Hindi News »Rajasthan »Churu» अब रतनगढ़-सरदारशहर के सरकारी अस्पताल में भी नवजात को मिलेगा मां का दूध

अब रतनगढ़-सरदारशहर के सरकारी अस्पताल में भी नवजात को मिलेगा मां का दूध

जिले की रतनगढ़ और सरदारशहर तहसील की माताओं के लिए अच्छी खबर है। अब नवजात शिशुओं को मां का दूध यहीं मिल सकेगा। दोनों...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 02:50 AM IST

अब रतनगढ़-सरदारशहर के सरकारी अस्पताल में भी नवजात को मिलेगा मां का दूध
जिले की रतनगढ़ और सरदारशहर तहसील की माताओं के लिए अच्छी खबर है। अब नवजात शिशुओं को मां का दूध यहीं मिल सकेगा। दोनों जगह सरकारी अस्पताल में आंचल अमृत कक्ष तैयार होगा। चूरू के राजकीय डीबी अस्पताल में संचालित मदर मिल्क बैंक से यहां माताओं का दूध जाएगा। यहां एक हजार यूनिट का स्टोरेज किया जाएगा। अब तक चूरू से माताओं की ओर से किया गया दूध दान किया गया दूध अजमेर मदर मिल्क में भेजा जाता था। यह कक्ष बनने के बाद कोई भी बच्चा मां के दूध से वंचित नहीं रहेगा।

रतनगढ़-सरदारशहर में मां का दूध नहीं बनने सहित अन्य किसी परेशानी से जन्म लेने वाले बच्चे को सीधे तौर पर फायदा मिलेगा। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के 25 सरकारी अस्पतालों में ये केंद्र खोलने के लिए चयन किया है। रीको के आर्थिक सहयोग से इन पर दो करोड़ रुपए खर्च होंगे। रतनगढ़-सरदारशहर में 10-10 लाख रुपए खर्च कर शानदार कक्ष बनाया जाएगा। इनमें प्रशिक्षित स्टाफ और मशीनरी सहित अन्य उपकरण भी होंगे। दोनों अस्पतालों में इस आंचल अमृत कक्ष का निर्माण करवाया जा रहा है। छह महीने में दोनों जगह शुरू भी कर दिया जाएगा। गुरुवार को चिकित्सा विभाग के राज्य स्तरीय सलाहकार योग गुरु देवेंद्र अग्रवाल नेशनल हेल्थ मिशन के अधिकारियों के साथ रतनगढ़ व सरदारशहर के सरकारी अस्पताल पहुंचे। यहां आंचल अमृत कक्ष के निर्माण के लिए जगह का निर्धारण किया। रतनगढ़ में महिला अस्पताल के ए वार्ड में स्थित लेबर रूम के पास आंचल अमृत कक्ष का निर्माण होगा, जिस पर 10 लाख रुपए खर्च होंगे। अग्रवाल के साथ नेशनल हेल्थ मिशन के एक्सईएन व एईएन भी पहुंचे तथा कक्ष निर्माण के लिए स्थानीय अस्पताल प्रशासन से वार्ता कर जगह का निर्धारण किया। अग्रवाल ने फेंको मत, हमें दो पालना गृह का अवलोकन भी किया तथा पीएमओ डा. राजेंद्र गौड़, स्त्रीरोग विशेषज्ञ सीताराम कांवलिया, शिशुरोग विशेषज्ञ देवेंद्र शर्मा व विजय चौधरी, डा. राजेश धायल, स्वास्थ्य कर्मी कजोड़मल के साथ बैठक करके उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।

प्रदेश के 25 सरकारी अस्पतालों का चयन, रीको के दो करोड़ रु. के सहयोग से बनेंगे आंचल अमृत कक्ष, छह महीने बाद में मिलने लग जाएगी सुविधा

रतनगढ़. प्रसुता से वार्ता करते राज्य स्तरीय सलाहकार योग गुरु देवेंद्र अग्रवाल।

स्टोरेज में एक हजार यूनिट मां के दूध का भंडारण होगा

अमृत कक्ष में ब्रेस्ट फिडिंग क्लिनिक व मदर मिल्क स्टोरेज व वितरण सेंटर दो विंग बनेगी। गुरु अग्रवाल ने बताया कि स्तनपान में असक्षम रहने वाली माताओं का क्लिनिक में उपचार किया जाएगाे। उनकी निजता भंग नहीं होगी तथा गौरव व सम्मान के साथ उन्हें स्तनपान के लिए सक्षम बनाया जाएगा। मदर मिल्क स्टोरेज व वितरण सेंटर में एक हजार यूनिट मां के दूध का भंडारण रहेगा। इस सेंटर पर यह दूध चूरू से पहुंचेगा। यह कक्ष 24 घंटे अपनी सेवा प्रदान करेगा।

400 स्कवायर फीट में बनेगा आंचल अमृत कक्ष : 350-400 स्कवायर फीट में आंचल अमृत कक्ष का निर्माण होगा। इसमें बनने वाली क्लिनिक में चार बैड व दो सिटिंग चेयर लगाई जाएगी। मदर मिल्स स्टोरेज वितरण सेंटर में एक मशीन लगेगी, जिसमें एक हजार यूनिट मां के दूध का भंडारण हर समय उपलब्ध रहेगा। रतनगढ़ व सरदारशहर के राजकीय अस्पताल में प्रतिदिन करीब 15 प्रसव होते हैं। इनमें कई केस ऐसे होते हैं, जिसमें मां बच्चे को दूध नहीं पिला पाती।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Churu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×