• Hindi News
  • Rajasthan
  • Churu
  • Churu News rajasthan news imprisoned daughter in law and life long imprisonment for killing 22 month old granddaughter by pouring hot oil

गर्भवती बहू व 22 माह की पोती को गर्म तेल डाल कर मारने की दोषी सास को आजीवन कारावास

Churu News - एडीजे कोर्ट ने भानीपुरा थानाक्षेत्र के गांव देवीपुरा में 24 सितंबर, 2012 को गर्भवती पुत्रवधु व 22 महीने की पोती की गर्म...

Jan 16, 2020, 07:55 AM IST
Churu News - rajasthan news imprisoned daughter in law and life long imprisonment for killing 22 month old granddaughter by pouring hot oil
एडीजे कोर्ट ने भानीपुरा थानाक्षेत्र के गांव देवीपुरा में 24 सितंबर, 2012 को गर्भवती पुत्रवधु व 22 महीने की पोती की गर्म तेल उड़ेलकर हत्या किए जाने के मामले में आरोपी महिला को आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

मामले के अनुसार 48 वर्षीय रामचंद्रो प|ी मोहरसिंह स्वामी निवासी देवपुरा ने 24 सितंबर, 2012 को 22 महीने की बच्ची मैना को दूध पिला रही पुत्रवधु इंद्रा पर गर्म तेल उड़ेल दिया। इंद्रा उस समय चार महीने के गर्भ से भी थी। गर्म तेल गिरने से इंद्रा व मैना झुलस गए। बीकानेर ले जाते समय 22 महीने की मैना की रास्ते में मौत हो गई। इंद्रा को बीकानेर से जयपुर रैफर किया गया, जहां उपचार के दौरान 14 अक्टूबर, 2012 को उसकी मौत हो गई। घटना को लेकर मृतका के पिता की रिपोर्ट पर 27 सितंबर, 2012 को भानीपुरा थाने में रामचंद्रो के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर कोर्ट में चालान पेश कर दिया। एडीजे रंजना सर्राफ ने दोनों पक्षों की सुनवाई व उपलब्ध पत्रावलियों का अध्ययन कर रामचंद्रो को तीन जनों की हत्या का दोषी मानते हुए धारा 302 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई। मामले को लेकर राज्य सरकार की तरफ से पैरवी एपीपी अनिस अहमद खां व परिवादी की तरफ से सरदारशहर के एडवोकेट नरेश भाटी ने की।

फैसला
बहु और पोती की हत्यारी ने छुपाया मुंह

आरोपी सास रामचंद्रो

दहेज की मांग को लेकर हत्या करने का दर्ज हुआ था मामला, 2005 में हुई थी शादी, पति सूरत रहता था

घटना को लेकर मृतका के पिता ने इंद्रा के पिता डूंगरदास ने भानीपुरा थाने में 27 सितंबर, 2012 को अपनी पुत्री की सास रामचंद्रो के खिलाफ दहेज के लिए गर्म तेल डालकर उसकी दोहती व गर्भस्थ शिशु की हत्या करने व बेटी को गंभीर रूप से घायल करने का मामला दर्ज करवाया था। 14 अक्टूबर, 2012 को जयपुर के अस्पताल में इंद्रा की भी मौत हो गई। इधर पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद 28 सितंबर, 2012 को आरोपी रामचंद्रो को गिरफ्तार कर कोर्ट के आदेश पर जेल भिजवा दिया। गांव जैतसीसर बिरेरबास निवासी डूंगरदास की पुत्री इंद्रा की शादी वर्ष 2005 में गांव देवासर निवासी मोहरसिंह के पुत्र काशीराम से हुई थी। काशीराम रोजगार के चलते सूरत रहता था।

ये था मामला : आरोपी रामचंद्रो प|ी मोहरसिंह निवासी देवासर ने 24 सितंबर की शाम छह बजे 22 माह की पुत्री मैना को दूध पिला रही अपनी पुत्रवधु इंद्रा पर गर्म तेल डाल दिया। गर्म तेल के कारण इंद्रा व उसकी बेटी मैना गंभीर रूप से झुलस गई। शोर मचाने पर पड़ोसी दौड़ कर आए और दोनों को बीकानेर पीबीएम अस्पताल ले गए। रास्ते में मैना की मौत हो गई। इंद्रा को पीबीएम अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसके गर्भ में पल रहे शिशु की भी मौत हो गई। इंद्रा की हालत गंभीर होने के चलते उसे जयपुर रैफर कर दिया गया। जयपुर के अस्पताल में 14 अक्टूबर, 2012 को इंद्रा की भी उपचार के दौरान मौत हो गई।

X
Churu News - rajasthan news imprisoned daughter in law and life long imprisonment for killing 22 month old granddaughter by pouring hot oil
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना