• Hindi News
  • Rajasthan
  • Churu
  • छात्र और व्याख्याता बगैर वाहन के आए कॉलेज अब महीने में दिन नो-व्हीकल डे घोषित की तैयारी
--Advertisement--

छात्र और व्याख्याता बगैर वाहन के आए कॉलेज अब महीने में दिन नो-व्हीकल डे घोषित की तैयारी

चूरू. नो-व्हीकल डे पर लोहिया कॉलेज में पैदल व साइकिल पर आते विद्यार्थी और व्याख्याता। भास्कर संवाददाता |चूरू ...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:15 AM IST
छात्र और व्याख्याता बगैर वाहन के आए कॉलेज अब महीने में दिन नो-व्हीकल डे घोषित की तैयारी
चूरू. नो-व्हीकल डे पर लोहिया कॉलेज में पैदल व साइकिल पर आते विद्यार्थी और व्याख्याता।

भास्कर संवाददाता |चूरू

राजकीय लोहिया कॉलेज में गुरुवार को एक भी वाहन का संचालन नहीं हुआ। सबने कॉलेज की इस पहल को सफल बनाने में सहयोग किया। वाहन लेकर आने वाले स्टूडेंट्स को भी वापस भेज दिया गया। कई छात्र व लेक्चरर्स तो साइकिल लेकर कॉलेज आए। कॉलेज में 7 हजार छात्र-छात्राओं व करीब 200 व्याख्याता एवं कर्मचारी है। एक दिन के वाहन मुक्त दिवस से 30 हजार रुपए के पेट्रोल-डीजल की बचत किए जाने का दावा किया गया। छात्रों ने इसे हर महीने में एक दिन लागू किए जाने को लेकर प्राचार्य को ज्ञापन भी किया, जिस पर प्राचार्य मधुरिमा भारद्वाज ने इसे लागू करने का आश्वासन दिया। इससे पहले गुरुवार को दैनिक भास्कर में कॉलेज की इस पहल का समाचार प्रकाशित होने के कारण करीब 80 फीसदी छात्र व स्टॉफ बगैर वाहन के आए। कुछ साइकिल पर आए, जिन्हें नहीं रोका गया। करीब 3 हजार छात्राएं पैदल कॉलेज में आई। वाहनों से आने वाले छात्रों को गेट के बाहर ही रोक दिया गया। कार्यवाहक प्राचार्य प्रो. कमलसिंह कोठारी का कहना है कि ये सांकेतिक पहल अच्छी थी, मगर इसे हर महीने लागू करने के बारे में अभी कोई निर्णय नहीं हुआ, पर विचार जरूर किया जाएगा।

रोजाना खड़े होते हैं 400 वाहन

कॉलेज परिसर में रोजाना करीब 400 वाहन खड़े होते है, मगर एक फरवरी को नो-व्हीकल डे घोषित किए जाने के बाद कोई भी वाहन लेकर नहीं आया। प्रभारी डॉ. जेबी खान का कहना है कि सभी ने मिलजुल-कर इस प्रयास को सफल बनाया है। उनका कहना है कि इस नवाचार को करने के पीछे प्रदूषण संरक्षण का संदेश देना है।

छात्र बोले-महीने में एक दिन तय कर लिया जाए : अभियान के पहले दिन की सफलता से उत्साहित छात्रों ने प्राचार्य से मिलकर मांग की कि महीने में एक दिन नो-व्हीकल डे तय कर लिया जाए, जिस पर प्राचार्य ने आश्वासन जरूर दिया। उल्लेखनीय है कि गुरुवार को छात्र ही नहीं, व्याख्याता व प्राचार्य बिना वाहन के कॉलेज आए।

X
छात्र और व्याख्याता बगैर वाहन के आए कॉलेज अब महीने में दिन नो-व्हीकल डे घोषित की तैयारी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..