दो महिलाओं को एक ही पीपीओ नंबर, वृद्धावस्था पेंशन में घालमेल

Dausa News - जिले में फर्जी तरीके से पेंशन स्वीकृति मामले आने के बाद भले ही कलेक्टर के निर्देश पर जिले की सभी पंचायत समितियों...

Feb 22, 2020, 06:26 AM IST
Bandikui News - rajasthan news two women sharing the same ppo number old age pension

जिले में फर्जी तरीके से पेंशन स्वीकृति मामले आने के बाद भले ही कलेक्टर के निर्देश पर जिले की सभी पंचायत समितियों में टीमों का गठन कर जांच कराने के बाद फर्जी पेंशन प्रकरणों को खत्म किये जाने के दावे किए जा रहे हैं, लेकिन इसके बाद भी दर्जनों की तादाद में लोग कहीं पेंशन स्वीकृत कराने के लिए तो कही पीपीओ लेकर स्वीकृत पेंशन के लिए छह सालाें से पेंशन प्राप्त करने के लिए भटकते नजर आ रहे हैं।

ऐसा ही एक मामला गांव धनावड़ की चौलानान ढाणी निवासी तोफली देवी मीना का सामने आया है। जिसकी वृद्धावस्था पेंशन 1 जून 2013 से चालू हुई थी। इसने 3 माह लगातार पोस्ट ऑफिस से पेंशन भी उठाई, लेकिन तीन माह बाद उसकी पेंशन आना बंद हो गई। लाभार्थी ने पेंशन प्राप्त करने के लिए ग्राम पंचायत से लेकर कलेक्टर कार्यालय तक के सैकड़ों चक्कर लगाए, लेकिन कोई सुनवाई नही हुई। महिला के पीपीओ नंबर से पेंशन की ऑनलाइन जांच की तो पता लगा कि इस नाम और पीपीओ नंबर से पेंशन राशि हर माह आ रही है। पीड़िता के परिजनों ने इस मामले की जानकारी प्राप्त की तो पता लगा कि इस पीपीओ नंबर से किसी दूसरी तोफली देवी के नाम के खाते में पेंशन राशि जा रही है। विभाग द्वारा दो महिलाओ को एक ही पीपीओ नंबर से पेंशन स्वीकृत कर रखी है। जिससे 3 माह तक एक महिला ने पेंशन राशि प्राप्त की, लेकिन बाद में पेंशन आना बंद हो गई व दूसरी ढाणी की तोफली देवी के खाते में इस पीपीओ नंबर की पेंशन राशि जाने लग गयी । महिला अपनी पेंशन को चालू कराने के लिए विभाग सहित उच्च अधिकारियों के तक अपनी शिकायत लेकर गई, लेकिन किसी ने पीड़ित महिला की समस्या का समाधान नही किया। पीड़ित महिला तोफली देवी का कहना है कि करीब 3 साल पहले लकवा आ गया। जिसके कारण आधे शरीर ने काम करना बंद कर दिया व पुत्र नहीं होने से घर मे कोई कमाने वाला भी नहीं है। हाथ पांव लकवा बीमारी के कारण काम नहीं करते। जिसके कारण पेट भरने का भी संकट खड़ा हो चुका है । यदि पेंशन चालू हो जाए तो गुजर बसर हो। दोनों के पीपीओ नंबर एक, जांच का विषय तोफली देवी की पेंशन राशि 1 जून 2013 में स्वीकृत हुई व तीन माह पेंशन राशि भी उठाई उसके बाद पेंशन आना बंद हो गया, लेकिन पेंशन लगातार उठाई जा रही है। जिस दूसरी तोफली देवी के पेंशन जाने लगी उसके पास भी वही पीपीओ नंबर है। अब जांच का विषय है कि दोनों की पेंशन 1 जून 2013 से स्वीकृत हुई तो फिर फर्जीवाड़ा कहां है।

मुझे भी जानकारी मिली है

बीडीओ इस मामले को लेकर बांदीकुई बीडीओ मोहन सिंह का कहना है कि दो महिलाओं को एक ही पीपीओ नंबर दे रखे है। इसकी जानकारी मुझे मिली है। इसकी जांच करवाकर कार्रवाई की जाएगी।

धनावड़|पेंशन के फार्म दिखाती पीड़िता।

X
Bandikui News - rajasthan news two women sharing the same ppo number old age pension

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना