--Advertisement--

अधिकारियों की अनदेखी के चलते शाम ढलते ही अंधेरे में डूब जाता है सब स्टेशन

Dausa News - भास्कर न्यूज | दौसा ग्रामीण इसे बिजली निगम के अधिकारियों की अनदेखी कहे या लापरवाही 33 के वी सब स्टेशन गढ़ को ठेके पर...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 02:50 AM IST
Dausa News - due to the ignorance of the officials the evening gets submerged in the dark the sub station
भास्कर न्यूज | दौसा ग्रामीण

इसे बिजली निगम के अधिकारियों की अनदेखी कहे या लापरवाही 33 के वी सब स्टेशन गढ़ को ठेके पर दिए जाने के बाद भी संसाधनों,मशीनों, व उपकरणों के अभाव में कर्मचारियों को जान जोखिम में डालकर काम करने को मजबूर होना पड़ रहा है। मशीनों के अभाव में एक हवा का झोंका ही घंटों सब स्टेशन की बिजली गुल कर देता है। ग्रामीणों ने बताया कि 33 केवी सब स्टेशन से करीब दो दर्जन से अधिक गांवों के लिए सात फीडरों के जरिए बिजली सप्लाई की जा रही है। लेकिन सात फीडरों के लिए अलग अलग मशीनें नहीं लगी होने के कारण एक ही ओसीबी मशीन से बिजली सप्लाई की जाती है। जिसके चलते एक भी फीडर में फाल्ट आ जाने पर सातो फीडरों की सप्लाई गुल होने का खामियाजा सब स्टेशन से जुडे़ गांवों के लोगो को अंधेरे में रहकर चुकाना पड़ता है ।

न उजाला, न ही दस्ताने और

सुरक्षा उपकरण भी नहीं

सब स्टेशन पर कार्यरत कर्मचारियों ने बताया कि बार बार अधिकारियों को अवगत कराए जाने के बाद भी विगत एक वर्ष से सब स्टेशन का मेंटीनेंस नहीं कराया जा रहा है । जिसके चलते सब स्टेशन पर बड़े बड़े पेड़ उग आए है। पेडो के झुण्डो में जहरीले सांप गोहेरा के निकलने के कारण अनहोनी घटना घटित होने का अंदेशा बना रहता है। साथ ही बारिश के मौसम में पेडो के तारों के टच हो जाने के कारण पूरी तरह से करंट लगने का खतरा बना रहता है । माचिस की तिली के उजाले में करना पड़ता है काम । कर्मचारियों ने बताया कि सब स्टेशन पर उजाले के लिए ना तो ट्यूबलाइटें है और ना ही बल्ब जिसके चलते सांय ढलते ही सब स्टेशन अंधेरे में डूब जाता है। बार बार अधिकारियों को उजाले के लिए ट्यूबलाइटें लगाए जाने की गुहार किए जाने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। मजबूरन लाइनो व फीडरों में फाल्ट आने पर रात्री को दस्ताना पेचकस व प्लास के अभाव में माचिस की तिली के उजाले में जान जोखिम में डालकर काम करने को मजबूर होना पड़ता है । उन्होंने बताया कि सब स्टेशन से गढ़ ,राणोली, गुमानपुरा पीएचईडी, के फीडरों के लिए बिजली सप्लाई होती है। लेकिन सात फीडरों के लिए अलग अलग ओसीबी मशीन नहीं होने व जीओ,डीओ खराब पड़े होने के कारण सप्लाई में खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है । वही रात्री को उजाले के अभाव अकेले सब स्टेशन पर कार्य करना मुश्किल हो रहा है।

X
Dausa News - due to the ignorance of the officials the evening gets submerged in the dark the sub station
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..