• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Churu
  • Salasar News rajasthan news khariya kaniram39s school enrollment ranges from 285 to 513 but there is a lack of class rooms nutritional classes are required

खारिया कनीराम के स्कूल में नामांकन 285 से 513 हुआ, लेकिन कक्षा-कक्षों की कमी, पोषाहार कक्ष में लगानी पड़ती हैं कक्षाएं

Churu News - गांव खारिया कनीराम के रामावि में कक्षा-कक्षों की कमी के चलते विद्यार्थियों को पोषाहार कमरे में बैठाकर पढ़ाई करवाई...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 10:50 AM IST
Salasar News - rajasthan news khariya kaniram39s school enrollment ranges from 285 to 513 but there is a lack of class rooms nutritional classes are required
गांव खारिया कनीराम के रामावि में कक्षा-कक्षों की कमी के चलते विद्यार्थियों को पोषाहार कमरे में बैठाकर पढ़ाई करवाई जा रही है। पिछले साल स्कूल को माध्यमिक से उमावि में क्रमोन्नत किया गया था। स्कूल का नामांकन भी 285 से बढ़कर अब 513 हो चुका है। बावजूद यहां विद्यार्थियों को बैठने की सुविधा मुहैया नहीं हो रही हंै। खास बात ये है कि स्कूल में आधुनिक कंप्यूटर लैब, सीसीटीवी कैमरे, वाटर कूलर जैसी सुविधाएं होते हुए भी शिक्षकों व विद्यार्थियों के बैठने के लिए कमरे कम पड़ रहे है।

बता दें कि इस स्कूल में ग्राम पंचायत खारिया कनीराम का पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय भी है। स्कूल में आस-पास के गांवों से विद्यार्थी पढ़ने आते है। स्कूल ने इसके लिए बस भी लगा रखी है। स्कूल में पिछले साल दसवीं का परीक्षा परिणाम में 100 प्रतिशत रहा था और छात्रा रितू कंवर ने 90 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। इस बार गर्मी की छुट्‌टी में शिक्षकों ने बोर्ड कक्षाओं के लिए अतिरिक्त क्लास भी लगाई थी।

भामाशाहों का खूब सहयोग, लेकिन पद खाली : स्कूल में भामाशाहों का खूब सहयोग है, लेकिन सरकार की तरफ से सहायता नहीं मिल रही। यहां हिंदी साहित्य व्याख्याता, सैकंड ग्रेड गणित विषय, लेवल 2 के दो पद, लिपिक तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद रिक्त चल रहे हैं। वर्षभर में भामाशाह व प्रेरक भंवरलाल सामोता व महेश सामोता प्रेरणा से पेपसिंह राठौड़ ने 40 फीट चौड़ा व 60 फीट लंबा एमडीएम टीनशेड, सुथार परिवार ने कार्यालय का फर्नीचर, नारायण अग्रवाल ने प्रार्थना सभा का टीनशेड बनवाया। सालासर के डॉ. नरोतम पुजारी ने सीसीटीवी कैमरे व एक वाटर कूलर लगवाया तथा बालिकाओं को ड्रेस भेंट की। रूघाराम सामोता द्वारा स्कूल मुख्य द्वार बनवाया जाएगा। उम्मेदसिंह बीदावत द्वारा एक कक्षाकक्ष भी बनाया जाएगा।

सालासर. पोषाहार कक्ष में बैठकर पढ़ते हुए कक्षा तीन के विद्यार्थी।

13 कक्षा-कक्ष, कई कमरों की साइज छोटी, बैठने में दिक्कत

स्कूल में कुल 13 कक्षा कक्ष हैं, जिनमें आगनबाड़ी, कार्यालय, कंप्यूटर लैब, प्रयोगशाला, पोषाहार भी शामिल हैं। कमरों के अभाव में कक्षा 3 के विद्यार्थियों को पोषाहार कक्ष में बैठाया जा रहा है। माध्यमिक व उच्च माध्यमिक कक्षाओं में विद्यार्थियों के नामांकन अधिक होने पर कमरों की साइज छोटी होने से विद्यार्थियों की सिटिंग व्यवस्था भी सही नहीं पा रही है। कक्षा 11 में 70 व 12 वीं कक्षा में 60 विद्यार्थी हैं। प्रधानाचार्य मुकेश बाटड़ ने बताया कि मार्च माह में ही विभाग से राजनीति विज्ञान विषय के लिए मान्यता की फाइल लगा दी थी। अब समय पर विषय की मान्यता नहीं मिली, तो नामांकन कम हो जाएंगे। कुछ पद रिक्त हैं। बैठने के लिए कमरों की जरूरत है।

