• Home
  • Rajasthan News
  • Churu News
  • Churu - पोषण अभियान में एएनएम, आशा व कार्यकर्ता की भूमिका महत्वपूर्ण
--Advertisement--

पोषण अभियान में एएनएम, आशा व कार्यकर्ता की भूमिका महत्वपूर्ण

प्रदेश में एक सितंबर से 30 सितंबर तक संचालित पोषण अभियान के तहत विभिन्न गतिविधियों में तीनों “ए” यानी एएनएम, आशा,...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:25 AM IST
प्रदेश में एक सितंबर से 30 सितंबर तक संचालित पोषण अभियान के तहत विभिन्न गतिविधियों में तीनों “ए” यानी एएनएम, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। फील्ड स्तर पर कार्यरत ये तीनों स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को मिलकर पोषण माह के साथ मातृ, शिशु, स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस (एमसीएचएन-डे) पर बेहतर तालमेल के साथ प्रसव पूर्व देखभाल, टीकाकरण व नवजात स्वास्थ्य देखभाल सेवायें प्रदान करने के निर्देश दिए। अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वीनू गुप्ता ने मंगलवार को वीसी के माध्यम से पोषण माह में संचालित गतिविधियों की समीक्षा करते हुए प्रदेश के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों, जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने पोषण माह अभियान में सभी आशा सहयोगिनियों को घर-घर जाकर कुपोषित बच्चों की स्क्रीनिंग कर संबंधित कुपोषण उपचार केंद्रों पर रैफर करने के निर्देश दिये। पोषण माह के अंतिम सप्ताह में 11 से 19 वर्ष तक के किशोर-किशोरियों में खून की कमी की जांच लैब टेक्नीशियन के द्वारा की जाएगी। साथ ही एनीमिया ग्रसित को आईएफए की गोलियां निशुल्क उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने चिकित्सा केंद्रों पर कार्यरत एडोलसेंट काउंसलर्स को स्कूलों में जाकर किशोर-किशोरियों के साथ परामर्श शिविर करने के भी निर्देश दिए।