पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Churu News Rajasthan News Sujangarh Prisoner Lodged In Udaipur Jail Hanged In Jail On The Second Day Of Sentencing His Life Sentence

उदयपुर जेल में बंद सुजानगढ़ के कैदी ने उम्रकैद की सजा सुनाने के दूसरे दिन जेल में लगाया फंदा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

दो साल की बेटी को फांसी पर लटकाकर मारने के मामले में उदयपुर जेल में बंद सुजानगढ़ के एक कैदी ने आजीवन कारावास की सजा मिलने के दूसरे ही दिन शुक्रवार शाम सेंट्रल जेल में फांसी लगा आत्महत्या कर ली। उदयपुर में किराए के मकान में रहने वाले सुजानगढ़ के रामनिवास पुत्र भंवरलाल गुर्जर को प|ी पर शक के चलते दो साल की बेटी की हत्या के मामले में गुरुवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।

सूरजपोल थानाधिकारी रामसुमेर के अनुसार शाम को जेल बंद होने के बाद कैदियों की गिनती की जा रही थी। एक कैदी कम पाकर जेल के प्रहरियों और स्टाफ ने
तलाश शुरू की। परिसर की
उद्योग शाला के पास टॉयलेट में देखा, तो रामनिवास रोशनदान से बंधे शॉल के लंबे टुकड़े से बने फांसी के फंदे पर मृत अवस्था में लटका हुआ मिला।

पुलिस के मुताबिक कोर्ट के फैसले के बाद से रामनिवास गुमसुम था। आत्महत्या की सूचना पर कोर्ट से जज भी सेंट्रल जेल पहुंचे। सूरजपोल पुलिस भी मौके पर आई। पुलिस ने शनिवार को मृतक का पोस्टमार्टम करवाया। जानकारी के अनुसार गुरुवार को एडीजे-4 कोर्ट ने रामनिवास गुर्जर काे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। मामले के अनुसार शहर के मंडी की नाल स्थित जाेगपाेल (धानमंडी) में किराए पर रामनिवास निवासी नयाबास, सुजानगढ़ को प|ी पर शक होने लगा। इसी झगड़े में उसने दाे साल की बेटी को 13 अक्टूबर, 2015 काे घर के बाहर रेलिंग पर फांसी के फंदे पर लटकाकर मार डाला था। काेर्ट ने उसे दोषी मानते हुए कहा था कि अभियुक्त ने एेसा अपराध किया, जाे एक पिता के लिए कलंक है।

बेटी की हत्या के बाद पत्र में लिखा था, मुझे मेरे किए की सजा मिलेगी

बेटी की हत्या के बाद रामनिवास ने पत्र में लिखा था जाे मैं अाज करने जा रहा हूं, उसका फल जरूर मिलेगा। अाज मैंने उस सच्चाई का पता लगा लिया, जिसके लिए मैं इस शहर में अाया था। इसके बाद उसने प|ी के चरित्र काे लेकर लिखा था। पत्र की फोरेंसिक जांच अाैर लिखावट के नमूने में समानता मिलने पर ही कोर्ट ने रामनिवास को दोषी माना था। मामले के अनुसार बच्ची की मां हेमलता ने पुलिस रिपोर्ट में बताया था उसने रामनिवास से काेर्ट मैरिज की। तीन साल ससुराल सुजानगढ़ में रहे, फिर उदयपुर में किराए पर रहने लगे। रामनिवास छाेटी-छाेटी बाताें पर बेटी ध्रुवी काे मारने की धमकी देता था। घटना की रात उसका पति ध्रुवी काे गांव ले जाना बताकर निकला था। अाधे घंटे बाद लौटा, लेकिन ध्रुवी साथ नहीं थी। पूछने पर मारपीट कर वापस चला गया। सुबह पड़ाेसियाें का फाेन अाया कि बेटी का शव रेलिंग पर लटका है।

रामनिवास
खबरें और भी हैं...