Home | Rajasthan | Chomu | छात्रों के साथ टीसी लेने के लिए पहुंचे अभिभावक, ग्रामीणों व अभिभावकों ने दी अंतिम चेतावनी

छात्रों के साथ टीसी लेने के लिए पहुंचे अभिभावक, ग्रामीणों व अभिभावकों ने दी अंतिम चेतावनी

ग्राम पंचायत सामोद के श्रीरामकुंवार गणेश नारायण चौधरी राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में पुराने...

Bhaskar News Network| Last Modified - Aug 10, 2018, 03:05 AM IST

छात्रों के साथ टीसी लेने के लिए पहुंचे अभिभावक, ग्रामीणों व अभिभावकों ने दी अंतिम चेतावनी
छात्रों के साथ टीसी लेने के लिए पहुंचे अभिभावक, ग्रामीणों व अभिभावकों ने दी अंतिम चेतावनी
ग्राम पंचायत सामोद के श्रीरामकुंवार गणेश नारायण चौधरी राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में पुराने प्रधानाचार्य के वापस नियुक्ति आदेश को लेकर आने का मामला गुरुवार को भी गर्माया और बच्चों की पढ़ाई पूरी तरह से चौपट रही। जहां बच्चे अभिभावकों, ग्रामीणों के साथ गेट पर ताला लगाकर धरने पर बैठे रहे। वहीं दूसरी ओर शिक्षक घंटों तक पैरों पर खड़े रहकर इधर-उधर घूमते रहे।

तहसीलदार ने की समझाइश

बच्चे, अभिभावकों व ग्रामीणों ने बताया कि स्कूल में प्रधानाचार्य पुष्कर दयाल शर्मा को नहीं आने देंगे। प्रधानाचार्य के आने के विरोध में बच्चे भी मुखर थे। मामले की सूचना मिलने पर तहसीलदार राजेंद्रसिंह शेखावत सामोद पहुंचे और उन्होंने धरने पर बैठे अभिभावकों व ग्रामीणों से समझाइश की। इसके बाद ग्रामीणों के साथ समझौता हुआ कि एसडीएमसी सदस्यों की आपात बैठक बुलाकर निर्णय किया जाए।

बैठक में एसडीएमसी सदस्यों ने यह लिया निर्णय

बैठक में एसडीएमसी सदस्यों ने निर्णय किया कि 24 घंटे तक विद्यालय में न तो प्रधानाचार्य विद्यालय आए और न ही ग्रामीण धरना प्रदर्शन करे। बाद में तहसीलदार राजेंद्रसिंह शेखावत ने उक्त एसडीएमसी सदस्यों का निर्णय बताया और आश्वस्त किया कि स्कूल को चलने दे तथा उच्चाधिकारियों के आदेश आने तक शांति बनाए रखे।

समाधान का प्रयास करेंगे

चौमू एसडीएम मुकेश कुमार मूंड ने बताया कि स्कूल के तालाबंदी करना गलत है। मामले को लोगों को बैठकर सुलटारा करना चाहिए। लोगों की क्या मांग है, वे इसका मालूम करवाते है। जयपुर द्वितीय जिला शिक्षा अधिकारी महेशचंद्र गुप्ता ने बताया कि ग्रामीणों, विद्यार्थियों का स्कूल पर तालाबंदी करना गलत है। मामले की जानकारी उन्हें प्रधानाचार्य पुष्कर दयाल शर्मा से मिल चुकी है। उन्होंने तालाबंदी करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने के लिए कहा है। सरपंच दिनेश चतुर्वेदी ने बताया कि पिछले कई वर्षाें से पुराने प्रधानाचार्य के कारण स्कूल का नामांकन गिर रहा है। गांव के स्कूल की छवि खराब हो रही है। नए प्रधानाचार्य ने स्टाफ ने डोर-टू-डोर पहुंचकर 153 का नामांकन दर्ज किया है। ऐसे में शिक्षा विभाग मुकदमा दर्ज करवाता है, तो करवाएं। पुराना प्रधानाचार्य यहां नहीं लगने देंगे।

सामोद. ग्राम सामोद के स्कूल में स्थानांतरण को लेकर धरने पर बैठे बच्चे।

पुलिस वालों ने मुकदमा दर्ज करने के बजाय टरकाया

प्रधानाचार्य ने बताया कि शिक्षा निदेशक नथमल डिडेल के निर्देश पर 8 अगस्त को ज्वाईनिंग के आदेश लेकर आए है। लोग राजनीति में आने के लिए ऐसा कर रहे है। रही बात स्कूल में बस सुविधा की, तो वह बुगलीदेवी बावि की बस में बच्चे बैठकर आते है। प्रधानाचार्य श्रवण कुमार संत ने कोई बस की सुविधा नहीं लगाई है। मेरा परिणाम शत प्रतिशत रहा है। मामला दर्ज करवाने गया, तो पुलिस वालों ने शिक्षा विभाग का मामला बताकर पल्ला झाड़ लिया।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now