• Hindi News
  • Rajasthan
  • Churu
  • Viran - tromba center was inaugurated in ratangarh five years ago but not being able to get the help of doctors and staff
--Advertisement--

रतनगढ़ में 5 साल पहले ट्रोमा सेंटर का उद‌्घाटन हुआ था लेकिन डॉक्टर व स्टाफ नहीं होने से नहीं मिल रहा फायदा

लाखों रुपए की लागत से आज से करीब पांच वर्ष पूर्व सरकारी अस्पताल के पीछे की तरफ बने ट्रोमा सेंटर का संचालन अब तक...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 09:40 AM IST
Viran - tromba center was inaugurated in ratangarh five years ago but not being able to get the help of doctors and staff
लाखों रुपए की लागत से आज से करीब पांच वर्ष पूर्व सरकारी अस्पताल के पीछे की तरफ बने ट्रोमा सेंटर का संचालन अब तक डॉक्टरों के खाली पदों व अन्य व्यवस्थाओं के अभाव में शुरू नहीं हो पाया है। स्टाफ नहीं लगाए जाने के कारण लाखों रुपए की लागत से बना भवन व उपकरण भी नकारा साबित हो रहे हैं।

भवन के निर्माण पर 76 लाख 37 हजार रुपए खर्च हुए थे तथा पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 27 मई 2013 को इसका उद्घाटन किया था। उद्घाटन से लेकर आज तक ट्रोमा सेंटर वीरानी की चादर ओढ़े हुए है। क्षेत्र से निकलने वाले दो हाईवे के चलते सड़क दुर्घटनाएं भी होती रहती हंै, मगर ट्रोमा सेंटर शुरू नहीं होने के चलते घायलों को अस्पताल में ही भर्ती करना पड़ता है तथा अधिकांश बार मजबूरी में रैफर करना पड़ता है। दुर्घटनाओं में घायल होने वाले लोगों के जीवन की सुरक्षा के लिए ट्रोमा सेंटर का संचालन बहुत जरूरी है। मगर 24 घंटे सेवा देने का दम भरने वाला यह ट्रोमा सेंटर खाली पद तथा दवा केंद्र, लेबोरेट्री, एक्सरे के अभाव में दम तोड़ चुका है। उद्घाटन होने के बाद से आज तक इसका कोई लाभ नहीं मिल पाया है।

उपकरणों पर जम रही है धूल, हुई चोरी : ट्रोमा सेंटर में स्थापित उपकरणों पर धूल जम रही है। एक एक्स-रे मशीन, एक ऑटो क्लेव, ओटी लाइट, 14 बैड व 14 सीरिंज इन्फ्यूजन पंप पर धूल जम रही है। लाखों रुपए का भवन एवं आदि उपकरण बिना स्टाफ के कोई काम नहीं आ रहे है। वहीं 18 मार्च 2015 को अज्ञात चोर ने ट्रोमा सेंटर में नल व वॉल की चोरी भी कर ली थी। इस घटना की पुलिस में भी रिपोर्ट दी गई थी। अस्पताल प्रशासन ने उक्त व्यवस्था पुन: दुरूस्त करवा दी, लेकिन ट्रोमा सेंटर अभी तक शुरू नहीं हुआ।

रतनगढ़. अस्पताल परिसर में बंद पड़ा ट्रोमा सेंटर।

हकीकत : घायलों के उपचार के लिए नहीं शिविर लगाने के काम लिया जा रहा है सेंटर

गत दिनों राज्य सरकार की ओर से चलाए गए अभियान के तहत ट्रोमा सेंटर में डोडा-पोस्त नशा मुक्ति शिविर लगाए जा चुके हैं। इसके अलावा सरकारी स्तर पर अस्पताल प्रशासन की होने वाली बैठकें भी इस सेंटर में होती है। उस दरमियान ही लोगों को ट्रोमा सेंटर में चहल-पहल देखने को मिलती है, जबकि उद्घाटन से लेकर वर्तमान तक ट्रोमा सेंटर वीरान ही पड़ा है।

मुख्यमंत्री ने भी दिए थे निर्देश

मुख्यमंत्री वसुंधराराजे ने सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत 28 मई 2014 को ट्रोमा सेंटर का निरीक्षण किया तथा शीघ्र ही शुरू करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए थे। उस वक्त सीएमएचओ व पीएमओ से राजे ने कहा कि ट्रोमा सेंटर शीघ्र शुरू किया जाए, ताकि लोगों को इसका लाभ मिल सके। लेकिन कुछ नहीं हुआ।


X
Viran - tromba center was inaugurated in ratangarh five years ago but not being able to get the help of doctors and staff
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..