• Hindi News
  • Rajasthan
  • Churu
  • Sardarshar News rajasthan news husband and wife living separately from rantagarh for two years and separated from 10 months in sujangarh

आपसी अनबन से रतनगढ़ में 2 साल व सुजानगढ़ में 10 माह से अलग रह रहे पति-पत्नी फिर एक हुए

Churu News - राष्ट्रीय लोक अदालत का शनिवार को आयोजन हुआ। रतनगढ़ में लगी लोक अदालत में दो साल से तलाक और बच्चों के अधिकार क्षेत्र...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 10:50 AM IST
Sardarshar News - rajasthan news husband and wife living separately from rantagarh for two years and separated from 10 months in sujangarh
राष्ट्रीय लोक अदालत का शनिवार को आयोजन हुआ। रतनगढ़ में लगी लोक अदालत में दो साल से तलाक और बच्चों के अधिकार क्षेत्र सहित उनके भरण-पोषण के मुकदमे के बीच पति-प|ी की चल रही अनबन एक घंटे में समझाइश के जरिए निपटा दी गई। वहीं सुजानगढ़ में करीब 10 महीने पहले अनबन के बाद अलग-अलग हुए पति-प|ी एक साथ रहने के लिए राजी हुए।

सुजानगढ़ | करीब 10 महीने पहले आपसी अनबन के बाद अलग-अलग हुए पति-प|ी वापस एक साथ रहने के लिए राजी हुए। एडीजे कोर्ट में राष्ट्रीय लोक अदालत में दोनों को समझाइश के बाद वे एक हो गए। इनके बेटी भी है, जो प|ी के साथ रहती है। पति राजेंद्र सुजानगढ़ के हैं और प|ी नेहा काठमांडू की है। दो सितंबर 2018 को अलग-अलग होने के बाद तलाश के लिए मामला दायर कर रखा था। आठ फरवरी 2012 को इनकी शादी हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद दोनों के बीच अनबन शुरू हो गई थी। एडीजे रामपाल जाट की अध्यक्षता में लोक अदालत में दोनों के बीच राजीनामा करवाकर गलतफहमी दूर करके पति-प|ी को एक साथ रहने के लिए राजी कर दिया। पति-प|ी ने एक दूसरे को माला पहनाई।

रतनगढ़ | दो साल से तलाक और बच्चों के अधिकार क्षेत्र सहित उनके भरण-पोषण के मुकदमे के बीच पति-प|ी की चल रही अनबन एक घंटे में समझाइश के जरिए निपटा दी गई। राष्ट्रीय लोक अदालत में गढ़ परिसर में दोनों को माला पहनाकर हंसते-हंसते एक साथ रहने के लिए रवाना किया। इनके एक 10 व एक 6 वर्षीय बेटा है। इनकी शादी 11 जून 2009 को हुई थी। शादी के छह महीने बाद मनमुटाव हो गया था, लेकिन 2017 से अलग-अलग रहने लगे थे। पति रजनीश शर्मा निवासी वार्ड 27 रतनगढ़ तथा प|ी संगीता निवासी के बीच 2017 से तीन मुकदमे लंबित थे। एडीजे प्रवीणकुमार वर्मा, एसीजेएम श्रृष्टी चौधरी, एड. संजय कटारिया, ललित शर्मा एवं परिवार कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष संतोषकुमार इंदौरिया ने पति-प|ी को मनमुटाव भूलाने की समझाइश की, जिस पर वे दोनों सहमत हो गए। इधर, लोक अदालत में दो बैंचों का गठन एडीजे प्रवीणकुमार वर्मा व एसीजेएम श्रृष्टी चौधरी की अध्यक्षता में किया गया। एडीजे के बैच में रखे गए 197 प्रकरणों में से 27 का निस्तारण किया। मोटरवाहन दुर्घटना क्लेम के रखे गए 72 प्रकरणों में से आठ प्रकरणों का निस्तारण कर 11 लाख 40 हजार रुपए के अवार्ड पारित किए गए तथा 12 वैवाहिक प्रकरणों व 12 अन्य प्रकरणों का निस्तारण हुआ। एडीजे व एसीजेएम ने गढ़ परिसर में पौधे भी लगाए। इस मौके पर बार संघ के अध्यक्ष भंवरलाल प्रजापत, एड. मनीष शर्मा, प्रकाश मारू, देवेंद्र चोटिया, प्रमोद इंदौरिया आदि उपस्थित थे।

सरदारशहर | राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, जिसमें दो लोक अदालत बैंच का गठन किया गया। प्रथम बैंच के अध्यक्ष अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रियंकर सिहाग व सदस्य अधिवक्ता सांवरमल सारण व श्रवणसिंह राठौड़ की बैंच ने 42 प्रकरणों का निस्तारण किया। द्वितीय बैंच के अध्यक्ष न्यायिक मजिस्ट्रेट रामपाल व सदस्य अधिवक्ता कुंदनसिंह व मुकनाराम थे। इस बैंच ने 23 प्रकरणों का निस्तारण किया।

रतनगढ़. लोक अदालत में आपसी राजीनामे में निपटा तलाक का मामला।

रतनगढ़. लोक अदालत में आपसी राजीनामे में निपटा तलाक का मामला।

जिला वैकल्पिक विवाद निस्तारण केंद्र में 6 बैंचों ने की सुनवाई, कार्यालय परिसर में पौधरोपण भी किया

भास्कर टीम | जिलेभर से

राष्ट्रीय लोक अदालत का शनिवार को आयोजन हुआ। रतनगढ़ में लगी लोक अदालत में दो साल से तलाक और बच्चों के अधिकार क्षेत्र सहित उनके भरण-पोषण के मुकदमे के बीच पति-प|ी की चल रही अनबन एक घंटे में समझाइश के जरिए निपटा दी गई। वहीं सुजानगढ़ में करीब 10 महीने पहले अनबन के बाद अलग-अलग हुए पति-प|ी एक साथ रहने के लिए राजी हुए।

सुजानगढ़ | करीब 10 महीने पहले आपसी अनबन के बाद अलग-अलग हुए पति-प|ी वापस एक साथ रहने के लिए राजी हुए। एडीजे कोर्ट में राष्ट्रीय लोक अदालत में दोनों को समझाइश के बाद वे एक हो गए। इनके बेटी भी है, जो प|ी के साथ रहती है। पति राजेंद्र सुजानगढ़ के हैं और प|ी नेहा काठमांडू की है। दो सितंबर 2018 को अलग-अलग होने के बाद तलाश के लिए मामला दायर कर रखा था। आठ फरवरी 2012 को इनकी शादी हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद दोनों के बीच अनबन शुरू हो गई थी। एडीजे रामपाल जाट की अध्यक्षता में लोक अदालत में दोनों के बीच राजीनामा करवाकर गलतफहमी दूर करके पति-प|ी को एक साथ रहने के लिए राजी कर दिया। पति-प|ी ने एक दूसरे को माला पहनाई।

