Hindi News »Rajasthan »Dausa» राणोली में 5 माह से पानी की समस्या से त्रस्त महिलाओं ने लगाया जाम

राणोली में 5 माह से पानी की समस्या से त्रस्त महिलाओं ने लगाया जाम

दौसा ग्रामीण. पंचायत राणोली मुख्यालय पर पेयजल समस्या से त्रस्त महिलाओं ने सोमवार को पानी के लिए दौसा-बहरावंडा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:05 AM IST

राणोली में 5 माह से पानी की समस्या से त्रस्त महिलाओं ने लगाया जाम
दौसा ग्रामीण. पंचायत राणोली मुख्यालय पर पेयजल समस्या से त्रस्त महिलाओं ने सोमवार को पानी के लिए दौसा-बहरावंडा मार्ग पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया।

भास्कर न्यूज | दौसा ग्रामीण

पंचायत राणोली मुख्यालय पर पांच माह से पीने के पानी की समस्या से त्रस्त ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। लोगों ने खाली बर्तन रखकर व महिलाओं ने मानव श्रंखला बनाकर दौसा-बहरावंडा मार्ग पर जाम लगाकर पंचायत प्रशासन व जलदाय विभाग के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। इससे मार्ग पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई।

पुलिस ने की समझाइश : जाम की सूचना मिलते ही राणोली चौकी प्रभारी रघुवीरसिंह मय जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे तथा मार्ग पर जाम लगाकर बैठे लोगों को समझाइश कर जाम खुलाने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण मौके पर एसडीएम एवं सरपंच को बुलाए जाने के बाद ही जाम हटाने जाने की मांग पर अड़ गए। इस दौरान जिसप हीरालाल सैनी, वार्ड पंच नंदसिंह राजपूत, मामराज गुर्जर, रघुवीर गुर्जर सहित अन्य जनप्रतिनिधि मौके पर पहुंचे तथा तीन दिन में बकाया बिजली का जमा करवाकर एवं जली मोटरों को बदलवाकर पानी सप्लाई सुचारु कराए जाने का आश्वासन देकर जाम खुलवाया। पांच माह से हवाला ढाणी के समीप पम्प हाउस पर बने ट्यूबवैल की मोटर जली हुई है। वहीं ग्राम पंचायत प्रशासन की अनदेखी व लापरवाही के चलते ग्राम पंचायत मुख्यालय पर लाखों रुपए खर्च करके बनाई गई पानी की टंकी दो वर्ष से सूखी पड़ी हुई है। मौके पर पहुंचे पुलिस व जनप्रतिनिधियों को लोगों ने दो टूक शब्दों में कहा कि तीन दिन में समस्या का स्थायी समाधान नहीं हुआ तो मजबूरन चौथे दिन जनता को भूख हड़ताल पर बैठकर आंदोलन करना पड़ेगा।

सरपंच : बिजली निगम ने जमा राशि का भी भेज दिया बकाया, इसलिए नहीं किए साइन

जिम्मेदारों ने सरपंच पर टाला मामला

तीन दिन पहले एसडीएम ने दिए थे बिल जमा कराने के निर्देश : तीन दिन पहले ग्रामीणों की शिकायत को गंभीरता से लेकर एसडीएम सिकराय अशोक कुमार त्यागी ने सचिव रामचन्द्र सैनी को बकाया बिलों की राशि के चेक बनाकर बिजली निगम कार्यालय में जमा कराने के निर्देश दिए थे। सचिव में डेढ़ लाख रुपए के चेक बनाकर सरपंच को हस्ताक्षर करने के लिए भी दे दिए लेकिन सरपंच ने चेक पर हस्ताक्षर नहीं किए।

बिजली निगम ने जमा बिल का भेज दिया बकाया

एक लाख का भुगतान पंचायत ने नवंबर माह में कर दिया था। बिजली निगम ने अभी 2.63 लाख बकाया निकालकर बिल सौंपा है। सचिव ने डेढ़ लाख का चेक बनकार हस्ताक्षर के लिए दिए थे, लेकिन मैंने बिजली एईएन को पूर्व में जमा कराए पैसे काटकर देने के लिए कहा था। उन्होंने पूर्व में जमा कराई राशि कम नहीं की। इसके चलते मैंने चेक पर हस्ताक्षर करने से मना कर दिया। सरपंच राजेंद्र खटीक

सचिव ने बना दिए थे चेक : एसडीएम अशोक कुमार त्यागी का कहना है कि तीन दिन पहले सचिव को चेक बनाकर जमा कराने के निर्देश दिए थे सचिव ने चेक भी बना दिया था लेकिन सरपंच ने हस्ताक्षर नहीं किए थे। उसके बाद मैंने सचिव को चेक लाने व बीडीओ के हस्ताक्षर कराने की बात कही थी। तुरंत बकाया राशि का भुगतान करवाकर व खराब मोटर बदलवाकर पानी सप्लाई दुरुस्त कराई जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dausa

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×