Hindi News »Rajasthan »Dholpur» जिले में रेता माफिया का बढ़ा आतंक

जिले में रेता माफिया का बढ़ा आतंक

जिला अस्पताल में भर्ती पुलिसकर्मी।

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:50 AM IST

जिला अस्पताल में भर्ती पुलिसकर्मी।

खाना खाकर ड्यूटी पर लौट रहा था पुलिसकर्मी

पुलिस की सख्ती से घर छोड़ भागे माफिया

भास्कर संवाददाता | धौलपुर

सुप्रीम कोर्ट से प्रतिबंधित चंबल बजरी के दोहन को लेकर जहां पुलिस ने अपने पैर पीछे खींच लिए हैं, वहीं बजरी माफिया बेखौफ होकर पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला कर रहे हैं। 2 दिन पूर्व सीओ सिटी सतीश यादव पर हुए जानलेवा हमले के बाद शुक्रवार देर रात बजरी माफियाओं ने पुलिस लाइन से खाना खाकर ड्यूटी पर लौट रहे पुलिसकर्मी नरेंद्र सिंह की बाइक को चंबल गार्डन मार्ग पर सामने से टक्कर मार दी। रेता माफिया ने बाइक को टक्कर लगते ही सिपाही ने खड्ढे में कूदकर अपनी जान बचाई। टक्कर मारने के बाद बजरी माफिया मौके से रेता से भरे दोनों ट्रैक्टर लेकर फरार हो गए। इधर, सूचना मिलने के बाद गंभीर रूप से घायल हुए सिपाही नरेंद्र सिंह को मौके पर पहुंची एंबुलेंस और पुलिस की मदद से जिला अस्पताल के ट्रोमा वार्ड में भर्ती कराया गया है। मेडिकल के बाद घायल पुलिस कर्मी नरेंद्र सिंह ने तीन रेता माफियों के खिलाफ कोतवाली थाने में मामला दर्ज करवाया है। कोतवाली थाने के कुंज बिहारी ने बताया कि सिपाही की रिपोर्ट पर अज्ञात रेता माफिया के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। दो दिन पूर्व सीओ सिटी सतीश यादव पर रेता माफिया द्वारा किए गए हमले में करीब पांच रेता माफिया की पुलिस ने तुरंत ही पहचान कर ली थी। माफिया अभी घरों से फरार हैं।

इस बार सिपाही को कुचलने की कोशिश, बाइक से कूदकर बचा

सुप्रीम कोर्ट की रोक बेअसर

इधर, गुर्जर युवा बोले- 10 फीसदी लोगों के अवैध रेता कारोबार से बदनाम हो रहा पूरा समाज, गांवों से नहीं निकलने देंगे ट्रॉलियां

धौलपुर. ट्रैक्टर ट्रॉलियों का रास्ता रोकते गुर्जर युवा।

दारा सिंह नगर के पास रात करीब 10.30 बजे की घटना

घायल सिपाही बोला- रेता से भरी दो ट्रैक्टर-ट्रॉलियां ला रहे थे माफिया, पास आने पर अहसास हुआ, मार देंगे

हाउसिंग बोर्ड चौकी पर तैनात घायल सिपाही नरेंद्र सिंह ने बताया कि वह खाने के लिए पुलिस लाइन गया था। रात करीब 10.30 बजे वह चौकी जा रहा था। इस दौरान सामने से दो ट्रैक्टर-ट्रालियों में चंबल रेता भरकर माफिया आते हुए दिखे। दोनों ट्रैक्टर में तीन-तीन माफिया सवार थे। रेता माफियों ने उसकी वर्दी देख अंदाजा लगा लिया कि वह पुलिस में है और इसी के तहत एक ट्रैक्टर ने उसे कुचलने की नियत से उसकी बाइक की तरफ ट्रैक्टर को घुमा दिया। ट्रैक्टर को बाइक के सामने आते देख उसे अंदाजा लग गया कि माफिया उसे मार देंगे। जिस पर उसने कच्चे में गाड़ी कुदाने की कोशिश की तो माफियाओं ने उसकी गाड़ी को टक्कर मारी दी।

धौलपुर| 10 फीसदी लोगों के अवैध रेता कारोबार से पूरा गुर्जर समाज बदनाम हो रहा है। जबकि 90 प्रतिशत गुर्जर इस कारोबार से नहीं जुड़े हैं। यह कहना है नीम बसई के गुर्जर युवाओं का। शनिवार को गांव में पहुंची पुलिस को नीम बसई के गुर्जर समुदाय ने विश्वास दिलाया कि वे गांव के रास्तों से रेता से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को नहीं निकलने देंगे। इसके बाद गुर्जर समाज के युवाओं ने गांव निकलने वाले रास्तों में पेड़ और पत्थर रख दिए। सीओ सिटी सतीश यादव ने बताया कि बजरी तस्करों के खिलाफ नीम बसई का गुर्जर समुदाय एकजुट हो गया है। गांव की गलियों में तेजी से ट्रैक्टर चलाने और रेत माफियाओं द्वारा बहू-बेटियों के साथ छेड़छाड़ करने का नीम बसई के गुर्जर समुदाय ने विरोध जताया। युवाओं ने कहा कि वे इसके लिए अन्य गांवों में भी समाज के लोगों को जागरूक करेंगे।

इससे पूर्व सीओ सिटी सतीश यादव पर भी हुई थी फायरिंग

समाज के लोगों को भी आगे आना चाहिए

नीम बसई के गुर्जर समुदाय के लोगों ने कहा कि गुर्जर समाज के 10 फीसदी व्यक्ति अवैध रेत के कारोबार में लगे हैं। उनके इस कारोबार के कारण गुर्जर समाज के सामने अनेक बुराइयां और समस्याएं पैदा हो रही हैं। युवाओं ने कहा कि हरिगिरि बाबा गुर्जर समाज में कई कुरीतियों और व्यसनों को छोड़ने के लिए सामाजिक अभियान चला रहे हैं।

घायल सिपाही के अनुसार सामने से आ रहे ट्रैक्टर ने उसे टक्कर मारी है। ट्रैक्टर में रेता था या नहीं इसकी जानकारी नहीं है। घायल सिपाही का मेडिकल करवाकर मुकदमा दर्ज करवा दिया गया है। जांच की जा रही है। सतीश यादव, सीओ सिटी धौलपुर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dholpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×