--Advertisement--

अब 3 सप्ताह में घर बनकर आएगा पासपोर्ट

होटल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, हवाई पट्टी के बाद अब धौलपुर में पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलने से इस बात से इंकार नहीं...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:40 AM IST
होटल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, हवाई पट्टी के बाद अब धौलपुर में पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलने से इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जिले को पर्यटन क्षेत्र में बढ़ावा देना चाहती हैं। इसी के चलते जिले में कई ऐसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं, जो आने वाले समय में पर्यटन को बढ़ावा देने में कारगर होंगी। इसी क्रम में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे 4 मार्च रविवार को सुबह 9 बजे शहर में पोस्ट आफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र का शुभारंभ करेंगी। शहर में पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलने से लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए जयपुर नहीं जाना पड़ेगा और यहीं पर वे पासपोर्ट बनवा सकेंगे। थर्मल पावर के पास होटल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, मचकुंड सुंदरता के साथ धार्मिक स्थलों को जीर्णोद्धार कर उनका स्वरूप लौटाना और आठ मील के पास हवाई पट्टी के बाद पासपोर्ट सेवा केंद्र इस बात का संकेत हैं कि आने वाले समय में धौलपुर प्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ता दिखेगा। शहर में पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए ये सभी निर्माण कार्य शुरू हो गए हैं और इस साल 2018 में पूरे भी हो जाएंगे। इन कार्यों के पूरा होने के बाद जिले में पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा के साथ रोजगार के भी अवसर बढ़ेंगे। इसके अलावा देसी-विदेशी सैलानियों की भी जिले में अधिक आने की संभावनाएं बढ़ेंगी। क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय जयपुर के प्रवर अधीक्षक विनय सक्सेना ने बताया कि पासपोर्ट बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इसके बाद पुलिस की जांच होने के बाद 2 से 3 सप्ताह में आवेदक के घर पासपोर्ट पहुंच जाएगा।

सीएम की एक और पहल, आज करेंगी केन्द्र का शुभारंभ, पासपोर्ट के लिए अब नहीं जाना होगा जयपुर

धौलपुर जिले से सिर्फ जनवरी-18 में आए 450 आवेदन

पासपोर्ट बनवाने के लिए पिछले वर्ष जहां धौलपुर और करौली जिले से 4500 आवेदन पहुंचे थे। वहीं अगर इस वर्ष 2018 जनवरी की बात करें तो सिर्फ धौलपुर जिले के ही 450 आवेदन आए हैं। क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय जयपुर के प्रवर अधीक्षक विनय सक्सेना ने बताया कि पासपोर्ट के लिए आवेदक को ऑनलाइन ही आवेदन करना होगा और ऑनलाइन ही फीस जमा करनी होगी। जिले में बड़ी संख्या में लोग पासपोर्ट बनवा रहे हैं। पांच साल की अगर बात करें तो पासपोर्ट बनवाने में काफी वृद्धि हुई है। क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय जयपुर के प्रवर अधीक्षक विनय सक्सेना ने बताया कि 2012 में पासपोर्ट केंद्र की स्थापना होने के बाद धौलपुर और करौली जिले के करीब एक हजार आवेदन आए थे। इसके बाद 2017 में दोनों जिले से आवेदनों की संख्या बढ़कर 4500 तक पहुंच गई है।