• Hindi News
  • Rajasthan
  • Dausa
  • भांडारेज सीएचसी में कचरे के ढेर में मिली निशुल्क दवाइयां, जताया रोष
--Advertisement--

भांडारेज सीएचसी में कचरे के ढेर में मिली निशुल्क दवाइयां, जताया रोष

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:05 AM IST

Dausa News - दौसा ग्रामीण. सीएचसी में कचरे में पड़ी दवाएं। इंजेक्शन की बात पर नोक-झोंक हुई भास्कर न्यूज | दौसा ग्रामीण ...

भांडारेज सीएचसी में कचरे के ढेर में मिली निशुल्क दवाइयां, जताया रोष
दौसा ग्रामीण. सीएचसी में कचरे में पड़ी दवाएं।

इंजेक्शन की बात पर नोक-झोंक हुई

भास्कर न्यूज | दौसा ग्रामीण

राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय भांडारेज में दो दिन से रैबीज का टीका लगाए जाने के लिए चक्कर लगा रहे पूर्व सरपंच सहित भाजपा कार्यकर्ताओं व चिकित्साकर्मियों के बिच जमकर नोकझोंक हुई। घटना की सूचना लगते ही विरोध में भाजपा कार्यकर्ताओं की भीड़ मौके पर जमा हो गई। मौके पर ही स्टोर कीपर को बुलाकर दो दिन से चक्कर लगा रहे पूर्व सरपंच के इंजेक्शन लगाए जाने की मांग की। लेकिन मौके से बिना चिकित्सक की अनुमति बिना स्टोर कीपर लॉक लगाकर चला गया। अस्पताल पहुंचे भाजपा कार्यकर्ताओं ने चिकित्सालय की चरमराई व्यवस्था पर गहरी नाराजगी जताते हुए दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए चिकित्सा मंत्री को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की।

इंजेक्शन लगाने के लिए दो दिन से लगा रहे चक्कर

पूर्व सरपंच नारायण लाल कोली ने बताया कि 25 मार्च को कुत्ते के काटने के बाद अस्पताल में ड्रेसिंग व इंजेक्शन लगाने के लिए आया था। उस दौरान चिकित्सक ने ड्रेसिंग करके पांच इंजेक्शन लगाने के लिए पर्ची में लिख दिया था। पर्ची के बाद दो दिन तक तो कार्यरत नर्स विजयलक्ष्मी ने इंजेक्शन लगा दिए थे। लेकिन दो दिन से तीसरा इंजेक्शन लगाने के लिए अस्पताल के चक्कर लगा रहा हूं। दो दिन से स्टोर कीपर नहीं मिल रहा है।

कार्यरत चिकित्सक से स्टोर कीपर को बुलाने की बात कही तो चिकित्सक ने पहले तो कल आने की बात कही। बाद में दबाव बनाया तो अस्पताल में इंजेक्शन नहीं होने की बात कहकर दौसा जाकर इंजेक्शन लगाने के लिए बोल दिया। मुकेश बागी ने रोष जताते हुए बताया कि एक और चिकित्सक निशुल्क दवा की कमी बताकर पल्ला झाड़ रहे है। वहीं दूसरी और अस्पताल परिसर में गंदगी के ढेर के बीच अधिकारियों की अनदेखी व कर्मचारियों की लापरवाही के चलते 36 से अधिक दवा की शीशियां व गोलियों के पत्ते कचरे के ढेर में फेंक रखे थे। उन्होंने मौके पर ही कार्यरत चिकित्सक को बुलाकर कचरे के ढेर में पड़ी मुख्यमंत्री निशुल्क दवाइयों के बारे में बताया तो चिकित्सक भी दवाइयों की शीशियों व दवा के पत्तों को देखकर हतप्रभ रह गया। कार्यरत चिकित्सक जितेन्द्र शर्मा ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ता द्वारा अस्पताल परिसर में ही कमरे में कचरे के बीच पड़ी दवाइयों के बारे में जानकारी दी गई। मौके पर देखा तो 36 के करीब दवाइयों की सीरप व पत्ते पड़े मिले थे। नर्स छुट्टी पर है। कल मामले की जांच कराएंगे। ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी नरेन्द्र शर्मा का कहना है कि कचरे के ढेर में निशुल्क दवाइयां डालना गलत है। मामला मेरी जानकारी में नहीं है।

X
भांडारेज सीएचसी में कचरे के ढेर में मिली निशुल्क दवाइयां, जताया रोष
Astrology

Recommended

Click to listen..