मुनियों की सीख सुनकर कैदियों की आंखों मेंे पश्चाताप के आंसू

Dausa News - राष्ट्रीय संत मुनि ज्ञानसागर महाराज व मुनि ज्ञेय सागर का शुक्रवार को जिला कारागृह में मंगल प्रवचन हुए। कार्यक्रम...

Dec 14, 2019, 08:06 AM IST
Dausa News - rajasthan news tears of remorse in the eyes of prisoners listening to the learning of sages
राष्ट्रीय संत मुनि ज्ञानसागर महाराज व मुनि ज्ञेय सागर का शुक्रवार को जिला कारागृह में मंगल प्रवचन हुए। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य प्रहरी जगदीश प्रसाद व कमलेश यादव ने देशभक्ति गीत गाकर किया। इस दौरान मुनि ज्ञान सागर ने कैदियों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत वीरों की भूमि है। यहां सुभाषचंद्र बोस, भगतसिंह जैसे देशभक्त वीर पैदा हुए हैं। जिन्होंने देश की खातिर अपना जीवन न्योछावर कर दिया।

उन्होंने कहा कि युवा अपनी शक्ति का सदुपयोग देश हित में करें, जिससे सकारात्मक सोच बनी रहे। उन्होंने शाकाहारी भोजन करने, गुटखा, शराब का सेवन नहीं करने, अन्याय, अत्याचार, भ्रष्टाचार, अनीति से दूर रहने की अपील की। कैदियों की आंखों से पश्चाताप के आंसू बह निकले। इस दौरान देवेन्द्र, रूपसिंह, हनुमान, जीतेन्द्र, कानाराम, दीवानसिंह, गोपाल सिंह, मुकेश व लालसिंह सहित कई कैदियों ने धूम्रपान व नशा व मांसाहार से दूर रहने की शपथ ली। इस दौरान जेलर रोहित कौशिक मुनियों की अगवानी की। जैन समाज के प्रवक्ता प्रतीक जैन ने बताया कि इस दौरान सभी कैदियों को जैन समाज की ओर से फल व साहित्य वितरित किए गए। कार्यक्रम का संचालन एडवोकेट सुधीर जैन ने किया। जैन समाज के द्वारा जेलर व मुख्य प्रहरियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जैन समाज के अध्यक्ष महावीर प्रसाद जैन, महामंत्री प्रवीण जैन, ताराचंद चांदराना, राजाबाबू जैन, रमेश, पंकज, धवल, कैलाश चांदवाड, अजीत चांदवाड़ मौजूद थे।

दौसा| कारागृह में जैन मुनियों के प्रवचन के दौरान उपस्थित कैदी व अन्य।

दौसा| कारागृह में प्रवचन करते मुनि महाराज।

Dausa News - rajasthan news tears of remorse in the eyes of prisoners listening to the learning of sages
X
Dausa News - rajasthan news tears of remorse in the eyes of prisoners listening to the learning of sages
Dausa News - rajasthan news tears of remorse in the eyes of prisoners listening to the learning of sages
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना