गुरु पूर्णिमा पर 140 साल बाद ग्रहण का योग

Dausa News - खंडग्रास चंद्रग्रहण 16 व 17 जुलाई की मध्यरात्रि में समस्त भारत में दिखाई देगा। ग्रहण का सूतक 16 को शाम 4:31 बजे से शुरू...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:00 AM IST
Dausa News - rajasthan news the sum of the eclipse after 140 years on guru purnima
खंडग्रास चंद्रग्रहण 16 व 17 जुलाई की मध्यरात्रि में समस्त भारत में दिखाई देगा। ग्रहण का सूतक 16 को शाम 4:31 बजे से शुरू होगा।

पं. कांता प्रसाद महेश्वरा ने बताया कि मध्यरात्रि के बाद 1.31 बजे ग्रहण शुरू होगा तथा 17 को सुबह 4:30 बजेमोक्ष होगी। उन्होंने बताया कि सत्र 2022 तक हर सालचंद्र ग्रहण होगा। इस बार ग्रहण के दौरान रात 2.15 बजे धनु एवं मकर का चंद्रमा रहेगा। आषाढ़ में मंगलवारको चंद्रग्रहण के कारण कपास में तेजी रहेगी। धनु मकर राशिस्थ ग्रहण अशांतिकारक भी होगा। ग्रहण के सूतक में भोजन व शयन निषेध माने गए हैं। इसमें बालक, रोगी एवं गर्भवती महिलाओं को छूट दी है।

125 साल पश्चात हरियाली अमावस्या पर पंच महायोग

17 जुलाई से श्रावण मास शुरू होगा। इस दिन वज्र व विष्णु कुंभ योग बनेगा। श्रावण में 125 साल बाद हरियाली अमावस्या पर पंच महायोग बनेगा। पं. कांता प्रसाद महेश्वरा ने बताया कि नाग पंचमी 20 साल बाद सोमवार को आएगी। यह संयोग 5 अगस्त को बनेगा। नाग पंचमी पर सोमवार की युति अनिष्ट ग्रहों की शांति के लिए सर्वोत्तम मानी गई है। इसमें रुद्राभिषेक से सर्व मनोकामना सिद्ध होती है। यह संयोग अगस्त 1999 में बना था। आगे 21 अगस्त 2023 को फिर से बनेगा।

19 साल बाद राखी पर भी विशेष योग

रक्षा बंधन 15 अगस्त को मनाई जाएगी। चंद्र प्रधान श्रवण नक्षत्र में रक्षा बंधन होगा। यह योग 19 साल पहले 2000 में भी बना था। पंचक शुरू होने से रक्षा बंधन का मुहूर्त रात्रि 9 बजे बाद नहीं रहेगा।

X
Dausa News - rajasthan news the sum of the eclipse after 140 years on guru purnima
COMMENT