Hindi News »Rajasthan »Degana» पर्यावरण के प्रति सामाजिक जागृति लाने के लिए 1972 में हुई थी पहल, 5 जून 1974 को मनाया गया पहला पर्यावरण दिवस

पर्यावरण के प्रति सामाजिक जागृति लाने के लिए 1972 में हुई थी पहल, 5 जून 1974 को मनाया गया पहला पर्यावरण दिवस

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर तहसील कार्यालय डेगाना में एसडीएम रविंद्र कुमार चौधरी की अध्यक्षता में 101 पौधे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 06, 2018, 02:35 AM IST

  • पर्यावरण के प्रति सामाजिक जागृति लाने के लिए 1972 में हुई थी पहल, 5 जून 1974 को मनाया गया पहला पर्यावरण दिवस
    +1और स्लाइड देखें
    विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर तहसील कार्यालय डेगाना में एसडीएम रविंद्र कुमार चौधरी की अध्यक्षता में 101 पौधे लगाकर इनकी सुरक्षा का संकल्प दिलाया गया। एसडीएम रविंद्र कुमार चौधरी ने कहा कि डिजिटल युग के कारण आमजन और पर्यावरण में बहुत अधिक दूरी होती जा रही है। जिससे पर्यावरण सरंक्षण भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और पोस्टर तक ही सीमित हो गया है। तहसीलदार महेशदत्त शर्मा ने कहा कि वर्तमान समय में औद्योगिक क्षेत्र के बढ़ने की वजह से दिनों-दिन पेड़-पौधों की कटाई की जा रही है। उन्होंने आमजन से हर वर्ष कम से कम एक पौधा लगाकर उसकी सुरक्षा करना की जिम्मेदारी लेने का आह्वान किया। बीडीओप्रहलाद डूडी ने बढ़ते ग्लोबल वार्मिंग को कम करने के लिए पर्यावरण संरक्षण के लिए आमजन को प्रेरित किया।

    सांजू| विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर कस्बे में कुचेरा रोड स्थित केशव उद्यान में जागरूकता समिति के तत्वाधान में आयोजित कार्यशाला के दौरान पर्यावरण शुद्धि की शपथ ली गई। अध्यक्ष जेठूसिंह सांजू ने बताया कि हरियाली को कायम रखने के लिए धरती पर पेड़ पौधों की रक्षा के लिए जागरूक किया। इस मौके पर जागरूकता समिति के सदस्य श्रवणराम कड़वासरा, सुरेंद्रसिंह भावला, महावीरसिंह खिवताना, गिरधारी चोयल आदि मौजूद थे।

    नावांं सिटी| संजीवनी क्रेडिट को ऑपरेटिव सोसाइटी शाखा नावा द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस मोक्ष धाम नावां में मनाया गया। जिसमें शाखा के कर्मचारी मुकेश शर्मा, मनोहर लाल गुर्जर, लोकेश बेरीवाल, राहुल कुमावत, अभिकर्ता अरविंद कुमावत, लुकमान शाह, सदस्य रामअवतार टेलर, गजाधर सारड़ा, सिद्धार्थ कुमावत आदि ने मोक्ष धाम में पौधरोपण किया। शाखा कर्मचारी बेरीवाल ने बताया कि समिति द्वारा हर दिवस को एक सामाजिक सरोकार के रूप में संजीवनी की प्रत्येक शाखा में मनाया जाता है एवं लोगों को सामाजिक सरोकार के प्रति जागरूक किया जाता है।

    डेगाना. विश्व पर्यावरण दिवस पर उपखंड अधिकारी व अन्य लोग पौधा लगाते हुए।

    महिया ने ली सुरक्षा की जिम्मेदारी

    डेगाना तहसील कार्यालय में एसडीएम की अध्यक्षता में लगाए गए 101 पौधों को पानी व उनकी सुरक्षा करनी की स्वेच्छा से जिम्मेदारी राकेश महिया ने ली। एसडीएम ने बताया कि पेड़-पौधों की सुरक्षा के लिए लगाई गई जाली का 35000 रुपए खर्च पर्यावरण प्रेमी भामाशाहों के द्वारा वहन किया गया।

    तेज गर्मियों में पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए तहसील कार्यालय परिसर व उपखंड परिसर में 35 परिंडे भी लगाए गए। इस दौरान भामाशाह अनवर अली भाटी, बिरदीचंद तोषनीवाल, गौ सेवक परमाराम कड़वा, नर्सरी संचालक राकेश माली, कालूराम मुंडेल, राजेंद्र पीटीआई, दौलत खान, पटवारी रामस्वरूप भांबू, युवा नेता राकेश महिया, पार्षद प्रतिनिधि पवन पुरोहित, वन विभाग के कर्मचारी हरिराम, बाबूलाल सहित अनेक वन प्रेमी मौके पर उपस्थित रहे।

    मकराना के मुक्तिधाम में लगाए पौधे, साफ सफाई की

    मकराना| पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में मध्य राजस्थान प्रादेशिक माहेश्वरी युवा संगठन के तत्वावधान में मुक्तिधाम में पौधरोपण व साफ-सफाई का कार्यक्रम रखा गया। संगठन के अध्यक्ष सुरेंद्र रांदड़ के नेतृत्व में युवाओं ने मंगलवार सुबह पूरे मुक्तिधाम परिसर की सफाई की एवं कचरे को हटाया। इसके बाद 5 पौधे लगाकर उनकी सुरक्षा के उपाय किए एवं सार संभाल का जिम्मा लिया। अध्यक्ष रांदड़ ने बताया कि पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में इस वर्ष बारिश के मौसम में अधिकाधिक पौधरोपण के लिए नागरिकों को जागरूक करने का संकल्प भी लिया गया। उन्होंने बताया कि ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से बचने के लिए धरती पर पेड़ पौधे लगाने आवश्यक है। इस दौरान संगठन के संजय साबू, गिरधर रांदड़, अमित मालपानी, उमेश रांदड़, अंकित फोफलिया, कालू अग्रवाल, गुड्डू जांगिड़, कपिल, रवि, शुभम, प्रदीप, मनोज सहित अन्य युवा उपस्थित थे।

    कुचामन सिटी| प्रधानमंत्री की संकल्प सिद्धि महाअभियान योजना के तहत पर्यावरण दिवस पर युवाओं ने पौधरोपण किया। नागौर देहात जिला मीडिया प्रभारी अनिल रॉयल ने बताया कि विश्व पर्यावरण दिवस पर युवाओं ने विराट डिफेंस एकेडमी में पौधरोपण किया। इस दौरान लक्ष्मण रॉयल, बसंत, दीपक, सुरेश, किशन मौजूद थे।

    मकराना| राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण व तालुका विधिक सेवा प्राधिकरण मकराना के निर्देशानुसार मंगलवार को अधिवक्ता जितेंद्र सिंह चौहान व सुरेश कुमार बरबड़ ने जूसरी गांव के वार्ड 18 में विधिक शिविर आयोजित किया। विश्व पर्यावरण दिवस के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण के लिए पूरे विश्व में यह दिवस मनाया जाता है। इस मनाने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने पर्यावरण के प्रति वैश्विक स्तर पर राजनीतिक और सामाजिक जागृति लाने के लिए वर्ष 1972 में घोषणा की थी। इसे 5 जून से 16 जून तक संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा आयोजित विश्व पर्यावरण सम्मेलन में चर्चा के बाद 5 जून 1974 को पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया।

    मकराना

    वैश्य संगठन की टीम ने गौशाला में रोपे पौधे

    कुचामन सिटी| विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर कुचामन गौशाला के पार्क में वैश्य संगठन की ओर से पौधे रोपे गए। गौशाला अध्यक्ष नंदकिशोर बिड़ला की उपस्थिति में वैश्य संगठन के प्रदेश संयुक्त सचिव श्यामसुंदर मंत्री, कुचामन इकाई अध्यक्ष राम काबरा, सचिव अशोक काला, कोषाध्यक्ष परमानंद अग्रवाल, जिलिया के पूर्व सरपंच जयकुमार जैन, सुरेश झंवर, विपुल रामचंद्रका, सुशील काबरा, मुरली अग्रवाल, आनंद सेठी, तक्ष पाटौदी आदि ने पौधरोपण कर उनकी सुरक्षा और वैश्य संगठन की टीम ने पार्क को विकसित कर उसकी देखभाल करने की जिम्मेदारी ली।

    पुलिस चौकी में लगाए पौधे, देखभाल की ली जिम्मेदारी

    छोटी खाटू| कस्बे की पुलिस चौकी में विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर एसबीआई बैंक के शाखा प्रबंधक श्रवणराम छाबा, वीरेंद्रसिंह राठौड़ मय स्टाफ चौकी व आस-पास के क्षेत्र में पौधे लगाए और इनकी देखभाल की जिम्मेदारी ली। शाखा प्रबंधक छाबा ने कहा कि हर नागरिक को घर के बाहर कम से कम दो पेड़ जरूर लगाने चाहिए। चौकी प्रभारी मन्नालाल ने बताया कि गांव के हर नागरिक को कम से कम एक पौधा लगाकर पेड़ बनने तक उसकी संपूर्ण देखभाल का जिम्मा लेना चाहिए। इस दौरान नाथूराम, राणाराम, जुगल, कैलाशचंद आदि मौजूद थे।

    परबतसर| राजस्थान राज्य भारत स्काउट गाइड स्थानीय संघ परबतसर ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर चुग्गा पात्र एवं परिंडे बांधे। संघ सचिव शैलेश कुमार पलोड़ ने बताया कि पूर्व शिक्षा उप निदेशक सुरेश कुमार व्यास, पूर्व पशु चिकित्सा अधिकारी मदन सिंह के सान्निध्य में स्थानीय संघ के स्काउटर सुभाष पारीक एवं रोवर सुनील सोनी ने तहसील के सामने परिंडे एवं चुग्गा पात्र लगाए। इस दौरान इकबाल, ब्रह्मदेव, मनोज व्यास आदि उपस्थित थे।

  • पर्यावरण के प्रति सामाजिक जागृति लाने के लिए 1972 में हुई थी पहल, 5 जून 1974 को मनाया गया पहला पर्यावरण दिवस
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Degana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×