रतनगढ़ | दो साल से तलाक और बच्चों के अधिकार क्षेत्र सहित उनके भरण-पोषण के मुकदमे के बीच पति-प|ी की चल रही अनबन एक घंटे में समझाइश के जरिए निपटा दी गई। राष्ट्रीय लोक अदालत में गढ़ परिसर में दोनों को माला पहनाकर हंसते-हंसते एक साथ रहने के लिए रवाना किया। इनके एक 10 व एक 6 वर्षीय बेटा है। इनकी शादी 11 जून 2009 को हुई थी। शादी के छह महीने बाद मनमुटाव हो गया था, लेकिन 2017 से अलग-अलग रहने लगे थे। पति रजनीश शर्मा निवासी वार्ड 27 रतनगढ़ तथा प|ी संगीता निवासी के बीच 2017 से तीन मुकदमे लंबित थे। एडीजे प्रवीणकुमार वर्मा, एसीजेएम श्रृष्टी चौधरी, एड. संजय कटारिया, ललित शर्मा एवं परिवार कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष संतोषकुमार इंदौरिया ने पति-प|ी को मनमुटाव भूलाने की समझाइश की, जिस पर वे दोनों सहमत हो गए। इधर, लोक अदालत में दो बैंचों का गठन एडीजे प्रवीणकुमार वर्मा व एसीजेएम श्रृष्टी चौधरी की अध्यक्षता में किया गया। एडीजे के बैच में रखे गए 197 प्रकरणों में से 27 का निस्तारण किया। मोटरवाहन दुर्घटना क्लेम के रखे गए 72 प्रकरणों में से आठ प्रकरणों का निस्तारण कर 11 लाख 40 हजार रुपए के अवार्ड पारित किए गए तथा 12 वैवाहिक प्रकरणों व 12 अन्य प्रकरणों का निस्तारण हुआ। एडीजे व एसीजेएम ने गढ़ परिसर में पौधे भी लगाए। इस मौके पर बार संघ के अध्यक्ष भंवरलाल प्रजापत, एड. मनीष शर्मा, प्रकाश मारू, देवेंद्र चोटिया, प्रमोद इंदौरिया आदि उपस्थित थे।

सरदारशहर | राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, जिसमें दो लोक अदालत बैंच का गठन किया गया। प्रथम बैंच के अध्यक्ष अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रियंकर सिहाग व सदस्य अधिवक्ता सांवरमल सारण व श्रवणसिंह राठौड़ की बैंच ने 42 प्रकरणों का निस्तारण किया। द्वितीय बैंच के अध्यक्ष न्यायिक मजिस्ट्रेट रामपाल व सदस्य अधिवक्ता कुंदनसिंह व मुकनाराम थे। इस बैंच ने 23 प्रकरणों का निस्तारण किया।

चूरू | जिला वैकल्पिक विवाद निस्तारण केंद्र में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। शुभारंभ डीजे अयूब खान ने दीप प्रज्जवलित कर किया गया। शुभारंभ से पूर्व एडीआर भवन एवं शिक्षा विभाग के कार्यालय परिसर में पौधरोपण हुआ। इस लोक अदालत में गठित छह बैंचों की अध्यक्षता, क्रमशः डीजे अय्यूब खान, पारिवारिक न्यायालय के जज सुरेश चंद बंसल, एडीजे रंजना सर्राफ, विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव राजेश कुमार दडि़या, सीजेएम राजेश कुमार-II, न्यायिक मजिस्ट्रेट महेश्वरी बरोड़ द्वारा की गई। सदस्य के रूप में एडवोकेट संजीव कुमार वर्मा, अख्तर रसूल, गजेंद्र खत्री, रोशनसिंह राठौड़, सांवरमल स्वामी एवं शेरसिंह पूनियां द्वारा बैंच के सदस्य के रूप में सहयोग किया गया। लोक अदालत में अभिभाषक संघ के अध्यक्ष बजरंगलाल शर्मा, पवनकुमार शर्मा, संतलाल सहारण, काशीराम शर्मा, हनुमान प्रसाद स्वामी, विनोद कुमार दनेवा, हेमंत कुमार शर्मा आदि ने राजीनामा करवाकर प्रकरणों के निस्तारण में सहयोग किया गया।

सुजानगढ़. लोक अदालत में फिर एक हुए पति-प|ी ने माला पहनाई।

Sardarshar News - rajasthan news husband and wife living separately from rantagarh for two years and separated from 10 months in sujangarh
Sardarshar News - rajasthan news husband and wife living separately from rantagarh for two years and separated from 10 months in sujangarh
X
Sardarshar News - rajasthan news husband and wife living separately from rantagarh for two years and separated from 10 months in sujangarh
Sardarshar News - rajasthan news husband and wife living separately from rantagarh for two years and separated from 10 months in sujangarh
Sardarshar News - rajasthan news husband and wife living separately from rantagarh for two years and separated from 10 months in sujangarh
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना