• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Churu
  • Chapar News rajasthan news 10 years ago the family got stunned in the separated prakash chhapar kishan of chhapar reached the hospital shyamsunder mixed with the family members

10 साल पहले परिवार से बिछड़ा प्रकाश छापर में अचेत मिला, छापर के किशन ने पहुंचाया अस्पताल, श्यामसुंदर ने परिजनाें से मिलाया

Churu News - करीब 10 साल पहले अपने परिवार से बिछड़े एक 40 साल के व्यक्ति को सुजानगढ़ के हारे का सहारा टीम के श्यामसुंदर स्वर्णकार ने...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:02 AM IST
Chapar News - rajasthan news 10 years ago the family got stunned in the separated prakash chhapar kishan of chhapar reached the hospital shyamsunder mixed with the family members
करीब 10 साल पहले अपने परिवार से बिछड़े एक 40 साल के व्यक्ति को सुजानगढ़ के हारे का सहारा टीम के श्यामसुंदर स्वर्णकार ने उसके परिवार से मिलाकर एक मिसाल कायम की है।

उत्तरप्रदेश के कासगंज जिले के गांव कुचलपुर के 40 वर्षीय प्रकाश पुत्र रामसिंह चौहान की सुजानगढ़ के राजकीय अस्पताल में वीडियो कॉल से प|ी, भाई व बेटे से बात करवाई। पहचान होते ही प|ी व बेटा फोन पर ही भावुक हो गए। पुलिस के अनुसार वे यूपी से सुजानगढ़ के लिए रवाना हो गए है। प्रकाश करीब 10 साल पहले घर से नौकरी की तलाश में निकला था तथा सुजानगढ़ के पास ही छापर में रहकर वहा मजदूरी करने लग गया। कई हालातों की वजह से उसने एक बार भी घर पर बात नहीं की। घरवाले काफी चिंतित थे। काफी तलाश के बाद प्रकाश का कोई अता-पता नहीं लग रहा था। शुक्रवार को सुजानगढ़ में अस्पताल में भर्ती होने के बाद छापर के किशन शर्मा व सुजानगढ़ के श्यामसुंदर की वजह से वह परिवार से मिला।

सुजानगढ़. अस्पताल में भर्ती प्रकाश के पास खड़े श्यामसुंदर व अन्य।

यूपी के कई जिलों में संपर्क, थाने के कांस्टेबल ने किया सहयोग

श्यामसुंदर ने सबसे पहले इस व्यक्ति की अस्पताल में भर्ती की फोटो लेकर फेसबुक व व्हाट्स एप वायरल की। वीडियो भी डाले। कहीं से कुछ मदद या सूचना नहीं मिलने पर फेसबुक व गुगल की मदद से कानपुर के कलेक्टर कार्यालय के नंबर खोजकर फोन किया। यहां बात करने पर उन्होंने यूपी के एटा जिले के कलेक्टर कार्यालय के नंबर दिए। यहां से कासगंज कलेक्टर कार्यालय के नंबर दिए, जहां पूरी बात बताई। यहां हमापुर थाने के नंबर दिए गए। थाने में हैडकांस्टेबल मोहनलाल से बात हुई तो उन्होंने भी इस मामले को लेकर काफी भागदौड़ की। आस-पास के कई गांवों में घूमे। 13 सितंबर को इस व्यक्ति के गांव पहुंचकर रोगी की प|ी व बेटे से वीडियो कॉल पर बात करवाई।

बुधवार को अचेत अवस्था में करवाया था भर्ती

11 सितंबर बुधवार को छापर के किशन शर्मा व इनके एक साथी ने छापर में उसे बीमार हालत में देखा। वह बोलने की स्थिति में नहीं था। गंभीर होने पर उसे सुजानगढ़ के अस्पताल में लेकर आए। डॉ. दिलीप सोनी से इलाज शुरू करवाया। फिर श्यामसुंदर स्वर्णकार को पूरे मामले की जानकारी दी। श्यामसुंदर ने तुरंत अस्पताल पहुंचकर उसे भर्ती करवाया और खाने-पीने की व्यवस्था की। पूछताछ में उसने अपना नाम, पता बताया। अभी श्यामसुंदर और उनकी टीम रोगी की खाने-पीने की व्यवस्था में जुटे हुए है। उसके परिवार वालों से भी कहा है कि वे सुजानगढ़ पहुंचे, पूरा खर्चा भी वे देने का तैयार है।

X
Chapar News - rajasthan news 10 years ago the family got stunned in the separated prakash chhapar kishan of chhapar reached the hospital shyamsunder mixed with the family members
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना