--Advertisement--

चीथवाड़ी : पंचायतों पर लटके ताले, अटके काम

कस्बे सहित पूर्वी ब्लॉक में ग्राम पंचायत सचिव के सामूहिक अवकाश पर चले जाने से ग्राम पंचायत कार्यालय पर ताले लटके...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 03:05 AM IST
कस्बे सहित पूर्वी ब्लॉक में ग्राम पंचायत सचिव के सामूहिक अवकाश पर चले जाने से ग्राम पंचायत कार्यालय पर ताले लटके नजर आए। हालांकि पंचायत खुली रही, लेकिन किसी भी प्रकार का कार्य नहीं होने से ग्रामीणों को निराश होकर लौटना पड़ रहा है। ग्राम चीथवाड़ी, विजयसिंहपुरा, कुशलपुरा, फतेहपुरा, मोरीजा सहित पूर्वी चौमू ब्लॉक के सभी पंचायतों में कार्यरत ग्राम सचिव वेतन विंसगतियाें को लेकर 11 सूत्रीय मांग पत्र ग्राम सचिव प्रदेशाध्यक्ष महावीर प्रसाद शर्मा नेतृत्व में संपूर्ण राजस्थान में पंचायत समिति मुख्यालयों पर हड़ताल पर चलने से ग्रामीणों को कई समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। पंचायत भवन में कार्यरत ग्राम पंचायत सचिव अपनी मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर चले जाने के कारण पंचायतों में किसी भी तरह का कार्य नहीं हो पाया है। यहां आने वाले लोगों को दिन भर सचिव के इंतजार में खाली बैठकर समय गुजारना पड़ता है।

पंचायतों में प्रभावित हो रहे काम : पंचायत सचिव सामूहिक अवकाश पर जाने के कारण पंचायतों में कार्य प्रभावित हो रहे हैं। सचिव के अभाव में लोगों को पंचायतों के चक्कर काटने को विवश होना पड़ रहा है। ग्राम सचिवों को हड़ताल पर चले जाने के कारण ग्रामीणों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

दूदू|पंचायतीराज सेवा परिषद के घटक संघटनों एवं शासन के मध्य हुए समझौतों को लागू नहीं करने से नाराज सेवा परिषद के कार्मिकों ने बुधवार से असहयोग आंदोलन शुरू कर अवकाश पर रहकर धरना दिया ।



अवकाश पर चले जाने के कारण पंचायतों में नहीं हो पाया कोई भी काम

दूदू. धरने पर बैठे कार्मिक।

चीथवाड़ी. पंचायतों के लटके ताले।

सांभरलेक में ग्राम विकास अधिकारियों ने लिया सामूहिक अवकाश, दिया धरना

सांभरलेक ग्रामीण|सांभरलेक पंचायत समिति के अधीन आने वाले राजस्थान पंचायत राज सेवा परिषद के ग्राम विकास अधिकारियों ने पंचायत समिति सांभरलेक में बुधवार को सामूहिक अवकाश लेकर धरना दिया। परिषद अध्यक्ष रामप्रसाद गुप्ता और मंत्री कमल किशोर शर्मा के नेतृत्व में एसडीएम वीरेंद्र सिंह यादव को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा। मंत्री कमल किशोर शर्मा ने बताया कि सरकार द्वारा 9 बार लिखित समझौता करने के बावजूद उसे लागू नहीं करने के कारण यह आंदोलन अनिश्चितकाल के लिए किया जा रहा है। पंचायत प्रसार अधिकारी संघ के अध्यक्ष राजेश कुमार शर्मा के साथ अनेक ग्राम विकास अधिकारी व पंचायत प्रसार अधिकारी मौजूद थे।