लालसोट में पेयजल आपूर्ति व्यवस्था का होगा पुर्नगठन

Dausa News - लालसोट शहर में व्याप्त पेयजल व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा की पहल पर सरकार ने 99.71...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:30 AM IST
Lalsot News - rajasthan news rehabilitation of drinking water supply system in lalsot
लालसोट शहर में व्याप्त पेयजल व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा की पहल पर सरकार ने 99.71 लाख रुपए के प्रस्ताव को मंजूरी जारी कर दी है। उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा ने बताया कि गत दिनों लालसोट कस्बे में हुई सुनवाई के दौरान शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र के वार्डों में पेयजल संकट के मुद्दे सामने आने पर जलदाय विभाग के अधिकारियों को पेयजल आपूर्ति व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए पुनर्गठन योजना के तहत प्रस्ताव बना कर भिजवाने के निर्देश दिए थे। चीफ इंजीनियर पीएचइडी द्वारा 99.71 लाख के प्रस्ताव को मंजूरी जारी कर दी है। उन्होंने बताया कि कंटीजेंसी योजना के तहत 25 लाख रुपए के प्रस्ताव को भी सरकार से मंजूरी दिलाने के लिए कलेक्टर को प्रस्ताव बनाकर भिजवाए जाने के लिए कहा है। वहीं दूसरी तरफ 30 साल पुरानी पाइप लाइनों का बदलाव किए जाने व शहर की पेयजल व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन के लिए जलदाय विभाग द्वारा भेजे गए सवा तीन करोड़ रुपए रुपए के प्रस्ताव की डीपीआर के लिए कार्यवाही शुरू की जा रही है । डीपीआर तैयार होते ही प्रस्ताव को सरकार से मंजूरी दिलाने की कार्रवाई की जाएगी ताकि 30 साल पुरानी बिछी हुई पाइप लाइनों को बदलकर शहर की बढ़ती आबादी के अनुपात में पाइप लाइनों का बिछावट करवाई जा सके। लोगों को पेयजल आपूर्ति का शत-प्रतिशत रूप से लाभ मिल सके। इधर दूसरी तरफ सहायक अभियंता निरंजन मीणा ने बताया कि इस योजना के तहत जहां जहां भी ग्रामीण वार्डों में जो सवा 8 करोड की पेयजल योजना के जुड़ाव से वंचित रह गए वार्डों को जोड़ने का काम किया जाएगा। लोगों को योजना का पूरा लाभ मिले इस वक्त लालसोट शहर को 40 लाख लीटर पानी की आपूर्ति की जा रही है। व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने का काम किया जा रहा है।

कलेक्ट्रेट पहुंचे बसवा के ग्रामीण, सीएचसी की बदहाली पर रोष जताया

दौसा| बसवा तहसील मुख्यालय पर सीएचसी में सुविधा उपलब्ध नहीं होने पर ग्रामीण बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंचे तथा विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा। उन्होंने बताया कि बसवा राज्य की सबसे बढ़ी तहसील है। कस्बे के आस पास 20 ग्राम पंचायतें आती हैं। जहां से आए दिन सीएचसी में मरीज इलाज कराने आते हैं, लेकिन सीएचसी में सुविधाएं उपलब्ध नहीं होने के कारण जनता को परेशानी का सामना करना पड़ता है। सीएचसी में स्टाफ की कमी है। सोनोग्राफी व एक्सरे मशीन भी नहीं है। ड़ॉक्टर बाजार की दवाइयां लिखते हैं। जांच भी बाहर की करानी पड़ती है। रात के समय स्टाफ अस्पताल में नहीं रहता। ज्ञापन देने वालों में रामफूल मीणा, राधेश्याम, द्वारका प्रसाद, हजारी लाल, हरचंदा मीणा सहित अनेक लोग मौजूद थे।

X
Lalsot News - rajasthan news rehabilitation of drinking water supply system in lalsot
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना