• Hindi News
  • Rajasthan
  • Churu
  • Churu News rajasthan news teams have been searching for 4 hours of footprint in search of another who registered an fir on secretly burying the panther

पैंथर को गुपचुप दफनाने वालों पर प्राथमिकी दर्ज दूसरे की तलाश में 4 घंटे पदचिह्न ढूंढती रही टीमें

Churu News - सांडवा के ज्याक गांव में मारकर दफनाए गए पैंथर को निकालकर वन विभाग व पुलिस की टीम ने बुधवार को पोस्टमार्टम करवाया।...

Jan 16, 2020, 07:55 AM IST
Churu News - rajasthan news teams have been searching for 4 hours of footprint in search of another who registered an fir on secretly burying the panther
सांडवा के ज्याक गांव में मारकर दफनाए गए पैंथर को निकालकर वन विभाग व पुलिस की टीम ने बुधवार को पोस्टमार्टम करवाया। मंगलवार को कुछ लोगों पर हमला करने के बाद पैंथर को मारकर दफना दिया था। वन विभाग ने पैंथर को मारने के बाद गुपचुप दफनाने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जांच क्षेत्रीय वन अधिकारी मोहनलाल मीणा को सौंपी है।

ग्रामीणों के मुताबिक मंगलवार को पैंथर ने किसानों पर हमला किया। बचाव करते हुए कुछ लोगों ने पैंथर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। पैंथर की मौत के बाद कुछ युवकों ने उसे दो खेतों की सींव के बीच गड‌्ढ़ा खोदकर गुपचुप रूप से दफना दिया। इसका वीडियो वायरल होने से पूरे मामले की कलई खुल गई। सूचना के बाद वन विभाग व पुलिस महकमा अलर्ट हुआ। दफनाए गए स्थान को चिह्नित कर पहरा लगा दिया। सुबह वन विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी पशु चिकित्सकों की टीम से पैंैथर का पोस्टमार्टम करवाकर उसका तालछापर में अंतिम संस्कार किया गया। पोस्टमार्टम टीम में पशु चिकित्सक जीवराजसिंह, डॉ. प्रदीप सोनी, डॉ. कपिलकुमार चौधरी शामिल थे। इस दौरान सांडवा थानाधिकारी इंद्रलाल शर्मा, वनविभाग के रेंजर मोहनलाल, वन्य जीव तालछापर क्षेत्रीय वन अधिकारी योगेंद्रसिंह क्षेत्रीय वन अधिकारी मोहनलाल मीणा, मोहनलाल मारू, राकेश बिश्नोई मौजूद थे। करीब 12 बजे चूरू से रेंजर शंकरलाल सोनी, सहायक वन संरक्षक राकेश दुलार व डीएफओ बीएल शर्मा पहुंच गए। इधर, पैंथर के हमले में ज्याक गांव के मोहनलाल ढाका व रामदेव ढाका घायल हो गए, जिन्हें लाडनूं के अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद छुट‌्टी दे दी गई।

ज्याक में 3 लोगों पर हमले के बाद पैंथर को मारकर दफनाने का मामला

जमीन से पैंथर का शव निकाल पोस्टमार्टम कराया, तालछापर में अंतिम संस्कार

सांडवा. पैंथर के शव को जमीन से बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए ले जाते कर्मचारी।

पैंथर के हमले से घायल रामदेव।

पैंथर के पदचिह्न मिले लेकिन पुष्टि नहीं हुई काैनसे के हैं

वन विभाग की टीम के ज्याक पहुंचने पर ग्रामीणों ने उन्हें एक और पैंथर के हाेने की सूचना दी, जिस पर सहायक वन संरक्षक राकेश दुलार, क्षेत्रीय वन अधिकारी मोहनलाल मीणा के नेतृत्व में टीम ने करीब चार घंटे तक पद चिह्नों के आधार पर पैंैथर की तलाश की, मगर वह नहीं मिला। गांव के पूर्णाराम मेघवाल ने बताया कि अभी कुछ देर पहले उन्होंने एक जिंदा पैंथर देखा है और उसने विभाग के अधिकारियों को पैंथर के पैरों के निशान दिखाए। अधिकारियों ने कहा कि पदचिह्न तो पैंथर के ही हैं, मगर पुष्टि नहीं कर पाए कि एक और पैंथर जिंदा है। डीएफओ ने बचाव में पैंथर को मारने के बाद इसकी सूचना विभाग को नहीं देने व गुपचुप दफनाने के मामले को वन्य जीव अधिनियम का उल्लंघन मानते हुए क्षेत्रीय वन अधिकारी को प्राथमिकी दर्ज करने को कहा है। मामले की जांच क्षेत्रीय वन अधिकारी को सौंपी है, जबकि इस मामले में वन विभाग की लापरवाही व पूरे मामले की रिपोर्ट एसीएफ राकेश दुलार को सौंपी है।


भास्कर न्यूज | सांडवा/चूरू

सांडवा के ज्याक गांव में मारकर दफनाए गए पैंथर को निकालकर वन विभाग व पुलिस की टीम ने बुधवार को पोस्टमार्टम करवाया। मंगलवार को कुछ लोगों पर हमला करने के बाद पैंथर को मारकर दफना दिया था। वन विभाग ने पैंथर को मारने के बाद गुपचुप दफनाने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जांच क्षेत्रीय वन अधिकारी मोहनलाल मीणा को सौंपी है।

ग्रामीणों के मुताबिक मंगलवार को पैंथर ने किसानों पर हमला किया। बचाव करते हुए कुछ लोगों ने पैंथर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। पैंथर की मौत के बाद कुछ युवकों ने उसे दो खेतों की सींव के बीच गड‌्ढ़ा खोदकर गुपचुप रूप से दफना दिया। इसका वीडियो वायरल होने से पूरे मामले की कलई खुल गई। सूचना के बाद वन विभाग व पुलिस महकमा अलर्ट हुआ। दफनाए गए स्थान को चिह्नित कर पहरा लगा दिया। सुबह वन विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी पशु चिकित्सकों की टीम से पैंैथर का पोस्टमार्टम करवाकर उसका तालछापर में अंतिम संस्कार किया गया। पोस्टमार्टम टीम में पशु चिकित्सक जीवराजसिंह, डॉ. प्रदीप सोनी, डॉ. कपिलकुमार चौधरी शामिल थे। इस दौरान सांडवा थानाधिकारी इंद्रलाल शर्मा, वनविभाग के रेंजर मोहनलाल, वन्य जीव तालछापर क्षेत्रीय वन अधिकारी योगेंद्रसिंह क्षेत्रीय वन अधिकारी मोहनलाल मीणा, मोहनलाल मारू, राकेश बिश्नोई मौजूद थे। करीब 12 बजे चूरू से रेंजर शंकरलाल सोनी, सहायक वन संरक्षक राकेश दुलार व डीएफओ बीएल शर्मा पहुंच गए। इधर, पैंथर के हमले में ज्याक गांव के मोहनलाल ढाका व रामदेव ढाका घायल हो गए, जिन्हें लाडनूं के अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद छुट‌्टी दे दी गई।

हमले से घायल मोहनराम ढाका।

Churu News - rajasthan news teams have been searching for 4 hours of footprint in search of another who registered an fir on secretly burying the panther
Churu News - rajasthan news teams have been searching for 4 hours of footprint in search of another who registered an fir on secretly burying the panther
X
Churu News - rajasthan news teams have been searching for 4 hours of footprint in search of another who registered an fir on secretly burying the panther
Churu News - rajasthan news teams have been searching for 4 hours of footprint in search of another who registered an fir on secretly burying the panther
Churu News - rajasthan news teams have been searching for 4 hours of footprint in search of another who registered an fir on secretly burying the panther
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना