निर्माण कार्य के लिए 40 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए है। जिसमें एक किमी नगरपालिका चौमू व एक किमी मोरीजा ग्राम पंचायत द्वारा सीसी रोड का निर्माण पूर्व में हो चुका है। वे स्वयं इस रोड से कई बार निकले है, इसमें लीपापोती की गई है। जबकि सड़क को पूरी उखाड़कर दूसरी डालने की बात थी। इसलिए इसमें अनुमानित लागत 20 करोड़ बनती है। इसकी उच्च स्तरीय जांच करवाई जाएगी और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इसी प्रकार का मामला हनुमानगढ़ में भी 3 वर्ष पहले हुआ था। जिसमें सड़क निर्माण कार्य में लीपापोती की गई तथा टोल वसूलने लग गए। जिसकी हमने किसानों के हक उच्च स्तरीय जांच करवाई। जिसमें कई संबंधित अधिकारी सस्पेंड किए गए। यहां पर भी उसी प्रकार की जांच करवाई जाएगी। किसानों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। पंचायत समिति प्रधान लालचंद शेरावत, पंचायत समिति उपप्रधान कैलाश चंद्र शर्मा, लालाराम बलेसरा, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष नगेंद्र सिंह शेखावत, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष एमडीएस अजमेर संपत सिंह चौधरी, पूर्व नगरपालिका चेयरमैन गोविंद नारायण सैनी, श्यामलाल धायल, भगवान सहाय बधाला, जगदीश बंदावला व अन्य लोगों ने भी संबोधित किया।

मुस्तैदी से तैनात पुलिस जाब्ता

भास्कर न्यूज | चीथवाड़ी

चौमू चंदवाजी स्टेट हाइवे टोल प्लाजा पर ग्रामीणों ने टोल प्लाजा को अन्यत्र स्थापित करने को लेकर 22वें दिन भी अनिश्चितकालीन धरना जारी रहा। अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमराराम चौधरी ने टोल हटाने के विरोध में हुंकार भरते हुए कहा कि सरकार ने सड़क निर्माण कार्य को पीपीपी मोड पर देखकर भ्रष्टाचार को शिष्टाचार में परिवर्तन करने का काम कर रही है। 10 किमी की दूरी पर टोल लगने से किसानों को खेत में सब्जी लाने ले जाने के लिए, सब्जी व दूध को बाजार में ले जाने के लिए, एक खेत से दूसरे खेत पर जाने के लिए टोल टैक्स देना पड़ता है तथा पेट्रोल व डीजल भरवाने के लिए टोल टैक्स देना पड़ता है। सरकार 15 किमी सड़क निर्माण कार्य के लिए 40 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए है। जिसमें एक किमी नगरपालिका चौमू व एक किमी मोरीजा ग्राम पंचायत द्वारा सीसी रोड का निर्माण पूर्व में हो चुका है। वे स्वयं इस रोड से कई बार निकले है, इसमें लीपापोती की गई है। जबकि सड़क को पूरी उखाड़कर दूसरी डालने की बात थी। इसलिए इसमें अनुमानित लागत 20 करोड़ बनती है। इसकी उच्च स्तरीय जांच करवाई जाएगी और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इसी प्रकार का मामला हनुमानगढ़ में भी 3 वर्ष पहले हुआ था। जिसमें सड़क निर्माण कार्य में लीपापोती की गई तथा टोल वसूलने लग गए। जिसकी हमने किसानों के हक उच्च स्तरीय जांच करवाई। जिसमें कई संबंधित अधिकारी सस्पेंड किए गए। यहां पर भी उसी प्रकार की जांच करवाई जाएगी। किसानों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। पंचायत समिति प्रधान लालचंद शेरावत, पंचायत समिति उपप्रधान कैलाश चंद्र शर्मा, लालाराम बलेसरा, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष नगेंद्र सिंह शेखावत, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष एमडीएस अजमेर संपत सिंह चौधरी, पूर्व नगरपालिका चेयरमैन गोविंद नारायण सैनी, श्यामलाल धायल, भगवान सहाय बधाला, जगदीश बंदावला व अन्य लोगों ने भी संबोधित किया।

चौमू चंदवाजी टोल के पास का क्षेत्र छावनी में तब्दील

चौमू चंदवाजी टोल के विरोध में 22 दिन से चल रहे धरने को राष्ट्रीय किसान संघ अध्यक्ष चौधरी अमराराम के नेतृत्व में टोल उखाड़ फेंकने के लिए आगे बढ़ रहे थे। जिसके कारण पुलिस प्रशासन ने बीच में ही रोक लिया तथा मौके पर तहसीलदार को बुलाया है। प्रदर्शन कर रहे लोगों के सवालों के जवाब में कहा है कि तहसीलदार कि ओर से किसी प्रकार कोई एनओसी टोल प्रशासन को नहीं दी गई। इस पर भीड़ उग्र हो गई। उग्र भीड़ ने नारेबाजी कर आक्रोश जताया। गोविंदगढ़ डीएसपी दीपक शर्मा ने शांति करने की अपील की व उग्र भीड़ को काबू में किया। इस दौरान सामोद थाना इंचार्ज भूपेन्द्र सिंह, जाटावाली चौकी इंचार्ज मंजू चौधरी सहित दर्जनभर से अधिक पुलिस जाप्ता तैनात रहा। एसडीएम प्रियव्रत सिंह चारण मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। सामोद थाना इंचार्ज भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों को हमारी ओर से कोई आपत्ति नहीं है। वह करें, यदि कानून को हाथ में लेने की या अन्य किसी प्रकार की कोई गतिविधि करते है, तो फिर हम सख्ताई से कार्रवाई करेंगे।

चीथवाड़ी. ग्रामीणों की वार्ता सुनते एसडीएम प्रियव्रत सिंह चारण।

चौमू चंदवाजी टोल के विरोध में 22 दिन से चल रहे धरने को राष्ट्रीय किसान संघ अध्यक्ष चौधरी अमराराम के नेतृत्व में टोल उखाड़ फेंकने के लिए आगे बढ़ रहे थे। जिसके कारण पुलिस प्रशासन ने बीच में ही रोक लिया तथा मौके पर तहसीलदार को बुलाया है। प्रदर्शन कर रहे लोगों के सवालों के जवाब में कहा है कि तहसीलदार कि ओर से किसी प्रकार कोई एनओसी टोल प्रशासन को नहीं दी गई। इस पर भीड़ उग्र हो गई। उग्र भीड़ ने नारेबाजी कर आक्रोश जताया। गोविंदगढ़ डीएसपी दीपक शर्मा ने शांति करने की अपील की व उग्र भीड़ को काबू में किया। इस दौरान सामोद थाना इंचार्ज भूपेन्द्र सिंह, जाटावाली चौकी इंचार्ज मंजू चौधरी सहित दर्जनभर से अधिक पुलिस जाप्ता तैनात रहा। एसडीएम प्रियव्रत सिंह चारण मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। सामोद थाना इंचार्ज भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों को हमारी ओर से कोई आपत्ति नहीं है। वह करें, यदि कानून को हाथ में लेने की या अन्य किसी प्रकार की कोई गतिविधि करते है, तो फिर हम सख्ताई से कार्रवाई करेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Chomu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×