रामकथा मानव कल्याण का मार्ग बताती है और सद्‌विचारों से रूबरू करवाती है / रामकथा मानव कल्याण का मार्ग बताती है और सद्‌विचारों से रूबरू करवाती है

Churu News - गोशाला में गोपाष्टमी पर्व के अवसर पर चल रही राम कथा के दूसरे दिन शनिवार को कथा वाचक ने रामचरित्र मानस पर विस्तार से...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2018, 09:00 AM IST
Sadulpur - ramakatha tells the path of human welfare and persuades the thoughts of the thoughts
गोशाला में गोपाष्टमी पर्व के अवसर पर चल रही राम कथा के दूसरे दिन शनिवार को कथा वाचक ने रामचरित्र मानस पर विस्तार से प्रकाश डाला। कथा वाचक गिरधर महाराज ने कहा कि राम कथा मानव कल्याण का मार्ग प्रशस्त करने के साथ-साथ जन्म-मरण की मुक्ति का मार्ग भी बताती है।

कथा के सुनने से बुद्धि व विचारों में परिवर्तन होता है तथा आपसी कटुता समाप्त होकर हृदय में प्रेम भाव जागृत हो जाता है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति का कल्याण उसकी मानवता पर ही निर्भर होता है, लेकिन मानवता क्या है इस प्रश्न पर समाज भटकता जा रहा है। लेकिन इस समस्या का समाधान एकमात्र राम कथा ही है। सत्संग को जीवन में जरूरी बताते हुए महाराज ने कहा कि सदविचारों का मन में समावेश होता है, जो व्यक्ति को कल्याण की ओर अग्रसर करता है। रामचरित मानस पर बोलते हुए कहा कि यह धार्मिक ग्रंथ के साथ-साथ सामाजिक ग्रंथ भी है। इसका उद्देश्य समरसता को कायम करना ही है। भगवान श्रीराम एक ऐसे समाज की स्थापना करना चाहते हैं कि जिससे कोई भी व्यक्ति बड़ा या छोटा नहीं हो। कथा के प्रारंभ में चेतन माली दंपती ने व्यासपीठ की पूजा-अर्चना की। इस मौके पर आनंद मंत्री बहादुरसिंह, हनुमान सोनी, नारायण शर्मा, मुकेश जोशी, नीतेश हर्षवाल सहित कई लोग उपस्थित थे।

हमें धर्म की रक्षा करनी होगी, तभी धर्म हमारी रक्षा करेगा : पांडिया

सादुलपुर. कस्बे के लुहारीवाला मंदिर में अत्रि परिवार की ओर से चल रही “नानी बाई रो मायरो’ कथा के दूसरे दिन गायकार व कथावाचक उपेंद्र पांडिया ने बताया कि भगवान कभी भक्त पर कर्जा नहीं रखते। जिस प्रकार भक्त नरसी ने चौदह करोड़ की संपत्ति संतों में लुटाई तो सावंरिया ने चौगुना करके छप्पन करोड़ का मायरा भर दिया। दूसरे दिन थानमठुई के महंत निर्मलनाथ व संतोषनाथ आश्रम के महंत संजयनाथ के सानिध्य कथा का आयोजन हुआ।

सरदारशहर में श्याम अखंड ज्योत का आयोजन

सरदारशहर. जम्मड़ा कुआं के पास स्थित प्राचीन ठाकुरजी मंदिर में चल रहे संगीतमय श्याम अखंड ज्योत पाठ में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। कार्यक्रम का शुभारंभ बाबा श्याम की अखंड ज्योत व पूजा से हुआ। इस दौरान बाबा श्याम का शृंगार किया और कलाकारों ने बाबा श्याम का अखंड ज्योत का पाठ किया। कार्यक्रम में श्यामसुंदर जोशी, कमलाप्रसाद जोशी, डालचंद जोशी, सत्यनारायण, गौरीशंकर, नंदकिशोर जोशी, सीताराम दर्जी, हनुमानमल नाहटा, चंद्रप्रकाश लाटा व सुशील कुमार ने पाठ का रसास्वादन लिया।

सांडशाला में गोपाष्टमी पर होगा सांड पूजन कार्यक्रम

चूरू. जिला मुख्यालय पर मनाेरंजन क्लब के पास स्थित सांडशाला में गोपाष्टमी पर 16 नवंबर को सांड पूजन व जागरण कार्यक्रम होगा। सांडशाला समिति के अध्यक्ष केशरदेव आर्य ने बताया कि गोपाष्टमी को सुबह से सांड पूजन का कार्यक्रम होगा। रात को जागरण कार्यक्रम होगा। आयोजन को लेकर हुई बैठक में मंत्री संपतकुमार जांगिड़ व कोषाध्यक्ष योगेशकुमार गौड़ ने तैयारियों की समीक्षा की।

X
Sadulpur - ramakatha tells the path of human welfare and persuades the thoughts of the thoughts
COMMENT