विज्ञापन

भगवान श्रीकृष्ण ने भरा नानी बाई का छप्पन करोड़ रुपए का मायरा

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 06:05 AM IST

Churu News - गांव संडू बड़ी में चल रही पांच दिवसीय नानी बाई रो मायरो कथा का समापन बुधवार को भगवान श्रीकृष्ण द्वारा नानी बाई का...

Sandwa News - rajasthan news lord shrikrishna filled the sixth house of my grandmother
  • comment
गांव संडू बड़ी में चल रही पांच दिवसीय नानी बाई रो मायरो कथा का समापन बुधवार को भगवान श्रीकृष्ण द्वारा नानी बाई का छप्पन करोड़ रुपए का मायरा भरने के साथ ही समापन हुआ। बुधवार को कथावाचिका आरती रांकावत ने कहा कि भगवान प्रेम व भक्ति के भूखे है। इस सांसारिक मोह, माया व धन के जरिए उन्हें नहीं पाया जा सकता। उनको पाने के लिए पहले खुद को पहचानना होगा। कथावाचिका ने बताया कि भक्त नरसी धन-दौलत सब छोड़कर केवल भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति में लीन हो गए तथा उन्हें ही अपना जीवन अर्पित कर दिया। भक्ति के वशीभूत होकर ही भगवान श्रीकृष्ण को रुक्मणी के साथ नानी बाई का मायरा भरने के लिए भी धरती पर आना पड़ा। कथावाचिका ने कहा कि अगर भक्ति करनी है, तो ऐसे की हमारे मुख से निकलने वाला हर शब्द उस परमात्मा का हो। कथा के दौरान नानी बाई के मायरों भरने की संजीव झांकी भी सजाई गई। इस दौरान भजनों की प्रस्तुतियां दी। यजमान मोहनलाल जैन परिवार सदस्य गजराज जैन, संतोष जैन, जयप्रकाश जैन, संजय जैन ने कथावाचिका का तिलकर लगाकर व माल्यार्पण कर स्वागत किया तथा व्यासपीठ का पूजन किया। मां सुपार्श्वमति गोशाला सेवा समिति की ओर से गोसेवार्थ हुई कथा के दौरान मैनादेवी, प्रेमलता जैन, शोभा जैन, नूतन जैन, चांदनी जैन, ऋषभ जैन, हनुमान महिया, मनीष सोनी, सरपंच सुमन ढाका, उपसरपंच गुलाब कंवर, मनोजकुमार ढाका सहित श्रद्धालु उपस्थित थे।

सांडवा के गांव संडू बड़ी में पांच दिवसीय नानी बाई रो मायरो कथा का समापन, भगवान को पाने के लिए पहले खुद को पहचानो : आरती

युवा पीढ़ी शिक्षित व संस्कारवान बनकर धर्म के प्रचार में करे सहयोग : पं. दाधीच

राजलदेसर. उतरादा बास वार्ड नौ में चल रही भागवत कथा के तीसरे दिन कथावाचक पं. देवकीनंदन दाधीच ने विभिन्न प्रसंग सुनाए। जोधराज नाई परिवार के सहयोग से हो रही कथा में दाधीच ने कहा कि किसी भी वितरीत परिस्थिति में धैर्य नहीं खोना चाहिए। धैर्य व संयम ही सफलता की कुंजी है। आज के युग में समाज के लिए हर व्यक्ति नाम के लिए आर्थिक योगदान तो देता है, मगर युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए कोई गतिविधियां नहीं होती, जिसके कारण युवा पीढ़ी भ्रमित होकर गलत रास्ते पर जा रही है। युवाओं में अच्छे संस्कारों का निर्माण होना चाहिए, ताकि वे नकारात्मक दिशाओं को छोड़कर सकारात्मक दिशा में कदम बढ़ा सके। कथावाचक ने कहा कि किसी स्थान पर बिना निमंत्रण जाने से पहले इस बात का ध्यान जरूर रखे, कि जहां आप जा रहे है, वहां आपके इष्ट या गुरु का अपमान ना हो। कथा के दौरान शक्ति चरित्र के प्रसंग सुनाते हुए भगवान शिव की बात को नहीं मानने पर शक्ति के पिता के घर जाने से अपमानित होने के कारण स्वयं को अग्नि में स्वाह होना पड़ा। इससे पूर्व कथा शुभारंभ पर यजमान दंपती ताराचंद नाई सहित श्रद्धालुओं ने पूजन किया।

कलश यात्रा निकाली: चूरू | सैनिक बस्ती सेक्टर 4 में भागवत कथा शुरू हुई। महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली। नंदलाल सिंह राठौड़, किशनाराम, जयसिंह सारण, रतनसिंह दांदू, मूलचंद बगड़वा, सत्यनारायण स्वामी, सुगनसिंह, सहीराम पिलानिया, हरपाल सिंह आदि कॉलोनी के गणमान्य व्यक्तियों ने पूजा कर भागवत कथा का शुरू किया। पहले दिन प्रवचन करते हुए कथावाचक ने भागवत का महत्व बताते हुए कहा कि इससे पापों से मुक्ति मिलेगी। कथा 19 फरवरी तक चलेगी। इसका समय दोपहर 2.00 बजे से होगा।

राजलदेसर. कथाश्रवण करते श्रद्धालु।

धर्म का उद्देश्य अपमान करना नहीं बल्कि मोक्ष होना चाहिए: कृष्णगोपाल

छापर. आदर्श विद्या मंदिर के पास स्थित नोहरे में हो रही भागवत भागवत कथा में कथावाचक कृष्ण गोपालशरण महाराज ने कहा कि संसार एक श्मशान भूमि है। पवित्रता व अपवित्रता का ध्यान वहीं रखा जाता है जहां संस्कारहीनता पाई जाती है। कमला देवी भागीरथमल सूंठवाल परिवार के सहयोग से हो रही भागवत कथा के तीसरे दिन महाराज ने कहा कि जिस धर्म के कारण अधर्म फैलता हो उस धर्म को नष्ट कर देना चाहिए। धर्म का उद्देश्य अपमान नहीं बल्कि मोक्ष होना चाहिए। इससे पूर्व मुख्य यजमान रविशंकर शर्मा ने सप|ीक भागवत की पूजा-अर्चना की। वीरेंद्र कुमार, देवकीनंदन, नारायण शर्मा, राधाकृष्ण, रामेश्वरलाल, ओमप्रकाश, मुरलीधर, कन्हैयालाल, बजरंगलाल, कुंदनमल, बुधमल, कमलकिशोर, जगदीश, पिन्टू व संतोष ने कथावाचक का स्वागत किया।

परसनेऊ में निकली शोभायात्रा राजलदेसर. गांव परसनेऊ में भागवत कथा के समापन पर शोभायात्रा निकाली। रतनाराम भांभू परिवार के सहयोग से हुई थी कथा। कथा के अंतिम दिन कथावाचक पं. बाबूलाल सारस्वत ने कहा कि मनुष्य की अहम प्रवृति ही ईश्वर से दूरी बनाती है। व्यक्ति जब अपने आप को ही सब कुछ समझने लगता है, तो उसे वह ईश्वरीय सत्ता के प्रति भी संदेह करने लग जाता है। उन्होंने भागवत कथा के दशम स्कंध के उत्तरार्ध में वर्णित भगवान कृष्ण की ईश्वरीय लीलाओं का वर्णन सुनाया। उन्होंने कहा कि ग्यारहवें स्कंद में भगवान श्रीकृष्ण पृथ्वी पर रहने वाले पापियों का नाश करके सज्जन लोगों के सुखपूर्वक जीवन जीने की व्यवस्था की। इस मौके पर पूर्व सरपंच जीवनणराम भांभू, जगदीश पुजारी, किशनाराम, रामनिवास, हरिराम, श्रीराम, सीताराम, रूघसिंह आदि ने कथावाचक का सम्मान किया गया।

छापर. आदर्श विद्या मंदिर के पास हुई भागवत कथा में सजी झांकी।

तारानगर. श्रीराम कथा में मौजूद श्रद्धालु।

श्रीराम कथा में बोले कथावाचक भोलेबाबा अहंकार से ही मन में पैदा होता है मतिभ्रम

तारानगर. वार्ड दो की आदर्श बाल मंदिर स्कूल मैदान में चल रही श्रीराम कथा व दुर्लभ सत्संग में बुधवार को मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के जीवन से जुड़े विभिन्न प्रसंग सुनाए गए। यजमान चेतराम जांगिड़ ने व्यासपीठ की पूजा व आरती कर कथा शुरू करवाई। कथावाचक बालसंत भोलेबाबा ने भगवान श्रीराम को आदर्श पुरुष बताते हुए उनके जीवन से प्रेरणा लेकर मर्यादित जीवन जीने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम ने अहंकार को वश में करके राजधर्म व पारिवारिक धर्म का पूरी निष्ठा व नीति के साथ पालन किया। तभी उन्हें पुरूषों में श्रेष्ठ पुरुषोत्तम कहा जाता है। बालसंत ने कहा कि अहंकार से मनुष्य के मन में मतिभ्रम पैदा हो जाता है। जिससे बुद्धि का नाश हो जाता है और छोटी सी बात पर क्रोध उत्पन्न हो जाता है। इसीलिए अहंकार को वश में करना मनुष्य की सबसे बड़ी जीत होती है। कथा के अंत में श्रद्धालुओं को तुलसी के पौधे वितरित कर आंगन में लगाने का संकल्प दिलाया। आयोजक बाबूलाल जांगिड़ ने बताया कि कथा में सुबह भजन-कीर्तन कर प्रभात फेरी निकाली जाती है। दोपहर का कथा होती है और शाम को नानी बाई रो मायरो व भजन कीर्तन होता है। इस मौके पर वासुदेव कंदोई, विश्वनाथ जोड़ीवाला, शिवभगवान शर्मा, विनोद जांगिड़, पुरुषोत्तम सगतानी, रामरतन शर्मा, बनवारीलाल, पवन सैनी, आनंद यादव, बुलाकी दास उपस्थित थे।

भगेला में जागरण अाज : सादुलपुर. भगेला गांव के शीतला माता गुड़गांव वाली मंदिर में नवमी पर गुरुवार को जागरण होगा। सुरजीत भक्त ने बताया कि सुबह 9.15 से शाम 5.15 बजे तक जागरण में गायकार चंद्रभान वर्मा खुड्‌डी तथा महिला कलाकार अनिता जांगिड़ हरियाणा व मधुबाला राजस्थान भजनों की प्रस्तुतियां देंगे।

तारानगर : बाबा रामदेव की आज ध्वज यात्रा निकालेंगे

तारानगर | प्राचीन बाबा रामदेव मंदिर में शुक्रवार को दुग्धाभिषेक कार्यक्रम होगा। 19 फरवरी तक प्रतिदिन शाम को बाबा रामदेव की विशेष आरती होगी। गुरुवार शाम बाबा की ध्वज यात्रा निकाली जाएगी। शाम को जागरण में मेघराज मारवाड़ी, जगदीश व्यास, जनार्दन भार्गव, सुनील डागा आदि सहित स्थानीय कलाकार भजनों की प्रस्तुतियां देंगे। शुक्रवार सुबह पांच बजे से दुग्धाभिषेक किया जाएगा।

Sandwa News - rajasthan news lord shrikrishna filled the sixth house of my grandmother
  • comment
Sandwa News - rajasthan news lord shrikrishna filled the sixth house of my grandmother
  • comment
X
Sandwa News - rajasthan news lord shrikrishna filled the sixth house of my grandmother
Sandwa News - rajasthan news lord shrikrishna filled the sixth house of my grandmother
Sandwa News - rajasthan news lord shrikrishna filled the sixth house of my grandmother
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन