Hindi News »Rajasthan »Dausa» पंडितपुरा में शुरू हुए शास्त्रीय संगीत दंगल में रातभर रचनाओं के चले बाण

पंडितपुरा में शुरू हुए शास्त्रीय संगीत दंगल में रातभर रचनाओं के चले बाण

बांदीकुई ग्रामीण|श्री बजरंग नवयुवक मंड़ल पंडितपुरा, हरनाथपुरा व बावल्या का बास के संयुक्त तत्वावधान में दो दिवसीय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:05 AM IST

पंडितपुरा में शुरू हुए शास्त्रीय संगीत दंगल में रातभर रचनाओं के चले बाण
बांदीकुई ग्रामीण|श्री बजरंग नवयुवक मंड़ल पंडितपुरा, हरनाथपुरा व बावल्या का बास के संयुक्त तत्वावधान में दो दिवसीय शास्त्रीय संगीत दंगल की शुरुआत शनिवार रात पंड़ितपुरा के बालाजी मंदिर पर हुई। रातभर चले दंगल में पार्टियों ने शास्त्रीय संगीत के माध्यम से श्रोताओं को देश की स्थिति, शिक्षा सहित अन्य बिंदुओं पर रचनाएं सुनाई।

रात 9 बजे से आयोजित दंगल के उद्घाटन समारोह में पूर्व मंत्री शैलेंद्र जोशी ने कहा कि भारतीय संस्कृति शास्त्रीय संगीत पर आधारित है। इस संस्कृति को बचाए रखने में पंडितपुरा के लोगों का अहम योगदान है। समारोह में जिला कांग्रेस महासचिव शेषअतवार शर्मा ने कहा कि शिक्षा, संस्कृति का प्रतीक शास्त्रीय संगीत है। इस संगीत के माध्यम से हमें हमारी संस्कृति को जानने का मौका मिलता है। उन्होंने कहा कि शास्त्रीय संगीत के माध्यम से युवाओं को संस्कारवान बनना चाहिए। समारोह में शिवचरण पटेल ने भी विचार व्यक्त किए। इस दौरान राजस्थान ब्राह्मण महासभा के देहात अध्यक्ष पंडित श्यामसुंदर जैमन, केशव दास महाराज, दयालदास महाराज, रघुवरदास महाराज, बाबूदास महाराज सहित अन्य मौजूद थे। मंडल अध्यक्ष राधारमण तिवाडी व उपाध्यक्ष राजेंद्र जाट ने अतिथियों का स्वागत किया।

रातभर रचनाएं सुनने उमडे़ लोग:दंगल की शुरुआत पंडितपुरा दंगल पार्टी ने दुर्गे तुम बिन कोई नहीं मेरो भवानी मनाकर की। इस दंगल पार्टी ने देश की बिगडती स्थित पर दीजो दीजो जी प्रभु ने संदेश पवनपुत्र रघुवर से कहना डूब चलो या देश, चुनरवा लाइयो रे बलम निराली सहित अन्य रचनाएं सुनाई। दंगल में लोटवाड़ा, कैरवावाल, सुल्तानगंज की दंगल पार्टियों ने रचनाएं सुनाई।

बांदीकुई. पंडितपुरा में शास्त्रीय संगीत दंगल का नांद बजाकर शुभारंभ करते अतिथि।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dausa

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×