डीग

--Advertisement--

सरकारी कॉलेज के लिए 5 बीघा भूमि देने की घोषणा

नगर| उपखण्ड मुख्यालय पर सरकारी कॉलेज के भवन निर्माण को लेकर नगर पालिका उपाध्यक्ष रामअवतार मित्तल ने पांच बीघा...

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 05:25 AM IST
नगर| उपखण्ड मुख्यालय पर सरकारी कॉलेज के भवन निर्माण को लेकर नगर पालिका उपाध्यक्ष रामअवतार मित्तल ने पांच बीघा भूमि दान देने की घोषणा की है।

इस मौके विधायक निवास पर प्रशासनिक अधिकारी व गणमान्य लोगों की बैठक में ग्रामीण क्षेत्र में कॉलेज को लेकर सरपंच शिवराम गुर्जर ने रसिया, महेश कुमार ने थून, सुरेश फौजी ने बेर्रू पटवन व पूर्व सरपंच भुल्लन सिंह ने खखावली में भूमि उपलब्ध कराने की बात कही। जबकि पूर्व शिक्षाविद खेमचंद तिवाड़ी ने अनार देवी उच्च माध्यमिक विद्यालय के खेल मैदान पर कॉलेज संचालन का सुझाव दिया। बैठक के दौरान उपाध्यक्ष रामअवतार मित्तल ने उपखण्ड मुख्यालय पर कॉलेज के भवन निर्माण को लेकर डीग रोड पर पांच बीघा भूमि दान देने की घोषणा की। साथ ही खेल मैदान के लिए भामाशाहों से सहयोग लेकर चंदा एकत्रित कर तीन बीघा भूमि खरीदने का निर्णय लिया। जिस पर प्रकाश बंसल ने परिजनों से सलाह कर भूमि उपलब्ध कराने व महेश सिंघल ने एक लाख रुपए देने की बात कही। बैठक में विधायक अनीता सिंह ने राज्य सरकार की ओर से कॉलेज भवन को लेकर 6 करोड़ की राशि उपलब्ध कराने से अवगत कराया। साथ ही आगामी 1 अप्रैल से कला व विज्ञान संकाय सहित डीग चुंगी स्थित शास्त्री विद्यालय के भवन में कॉलेज चलाने की बात कही। इस अवसर पर एसडीएम राजवीर सिंह यादव, तहसीलदार ओमप्रकाश गुर्जर, अधिशाषी अधिकारी नरसीलाल मीणा, मण्डल अध्यक्ष दीनदयाल खण्डेलवाल, जिला उपाध्यक्ष प्रेमकपूर, टीकम सिंह, पार्षद बद्री प्रसाद, विनोद सिंघल, रामजीलाल फतेहपुरिया आदि मौजूद थे।

एक अप्रैल से शास्त्री विद्यालय के भवन में संचालित होगा कॅालेज

सीकरी पुलिस ने ज्यादती के आरोपी को बचाया, कोर्ट ने दिए गिरफ्तारी के आदेश

भरतपुर| पोक्सो न्यायालय ने पीड़िता के पिता परिवादी के प्रार्थना पत्र पर आदेश देते हुए अभियुक्त असरू पुत्र रहमान निवासी बूड़ली के खिलाफ पोक्सो एक्ट में प्रसंज्ञान लेकर उसे गिरफ्तारी वारंट से तलब करने के आदेश दिए हैं। अधिवक्ता प्रेमसिंह सैनी ने बताया कि परिवादी ने अयूब व असरू निवासी बूड़ली के खिलाफ थाना सीकरी पर उसकी नाबालिग पुत्री को जबरन पकड़ कर ले जाकर ज्यादती करने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने आरोपी असरू को जांच में निकाल दिया और अयूब के खिलाफ चालान पेश कर दिया। परिवादी ने असरू को आरोपी बनाने का प्रार्थना पत्र पेश किया। इसमें अधिवक्ता के साक्ष्यों व तर्कों के आधार पर न्यायालय ने असरू को गिरफ्तारी वारंट से तलब किया है।

Click to listen..