पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Sadulpur News Rajasthan News Protecting The Total Limit Of In Laws The Righteous Judge Of Women

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ससुराल की कुल मर्यादा की रक्षा करना ही महिला का धर्म सिद्ध अधिकार

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पिलानी राेड स्थित बाबा संतोषनाथ आश्रम पंचमुखी हनुमान मंदिर में महंत संतोषनाथ महाराज की पुण्यतिथि पर हो रही शिव कथा के चौथे दिन गुरुवार को कथा श्रवण के लिए महिला श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। महंत संजयनाथ के सानिध्य में चल रही कथा में कथावाचक बालव्यास पं. रवि शास्त्री ने शिव-पार्वती विदाई का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि संसार के अंदर तीन प्रकार के अधिकार हैं। जन्म सिद्ध, कर्म सिद्ध और धर्म सिद्ध अधिकार। धर्म सिद्ध अधिकार प|ी को प्राप्त होता है, इसके आधार पर प|ी का यह कर्तव्य बनता है कि वह अपने ससुराल की कुल मर्यादा का रक्षण करते हुए जीवन व्यतीत करे। मुख्य यजमान सुरेश जांगिड़ व सरस्वती देवी ने कथावाचक का शाल ओढ़ाकर सम्मान किया। कथा में थानमठुई के महंत निर्मलनाथ, सतनाली के महंत जितेंद्रनाथ, पोकरण के गणेशगिरि, पार्षद पवन सरावगी, ठेकेदार नरेश शर्मा, बालकिशन शर्मा, अश्विनी कंदोई, सज्जन कुमार सहित अन्य लोग उपस्थित थे। पार्षद सरावगी ने बताया कि पुण्यतिथि पर शुक्रवार सुबह 8.15 बजे पूर्णाहुति यज्ञ व 11.55 बजे संत पूजा व भंडारे का आयोजन किया जाएगा।

शक्ति दादी मंदिर में लगा जागरण : भगेला गांव की रोही में स्थित शक्ति दादी मंदिर में गुरुवार सुबह जागरण लगाया गया, जिसमें पिलानी व हिसार के कलाकारों ने भजन व नृत्य की प्रस्तुतियां दी। संदीप फगेड़िया ने बताया कि जागरण में हिसार व पिलानी के कलाकारों ने श्रोताओं को शाम तक बांधे रखा। शुक्रवार को पं. मुरारी लाटा के सानिध्य में पूर्णाहुति यज्ञ होगा। जागरण में हनुमान पूनिया, रतिराम, जयवीर, धर्मवीर पूनिया, देवीलाल तेतरवाल, सतीश सहारण, राजू सहारण, कपिल शर्मा, सत्यपाल बेरवाल, कुलदीप खरेरा, सीटू गुलेरिया उपस्थित थे।

सादुलपुर में पिलानी रोड स्थित बाबा संतोषनाथ आश्रम में चल रही शिव कथा में चौथे दिन शिव-पार्वती विदाई का प्रसंग सुनाया
उदासर. पीचकराई ताल में भागवत कथा के शुभारंभ पर पूजा अर्चना करते ग्रामीण।

कथावाचक ने मातृ शक्ति का सम्मान करने पर दिया जोर
राजलदेसर. आलसर के रूस्तम धोरा पर चल रही भागवत में गुरुवार को कथावाचक वृंदावन के संत भरतशरण महाराज ने कहा कि जो सबके बारे में सोचते है, वो भगवान श्रीकृष्ण है तथा सब जगह विद्यमान है। भागवत कथा सारे मनोरथ पूरे करवाती है तथा दुर्लभ से दुर्लभ चीज की प्राप्ति की जा सकती है। भागवत उस कल्पवृक्ष के समान है, जो मांगने पर सब कुछ देती है और नहीं मांगने पर मोक्ष देती है। संयम, नियम व विश्वास के साथ कथा सुनी जाए तो हमारी हर मनोकामनाएं पूरी होती है, पर इसके लिए सब्र चाहिए। उन्होंने कहा कि जो भगवान की भक्ति चाहते है, उन्हें पहले सच्चा श्रोता बनना होगा। कथावाचक ने मातृ शक्ति का सम्मान करने की प्रेरणा देते हुए बताया कि हमारी संस्कृति हमेशा महिलाओं को सम्मान दिया गया है, तभी को भगवान से पहले देवियों का नाम आता है, जैसे राधा-कृष्ण, सीता-राम, गौरी-शंकर आदि। यजमान दंपती बालूराम सुथार सहित मोहननाथ सिद्ध, पूनमचंद शर्मा, सवाईसिंह, गोदूराम, निराणनाथ, भंवरनाथ, खींवाराम, किसनाराम कालेर बिरमाराम, किसनाराम राहड़, परमाराम आदि उपस्थित श्रद्धालुओं ने पूजन किया।

