• Hindi News
  • National
  • Bandikui News Rajasthan News Doubling Work On Alwar Bandikui Rail Route Double Line Laying Work Shuru

अलवर-बांदीकुई रेल मार्ग पर दोहरीकरण का कार्य, डबल लाइन बिछाने का काम शुुरू

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | बांदीकुई ग्रामीण

आने वाले दिनों में सब कुछ ठीक ठाक चला तो जल्दी ही अलवर - बांदीकुई रेल मार्ग पर दोहरीकरण का कार्य पूरा हो जाएगा। यात्री ट्रेनों को आने जाने के लिए अलग - अलग रेल मार्ग मिलेगे। इससे ट्रेनों के क्रासिंग में खड़े रहने की समस्या का समाधान हो जाएगा। इससे यात्रियों का समय भी बर्बाद नहीं होगा।

रेलवे द्वारा जयपुर - दिल्ली रेल मार्ग का पूर्ण रुप से दोहरीकरण किया जा रहा हैा। इस रेल मार्ग पर पहले से ही जयपुर से बांदीकुई व अलवर से दिल्ली रेल मार्ग का दोहरीकरण कार्य हो चुका है। सिर्फ बांदीकुई -अलवर के बीच ही दोहरीकरण कार्य शेष रहा था। लंबे इंतजार के बाद दो साल पहले रेलवे ने 60 किलोमीटर लंबे इस मार्ग पर दोहरीकरण के लिए 281 करोड रुपए स्वीकृत कर यहां दोहरीकरण कार्य मंजूर कर दिया। इसके बाद यहां दोहरीकरण का कार्य भी चालू हो गया था। इस कार्य को रेलवे ने दो चरणों में बांट दिया। पहले चरण में अलवर से ढिगावड़ा के बीच 30 किलोमीटर के रेल मार्ग का दोहरीकरण किया गया। अब दूसरे चरण में ढिगावड़ा से बांदीकुई के बीच रेल मार्ग का दोहरीकरण किया जा रहा है। दूसरे चरण का काम इन दिनों तेजी के साथ पूरा किया जा रहा है। बांदीकुई से ढिगावड़ा के बीच मिट्टी बिछाने, समतलीकरण के कार्य पूरा होने के बाद अब इस मार्ग पर पटरी बिछाने का काम भी शुरु हो गया है। रेलवे द्वारा धौली गुमटी से गुल्लाना के बीच दोहरीकरण कार्य को लेकर पटरी बिछा दी गई है। रेल अधिकारियों ने बताया कि दूसरे चरण का काम पूरा करने के लिए दिसंबर तक का समय है लेकिन इससे पहले ही इसे पूरा कर दिया जाएगा। जल्दी ही इस पूरे मार्ग पर पटरी बिछा दी जाएगी।

जयपुर - दिल्ली रेल मार्ग पर वर्तमान में बांदीकुई से ढिगावड़ा के बीच ही सिंघल रेल मार्ग है। यात्री ट्रेनों को एक ही रेल मार्ग से आना जाना पड़ता है। इससे कई बार ट्रेनों को क्रासिंग के चक्कर में रेलवे स्टेशनों पर रोक दिया जाता है। इससे ट्रे ने निर्धारित समय पर नहीं चल पाती है और यात्री भी समय पर अपने निर्धारित स्थान तक नहीं पहुंच पाते है। लेकिन अब बांदीकुई से ढिगावड़ा तक दोहरीकरण कार्य पूरा हो जाने के बाद ट्रेनों को आने जाने के लिए अलग - अलग रेल मार्ग मिलेगा। इससे क्रासिंग की समस्या दूर हो जाएगी। ट्रे ने भी समय पर पहुंचेगी।

107 बड़े व छोटे पुलों का काम हो चुका लगभग पूरा, छोटा-मोटा काम बाकी
बांदीकुई - अलवर रेल मार्ग पर दोहरीकरण कार्य में 107 बड़े व छोटे पुलों का काम लगभग पूरा हो चुका है। रेल सूत्रों ने बताया कि कुछ जगह छोटा मोटा काम बाकी है उसे भी जल्दी ही पूरा कर लिया जाएगा।

9 रेलवे स्टेशनों का भी होगा विकास
दोहरीकरण कार्य के साथ - साथ इस रेल मार्ग पर 9 रेलवे स्टेशनों का भी विकास करवाया जाएगा। गुल्लाना, बसवा, सुरेर, राजगढ, ढिगावडा, मालाखेडा, महवा सहित 9 रेलवे स्टेशनों पर नए रुप से प्लेटफार्म, नया भवन व यात्रियों को आने जाने के लिए ओवरब्रिज का निर्माण करवाया गया है।

बांदीकुई| अलवर-बांदीकुई रेल मार्ग पर बिछाई गई डबल लाइन।

खबरें और भी हैं...