• Home
  • Rajasthan News
  • Dholpur News
  • धौलपुर के प्रभारी सांसद दुष्यंत सिंह की मौजूदगी में भाजपा कार्यकर्ताओं सम्मेलन में हुआ हंगामा
--Advertisement--

धौलपुर के प्रभारी सांसद दुष्यंत सिंह की मौजूदगी में भाजपा कार्यकर्ताओं सम्मेलन में हुआ हंगामा

बसेड़ी में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान रविवार को कार्यकर्ताओंं ने धौलपुर प्रभारी सांसद दुष्यंत सिंह के...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 04:30 AM IST
बसेड़ी में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान रविवार को कार्यकर्ताओंं ने धौलपुर प्रभारी सांसद दुष्यंत सिंह के सामने ही सांसद डॉ. मनोज राजोरिया का जमकर विरोध करते हुए हंगामा कर दिया। यही नहीं कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर सांसद को बोलने भी नहीं दिया।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि सांसद ने बसेड़ी के साथ सौतेला व्यवहार किया है। चार साल में पहली बार सांसद को देखा है। हम नहीं पहचानते हैं कि यही हमारे सांसद है। कार्यकर्ताओ के विरोध को देखते हुए मंच पर मौजूद अतिथि कार्यकर्ताओं को शांत करने की कोशिश करते रहे, लेकिन कार्यकर्ता बिल्कुल सुनने को तैयार नहीं थे। सम्मेलन को संबोधित करने की जैसे ही बारी डॉ. मनोज राजोरिया की आई तो भाजपा कार्यकर्ता उत्तेजित होते हुए खड़े होकर सांसद का विरोध करने लगे। कार्यकर्ताओं ने कहा कि 4 साल में कभी आकर के दुख दर्द नहीं सुने हैं। सांसद का विरोध होता देख एक बार तो मंच पर सन्नाटा छा गया लेकिन मामला की नजाकत को भांपते हुए प्रभारी दुष्यंत सिंह को हस्तक्षेप करना पड़ा। कार्यकर्ताओं को शांत करते हुए सांसद दुष्यंत सिंह ने कार्यकर्ताओं को बैठने के लिए कहा। प्रभारी ने खुद माइक संभालते हुए कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा मंच पर बैठे लोगों की पार्टी नहीं है भाजपा कार्यकर्ताओं की पार्टी है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं की नाराजगी जायज हो सकती है लेकिन क्या कारण रहे हैं जिन पर आपस में बैठकर चर्चा करने की जरूरत है। भाषण देते वक्त झालावाड़ सांसद भावुक हो गए तथा नाराजगी दूर करने का प्रयास किया।

धौलपुर. बैठक में हंगामा करते भाजपा कार्यकर्ता।

धौलपुर. बैठक में हंगामा करते भाजपा कार्यकर्ता।

बसेड़ी में तीन भागों में बटी दिखी भाजपा

कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान बसेड़ी में भाजपा तीन धड़ों में बटी हुई दिखी। एक तरफ पूर्व विधायक सुखराम कोली अपने समर्थकों के साथ मुस्तैद थे। वहीं दूसरी तरफ कार्यकर्ता बसेड़ी विधायक रानी सिलोटिया के समर्थक मौजूद थे। दोनों ही प्रत्याशी एक दूसरे को कमजोर आंकने पर तुले हुए थे। वही भाजपा मंडल के कार्यकर्ता विधायक व पूर्व विधायक से दूरी बनाए हुए थे।

आपसी फूट : एक गुट ने सांसद से कहा- बसेड़ी विधायक रानी सिलोटिया के इशारे पर हुआ है यहां आपका विरोध

बसेड़ी में कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान सांसद के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन होने पर विधायक रानी सिलोटिया के विरोधी कार्यकर्ताओं ने विरोध करने का ठीकरा विधायक के सिर फोड़ने की कोशिश की है। सम्मेलन खत्म होने के बाद विरोधी कार्यकर्ताओं को सांसद को कहा कि बसेड़ी विधायक रानी सिलोटिया के इशारे पर आपका विरोध किया गया है। विरोध करने वाले युवा मोर्चा के कार्यकर्ता हैं, जो बसेड़ी विधायक के इशारे पर चलते हैं। बताया जा रहा है कि इस मामले में कुछ कार्यकर्ताओं ने इस घटना से पार्टी मुख्यालय को भी अवगत करा दिया है। इधर, सांसद के विरोध करने का आरोप लगने के बाद विधायक रानी सिलोटिया ने सफाई देते हुए कहा कि मेरे ऊपर लगे हुए आरोप निराधार हैं। मैंने किसी से कुछ नहीं कहा। कार्यकर्ताओं ने अपनी स्वेच्छा से सांसद का विरोध किया है। मेरे ऊपर लगाए गए आरोपों में बिल्कुल सच्चाई नहीं है। आरोप सिद्ध होने पर पार्टी जो सजा देगी उसे भुगतने को तैयार हूं।