• Home
  • Rajasthan News
  • Dausa News
  • सैंथल मोड़ पर विधायक ने किया जल मंदिर का शुभारंभ
--Advertisement--

सैंथल मोड़ पर विधायक ने किया जल मंदिर का शुभारंभ

सैंथल मोड़ स्थित दुर्गा मंदिर के पास विधायक शंकर लाल शर्मा ने खड़ेश्वर महाराज, नगर परिषद सभापति मुरली मनोहर शर्मा...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:05 AM IST
सैंथल मोड़ स्थित दुर्गा मंदिर के पास विधायक शंकर लाल शर्मा ने खड़ेश्वर महाराज, नगर परिषद सभापति मुरली मनोहर शर्मा व गेटोलाव धाम के महाराज किशन की मौजूदगी में जल मंदिर का शुभारंभ किया।

जल मंदिर से माता के भक्तों और आस-पास के लोगों के साथ बापी व मोड़ा बालाजी की ओर से जाने वाले लोगों को जल सेवा की सुविधा मिलेगी। जल मंदिर पर 5 हजार लीटर पानी टंकी रखी गई है, जहां 5 टोंटियां लगाई हैं।

रमसा एडीपीसी सुशील शर्मा द्वारा संचालित लक्ष्मी जन सेवा संस्था की ओर से यह शहर में सातवां जल मंदिर है। एडीपीसी शर्मा ने अपने पिता लक्ष्मी नारायण शर्मा (एसडीआई) की स्मृति में जल मंदिर का निर्माण कराया है, जिसका रविवार को विधायक शंकर लाल शर्मा ने लोकार्पण किया। इस मौके पर विधायक शंकर लाल शर्मा ने एडीपीसी सुशील शर्मा के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपना धर्म समझते हुए इस तरह के सेवा कार्य करने चाहिए। जल मंदिर का निर्माण कराना सराहनीय व प्रशंसनीय कार्य है।

विधायक शर्मा ने कहा कि कुछ लोगों की सोच होती है कि वे बड़े-बड़े कार्यों में चंदा दें या काम कराएं, जिससे वे मीडिया में छाए रहें। लेकिन आम से खास लोगों की सुविधा के लिए काम करना और सहयोग करना सबसे बड़ी बात होती है। कुछ लोग क्रिकेट के उद्घाटन या दूसरी प्रतियोगिताओं में एक-दो लाख रुपए देकर वाहवाही लूटने की कोशिश करते हैं, जबकि जनहित के काम में एक-दो हजार रुपए देने की बात आती है तो वहीं लोग पीछे हट जाते हैं।

विधायक शर्मा ने बापी स्कूल के एक होनहार छात्र को गोद लेने के मामले में भी एडीपीसी शर्मा की प्रशंसा की और लोगों को इसी तरह के कार्यों के लिए प्रेरित किया। इसी कड़ी में एडीपीसी सुशील कुमार शर्मा ने कहा कि धन की तीन गति होती है। सदुपयोग, दान और तीसरी गति नष्ट होना है। यानी सदुपयोग और दान नहीं किया तो धन बेकार है। इसलिए आम से खास सभी लोगों को अपने सामर्थ्य के हिसाब से जनहित के कार्य कराने के लिए तत्पर रहना चाहिए।

इस मौके पर घनश्याम मेठी, जंसी राम मीणा, ऋषभ शर्मा, एडवोकेट इब्राहिम, राधेश्याम, गुलाब, लल्लू टोरड़ा, वैद्य राजेश, घनश्याम शर्मा आदि गणमान्य लोग मौजूद थे।

विदित रहे कि एडीपीसी सुशील शर्मा लक्ष्मी जन सेवा संस्थान की ओर अपने पिता लक्ष्मी नारायण व माता सरयू देवी की स्मृति में इससे पहले छह जगह जिला चिकित्सालय के पीछे मुक्ति धाम, नेहरू गार्डन, संस्कृत कालेज, राजेश पायलट स्टेडियम के पास स्काउट गाइड के ऑफिस के बाहर, गेटोलाव धाम, एवीएम गुप्तेश्वर रोड पर जल मंदिर बनवा चुके हैं। सैंथल मोड़ दुर्गा मंदिर के पास यह सातवां जल मंदिर है, जिसका हाल ही में निर्माण कार्य पूरा हुआ था। लोकार्पण के बाद जल मंदिर शुरू होने से रोजाना हजारों लोगों को जल सेवा का लाभ मिलेगा।

दौसा. दुर्गा मंदिर पर जल मंदिर का शुभारंभ करते विधायक व संत महाराज।