भास्कर न्यूज | सालासर

गांव खारिया कनीराम के रामावि में कक्षा-कक्षों की कमी के चलते विद्यार्थियों को पोषाहार कमरे में बैठाकर पढ़ाई करवाई जा रही है। पिछले साल स्कूल को माध्यमिक से उमावि में क्रमोन्नत किया गया था। स्कूल का नामांकन भी 285 से बढ़कर अब 513 हो चुका है। बावजूद यहां विद्यार्थियों को बैठने की सुविधा मुहैया नहीं हो रही हंै। खास बात ये है कि स्कूल में आधुनिक कंप्यूटर लैब, सीसीटीवी कैमरे, वाटर कूलर जैसी सुविधाएं होते हुए भी शिक्षकों व विद्यार्थियों के बैठने के लिए कमरे कम पड़ रहे है।

बता दें कि इस स्कूल में ग्राम पंचायत खारिया कनीराम का पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय भी है। स्कूल में आस-पास के गांवों से विद्यार्थी पढ़ने आते है। स्कूल ने इसके लिए बस भी लगा रखी है। स्कूल में पिछले साल दसवीं का परीक्षा परिणाम में 100 प्रतिशत रहा था और छात्रा रितू कंवर ने 90 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। इस बार गर्मी की छुट्‌टी में शिक्षकों ने बोर्ड कक्षाओं के लिए अतिरिक्त क्लास भी लगाई थी।

भामाशाहों का खूब सहयोग, लेकिन पद खाली : स्कूल में भामाशाहों का खूब सहयोग है, लेकिन सरकार की तरफ से सहायता नहीं मिल रही। यहां हिंदी साहित्य व्याख्याता, सैकंड ग्रेड गणित विषय, लेवल 2 के दो पद, लिपिक तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद रिक्त चल रहे हैं। वर्षभर में भामाशाह व प्रेरक भंवरलाल सामोता व महेश सामोता प्रेरणा से पेपसिंह राठौड़ ने 40 फीट चौड़ा व 60 फीट लंबा एमडीएम टीनशेड, सुथार परिवार ने कार्यालय का फर्नीचर, नारायण अग्रवाल ने प्रार्थना सभा का टीनशेड बनवाया। सालासर के डॉ. नरोतम पुजारी ने सीसीटीवी कैमरे व एक वाटर कूलर लगवाया तथा बालिकाओं को ड्रेस भेंट की। रूघाराम सामोता द्वारा स्कूल मुख्य द्वार बनवाया जाएगा। उम्मेदसिंह बीदावत द्वारा एक कक्षाकक्ष भी बनाया जाएगा।

इधर, खाखीधोरा के स्कूल में शिक्षकों की कमी दो-दो कक्षाओं को एक साथ बिठाकर पढ़ाते हैं

भास्कर न्यूज | राजलदेसर

वार्ड चार में स्थित राजकीय प्राथमिक स्कूल खाखीधोरा 19 वर्ष पूर्व क्रमोन्नत होने के बाद से ही शिक्षकों की कमी से जूझ रहा है। शिक्षकों के रिक्त पदों से परेशानी झेल रहे विद्यार्थियों को मोहल्ले की ही दो स्वयंपाठी छात्राएं पढ़ाकर जरूर कुछ राहत देेने का प्रयास कर रही हैं। राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल वर्ष 2000 मे क्रमोन्नत हुई थी, मगर क्रमोन्नत होने के बावजूद स्कूल में स्टाफ की नियुक्ति नहीं की गई। स्कूल में वर्तमान में 129 छात्र व 135 छात्राओं सहित 264 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं, जिनको पढ़ाने की जिम्मेदारी चार शिक्षकों के कंधों पर है। इनमें भी एक हैड मास्टर व एक शारीरिक शिक्षक शामिल हैं। शिक्षकों की कमी के कारण मजबूरी में स्टाफ सदस्य एक साथ दो-दो कक्षाओं के विद्यार्थियों को बैठाकर पढ़ाई करवा रहे हैं।

वहीं पहली, दूसरी तथा तीसरी तीनों कक्षाओं को एक ही कक्ष में बैठाकर पढ़ाई करवाई जाती है। कक्षा एक से पांच तक के लिए एक भी शिक्षक नहीं होने के कारण एसआईक्यू व्यवस्था पूरी तरह प्रभावित हो रही है। स्कूल में कार्यरत हैड मास्टर रामेश्वरलाल सुंडा का पूरा दिन अमूमन विभागीय कार्रवाई व कार्यालय के कामों में ही बीत जाता है। राउप्रावि खाखीधोरा में शिक्षकों के कुल 10 पद स्वीकृत हैं, जिनमें से वर्तमान में छह पदों में लेवल प्रथम के पांच व द्वितीय का एक पद शामिल है। हैड मास्टर के अलावा स्कूल में विज्ञान के शिक्षक सत्यनारायण टेलर, सामाजिक विज्ञान की मंजू वर्मा व शारीरिक शिक्षक विद्यासागर शर्मा कार्यरत हैं। शारीरिक शिक्षक भी मजबूरी में बच्चों को खेलों से जुड़ी गतिविधियों को छोड़ संस्कृत का पाठ पढ़ाते हैं। गत वर्ष 286 का नामांकन था, जो अब 264 ही रह गया है।

दो स्वयंपाठी छात्राएं स्वेच्छा से बच्चों को पढ़ा रही

शिक्षकों की कमी के कारण परेशानी झेल रहे विद्यार्थियों को मोहल्ले की ही दो स्वयंपाठी छात्राएं स्वेच्छा से पढ़ाकर कुछ राहत देने का प्रयास कर रही है। मोहल्ले की स्वयंपाठी छात्र सुशीला व हेमलता नियमित रूप से स्कूल में समय देकर बच्चों को पढ़ा रही है। प्रधानाध्यापक रामेश्वरलाल सुंडा ने बताया कि रिक्त पदों के कारण परेशानी हो रही है। कई बार अधिकारियों को अवगत करवाया जा चुका है।

भास्कर न्यूज | राजलदेसर

वार्ड चार में स्थित राजकीय प्राथमिक स्कूल खाखीधोरा 19 वर्ष पूर्व क्रमोन्नत होने के बाद से ही शिक्षकों की कमी से जूझ रहा है। शिक्षकों के रिक्त पदों से परेशानी झेल रहे विद्यार्थियों को मोहल्ले की ही दो स्वयंपाठी छात्राएं पढ़ाकर जरूर कुछ राहत देेने का प्रयास कर रही हैं। राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल वर्ष 2000 मे क्रमोन्नत हुई थी, मगर क्रमोन्नत होने के बावजूद स्कूल में स्टाफ की नियुक्ति नहीं की गई। स्कूल में वर्तमान में 129 छात्र व 135 छात्राओं सहित 264 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं, जिनको पढ़ाने की जिम्मेदारी चार शिक्षकों के कंधों पर है। इनमें भी एक हैड मास्टर व एक शारीरिक शिक्षक शामिल हैं। शिक्षकों की कमी के कारण मजबूरी में स्टाफ सदस्य एक साथ दो-दो कक्षाओं के विद्यार्थियों को बैठाकर पढ़ाई करवा रहे हैं।

वहीं पहली, दूसरी तथा तीसरी तीनों कक्षाओं को एक ही कक्ष में बैठाकर पढ़ाई करवाई जाती है। कक्षा एक से पांच तक के लिए एक भी शिक्षक नहीं होने के कारण एसआईक्यू व्यवस्था पूरी तरह प्रभावित हो रही है। स्कूल में कार्यरत हैड मास्टर रामेश्वरलाल सुंडा का पूरा दिन अमूमन विभागीय कार्रवाई व कार्यालय के कामों में ही बीत जाता है। राउप्रावि खाखीधोरा में शिक्षकों के कुल 10 पद स्वीकृत हैं, जिनमें से वर्तमान में छह पदों में लेवल प्रथम के पांच व द्वितीय का एक पद शामिल है। हैड मास्टर के अलावा स्कूल में विज्ञान के शिक्षक सत्यनारायण टेलर, सामाजिक विज्ञान की मंजू वर्मा व शारीरिक शिक्षक विद्यासागर शर्मा कार्यरत हैं। शारीरिक शिक्षक भी मजबूरी में बच्चों को खेलों से जुड़ी गतिविधियों को छोड़ संस्कृत का पाठ पढ़ाते हैं। गत वर्ष 286 का नामांकन था, जो अब 264 ही रह गया है।

कालांश लेती स्वयंपाठी छात्रा।

Salasar News - rajasthan news khariya kaniram39s school enrollment ranges from 285 to 513 but there is a lack of class rooms nutritional classes are required
X
Salasar News - rajasthan news khariya kaniram39s school enrollment ranges from 285 to 513 but there is a lack of class rooms nutritional classes are required
Salasar News - rajasthan news khariya kaniram39s school enrollment ranges from 285 to 513 but there is a lack of class rooms nutritional classes are required
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना