--Advertisement--

सत्ता धंधे की दुकान बन गई, नेतागिरी शान...

Dholpur News - होली के अवसर पर शास्त्रीनगर विकास समिति की ओर शास्त्रीनगर के सेक्टर 3 व 4 के संयुक्त तत्वावधान में सेक्टर नंबर 4 में...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:05 AM IST
सत्ता धंधे की दुकान बन गई, नेतागिरी शान...
होली के अवसर पर शास्त्रीनगर विकास समिति की ओर शास्त्रीनगर के सेक्टर 3 व 4 के संयुक्त तत्वावधान में सेक्टर नंबर 4 में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि सतीश शर्मा तथा विशिष्ट अतिथि मेंबर सिंह और अशोक त्यागी थे।

संचालन जिला महामंत्री कर्मचारी महासंघ एकीकृत योगेश पांडेय ने किया। कार्यक्रम में कवियों ने अपनी कविताओं से ऐसा समा बांधा कि लोग देर रात तक कवि सम्मेलन में डटे रहे। कवि राकेश राज बाड़ी ने नीर भरी बदरी बनके तुम हिय आंगन में पर छा जाना, मेरे मन की तप्त धरा पर प्रेम सुधा बरसा जाना सुनाई। इसके बाद अनिल बेधड़क ग्वालियर ने भेदभाव को मेट दो अवसर है ये नेक, रंगों के त्योहार पे होंगे हम सब एक तथा कई हास्य रस की रचनाओं से श्रोताओं को हंसाया। लालबत्ती मैनपुरी ने राजनीत में उड़ती चिड़िया बहुत सुहानी लगती है, वोट-वोट की बोली बोले बोट दीवानी लगती है सुनाई। वहीं संध्या सुरभि मुरैना ने श्यामा खेले होरी श्यामा खेले होरी, राधा पे उड़ावत रंग भर-भर झोरी और होली के रसिया द्वारा समा बांध दिया। पवन शर्मा अनुराग बाड़ी ने पैरोडी सुनाई।

मनोज बेचैन धौलपुर ने सत्ता धंधे की दुकान बन गई, नेतागिरी शान बन गई, चलते फिरते हर गुंडे ने पाजामा कुर्ता सिलवाया, गांधी सोच-सोच कर मर गए, राम राज्य नहीं आने पाया तथा बेटी बचाओ पर कोख मैं मुझे मत मार मां मार्मिक कविता से एक बेटी की व्यथा कही। राजबीरसिंह क्रांति धौलपुर ने शीश उठाकर चले तिरंगा बात है गर्व गुमान की, ये मिर्जा की नहीं सानिया बेटी हिंदुस्तान की सुनाई। मृत्यंजय त्यागी धौलपुर ने पास हम फिर भी दिलों में क्यों ये दूरी है रचना प्रस्तुत की।

इस अवसर पर कॉलोनी के दाऊदयाल सिंघल, ऋषि मित्तल, राजीव झा, ललित, कम्पोटर, जय शिब राना, दिनेश शर्मा, यशपाल सिंह, विजय गुप्ता, पवन सिंघल, माताप्रसाद, अश्विनी श्रीवास्तव मैनेजर, अशोक चंसोरिया, श्यामबाबू, बबलू, हरिओम, एसपी वशिष्ठ, रामकिशन सहित कई लोग मौजूद थे। सतीश शर्मा ने धन्यवाद दिया। इस अवसर पर शास्त्री नगर विकास समिति के सदस्यों ने निर्णय लिया कि अब प्रत्येक वर्ष होली पर्व पर कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

होली पर्व पर शास्त्रीनगर में कवि सम्मेलन में कवियों ने बांधा समा, देर रात तक डटे रहे श्रोता

धौलपुर. काव्यपाठ करतीं कवियत्री।

X
सत्ता धंधे की दुकान बन गई, नेतागिरी शान...
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..