जसनाथ महाराज मंदिर में कलश यात्रा के साथ भागवत कथा का शुभारंभ
सांडवा. जसनाथ महाराज के मंदिर में गुरुवार को कलश यात्रा के साथ भागवत कथा का शुभारंभ हुआ। श्रीराम मंदिर से शुरू हुई कलश यात्रा बस स्टैंड, देरासरी मोहल्ला, ओसवाल मोहल्ला, मैन बाजार व सिद्ध मोहल्ला होते हुए कथास्थल जसनाथ मंदिर पहुंची। कथावाचक पं. महेश कुमार व्यास नापासर ने व्यासपीठ व भागवत कथा का पूजन करवाकर कथा का शुभारंभ किया। कथा में पहुंचे सामाजिक न्याय एवं आपदा प्रबंधक मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा कि कतरियासर धाम सहित अन्य स्थानों पर अंगारों पर नृत्य करने वाले कलाकारों पर जसनाथ महाराज का आशीर्वाद बना हुआ है, इसलिए आज तक उन्हें अंगारों से नुकसान नहीं हुआ। सिद्ध संप्रदाय में कोई नशा नहीं करता है। समाज की इस खूबी से अन्य समाजों को भी प्रेरणा लेनी चाहिए। आयोजन समिति की ओर से अतिथियों का माल्यार्पण कर व दुपट्टा पहनाकर स्वागत किया गया। आयोजन के तहत 13 मार्च तक प्रतिदिन सुबह 11 से दोपहर चार बजे तक कथा का वाचन होगा तथा 12 मार्च की रात को जागरण लगाया जाएगा। 13 मार्च को कथा समापन पर जसनाथ महाराज व शक्ति दादी की मूर्ति का अनावरण महंत मोहननाथ के सानिध्य में होगा। इस मौके पर देहात कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष विद्याधर बेनीवाल, सुजानगढ़ प्रधान गणेश ढाका, उपप्रधान दीवानसिंह भानिसरिया, पूर्व जिला प्रमुख डॉ. बनारसी मेघवाल, चुनाव संयोजक राधेश्याम अग्रवाल आदि सहित श्रद्धालु भी उपस्थित थे।

पीचकराईताल में भागवत कथा का शुभारंभ : उदासर. गांव पीचकराई ताल के खोजेर तेजूपीर धाम में सात दिवसीय भागवत कथा का शुभारंभ गुरुवार को कलश यात्रा के साथ हुआ। कथावाचक आत्माराम महाराज ने पहले दिन कथा श्रवण के महत्व की जानकारी देते हुए कहा कि भागवत कथा में मनुष्य की हर समस्या का समाधान मिल जाता है। भागवत कथा बताती है कि इस सृष्टि का संचालन करता वह परमपिता परमात्मा है तथा उसकी इच्छा के बिना इस दुनिया में कुछ भी नहीं हो सकता। इस मौके पर इस मौके पर तेजूवीर समिति के भादरराम सिंवर, परमहंस सिंवर, काशीराम,हंसराज, रामलाल सहित श्रद्धालुओं ने पूजन किया।

संत निरंकारी मंडल की ओर से हुआ महिला संत समागम
सरदारशहर. संत निरंकारी मंडल शाखा की ओर से रेलवे स्टेशन स्थित हरचंदानी कॉलोनी में मंगलवार को महिला संत समागम कार्यक्रम हुआ। इस मौके पर डॉ. कंचन शर्मा ने भारतीय आध्यात्मिकता में महिलाओं के योगदान की जानकारी दी। शर्मा ने कहा कि आध्यात्मिक प्रेम से रहने व भ्रमों से ऊपर उठकर जीवन जीने की कला है। इस मौके पर फ्रांस से पधारी डाॅ. दूजोल टरेस, सीमा शर्मा, सीमा रामनगर, सुशीला हरचंदानी, रेखा हरचंदानी, प्रेमलता, सुशीला शर्मा ज्ञान प्रचारक, चंदा, शारदा, प्रभाती ने विचार व गीत प्रस्तुत किए। संचालन अंजना हरचंदानी ने किया।

सादुलपुर. रामपुरा में भगवान जगन्नाथ मंदिर की नींव रखते अतिथि।

सांडवा. कथा के शुभारंभ पर जसनाथ मंदिर से निकाली कलश यात्रा में शामिल श्रद्धालु।

रामपुरा में भगवान जगन्नाथ मंदिर का शिलान्यास किया
सादुलपुर. गांव रामपुरा में गुरुवार शाम को भगवान जगन्नाथ के मंदिर का शिलान्यास किया गया। धर्म प्रचार संस्था इस्कॉन के प्रतिनिधियों ने शिलान्यास किया। इस मौके पर इस्कॉन बर्मिघम ब्रिटेन के निताई चरणदास ने कहा कि आज विश्व के सभी देशों में मंदिर है। अफ्रीका में 20 हजार मंदिर है। अमेरिका में भी है। फिर भी हम हिंदूत्व को छोड़कर दूसरे मतों की ओर जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि रामपुरा में भी भगवान जगन्नाथ की यात्रा निकाली जाएगी। इस्कॉन रीजनल सेक्रेटरी पंच रतनदास ने कहा कि सनातन धर्म नहीं, यह एक जीवन पद्धति है। हमारा मिशन सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार करना है। संत शांतदर्शी ने कहा कि भगवान से हम संबंध बनाएंगे, तभी अपने उद्देश्यों में सफल होंगे। मुख्य अतिथि डॉ. हरिराम रोहिला ने बताया कि रामपुरा में मंदिर बनने से ग्रामीणों को सतकर्म की शिक्षा मिलेगी। राशन डीलर एसोसिएशन अध्यक्ष अनिल बंसल, डॉ. हरिशरण शांडिल्य, रामावतार बैरासरिया, एडवोकेट मुकेश शर्मा, उपेंद्र पांडिया, राजकुमार मरोदिया, पूर्व सरपंच गजेसिंह शेखावत ने भी विचार व्यक्त किए। संचालन डॉ. योगेंद्रसिंह राठौड़ ने किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें