Hindi News »Rajasthan »Churu» सरदारशहर के 4 गांवों के स्कूलों में दो साल में शिक्षा विभाग का कोई अधिकारी नहीं गया

सरदारशहर के 4 गांवों के स्कूलों में दो साल में शिक्षा विभाग का कोई अधिकारी नहीं गया

तहसील के अंतिम छोर के गांवों के स्कूलों के किस तरह पढ़ाई होती है। इसका खुलासा गुरुवार को सरदारशहर तहसील के अंतिम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 03:45 AM IST

तहसील के अंतिम छोर के गांवों के स्कूलों के किस तरह पढ़ाई होती है। इसका खुलासा गुरुवार को सरदारशहर तहसील के अंतिम छोर के प्राथमिक-उच्च प्राथमिक स्कूलों का निरीक्षण करने गए जिला शिक्षा अधिकारी प्रा. संपत्तराम बारूवाल को देखने को मिला। स्कूल में पहुंचने पर वे हैरान रह गए कि इस तहसील के गांव आसपालसर धुलखेरा, खेजड़ा उत्तरादा, शिमला व बोघेरा के सरकारी प्राथमिक-उच्च प्राथमिक स्कूलों में पिछले दो साल में प्रारंभिक शिक्षा विभाग को कोई भी जिलास्तरीय अधिकारी नहीं पहुंचा। हालांकि इन स्कूलों में शैक्षणिक स्तर ठीक-ठाक मिला, मगर एसआईक्यूई व रिकार्ड संधारण में कई कमियां मिली। चार स्कूलों के संस्थाप्रधान डी-वार्मिंग प्रशिक्षण जाने के कारण स्कूल में नहीं मिले। डीईओ ने स्कूल के शिक्षकों से कहा कि वे मुख्यालय पहुंचकर अधिकारियों को समय-समय पर अंतिम छोर के गांव के स्कूलों में जाने के लिए पाबंद करेंगे। सूत्रों ने बताया कि डीईओ ने गांव के स्कूलों में कक्षा में जाकर बच्चों से सवाल ही नहीं पूछे, बल्कि बोर्ड पर शिक्षक के पढ़ाए गए पाठ व सवालों के बारे में बच्चों से पूछताछ कर उनका मूल्यांकन किया।

बोघेरा के स्कूल में घुस आते पशु

बोघेरा के राजकीय स्कूल में बांउड्री वॉल होने से पढ़ाई के दौरान पशु स्कूल में घुस आते है। इस बारे में डीईओ प्रा. बारूवाल ने स्कूल के अध्यापक को शीघ्र बांउड्री वॉल बनवाने के लिए गांव के भामाशाह को प्रेरित करने के लिए कहा है। दूसरी ओर खेजड़ा उत्तरादा के स्कूल में चारों ओर गंदगी देखकर डीईओ नाराज हुए। उन्होंने सफाई पर जोर दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Churu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×