• Home
  • Rajasthan News
  • Dholpur News
  • रीको कॉलोनी वासियों को मिलेगी फ्लोराइडयुक्त पानी से निजात, प्रमुख शासन सचिव ने दिया आश्वासन
--Advertisement--

रीको कॉलोनी वासियों को मिलेगी फ्लोराइडयुक्त पानी से निजात, प्रमुख शासन सचिव ने दिया आश्वासन

शहर के औंडेला रोड स्थित रीको आवासीय कॉलोनी के वाशिंदे पिछले लगभग 7 साल से फ्लोराइडयुक्त पानी पीना पड़ रहा है। इस...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:30 AM IST
शहर के औंडेला रोड स्थित रीको आवासीय कॉलोनी के वाशिंदे पिछले लगभग 7 साल से फ्लोराइडयुक्त पानी पीना पड़ रहा है। इस पानी के उपयोग के कारण जहां घरों में लगे नलों की टोंटियां खराब हो रही हैं। वहीं इस कॉलोनी में रहने वाले लोगों को शारीरिक और आर्थिक रूप से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कॉलोनी के वाशिंदों के दर्द को भास्कर ने समझा और 27 फरवरी के अंक में प्रमुखता से इस मामले को उठाया। कॉलोनीवासियों ने भास्कर की खबर की कटिंग को प्रमुख शासन सचिव जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग जयपुर रजत कुमार मिश्रा को भेजी। इस खबर को गंभीरता से लेते हुए प्रमुख शासन सचिव मिश्रा ने समस्या समाधान के लिए एडिशनल चीफ इंजीनियर भरतपुर को को कहा। आदेश मिलते ही उन्होंने धौलपुर जलदाय विभाग के अधिकारियों को मौके पर जाकर सर्वे करने और कॉलोनी में नल कनेक्शन कराने के आदेश दिए।

गौरतलब है कि रीको आवासीय कॉलोनी में करीब 30 परिवार निवासरत हैं। जो पिछले लगभग 7 सालों से फ्लोराइड युक्त पानी पीने को मजबूर हैं। कॉलोनीवासियों ने कई बार जलदाय विभाग को नल कनेक्शन के लिए आवेदन किया, लेकिन अधिकारियों द्वारा फाइल को यह कहकर लौटा दिया जाता है कि यह कॉलोनी रीको की है तो पानी रीको ही देगा। दो विभागों की रस्साकसी के बीच पानी के लिए पिस रहे कॉलोनीवासी इस पानी के सेवन से गंभीर रोगों से ग्रसित हो रहे हैं। कॉलोनीवासियों ने बताया कि उन्हें रीको की ओर से अनापत्ति प्रमाणपत्र भी जारी किया गया है और रीको की तरफ से जलदाय विभाग को कई बार पत्र लिखकर कॉलोनी वासियों को कनेक्शन देने के लिए भी पत्र लिखा गया, लेकिन जलदाय विभाग की हठधर्मिता से आज तक कॉलोनी के वाशिंदे शुद्ध पेयजल के लिए तरस रहे हैं। जबकि कॉलोनी से लगभग 5 फीट की दूरी पर जलदाय विभाग की पाइपलाइन निकल रही है और उक्त पाइपलाइन से कई निजी कॉलोनियों में पेयजल भी सप्लाई हो रहा है। कॉलोनी में रह रहे पीड़ित लोगों ने जब अपनी समस्या भास्कर को बताई तो भास्कर ने उनके दर्द को प्रमुखता से प्रकाशित किया। समाचार प्रकाशन के बाद इस समस्या की जानकारी मिलते ही विभाग के उच्चाधिकारियों ने इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए संबंधित अधिकारियों को इसके समाधान के आदेश जारी कर दिए। खबर प्रकाशित होने के बाद जलदाय विभाग हरकत में आया और बुधवार को एईएन तोताराम सिकरवार ने रीको कॉलोनी पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया और कॉलोनीवासियों को शीघ्र ही शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने का आश्वासन भी दिया।

27 फरवरी को प्रकाशत खबर

करतारसिंह खाट में तो मातादीन रहते हैं बीमार

रीको अावासीय कॉलोनी में रहने वाले करतारसिंह गुर्जर फ्लोराइडयुक्त पानी पीने से इस कदर प्रभावित हुए कि अब वे बीमारी के चलते खाट पकड़ गए हैं। उन्होंने बताया कि इस पानी के उपयोग करने से उन्हें जोड़ों में तो दर्द रहता ही है, साथ ही शरीर में जकड़न भी रहती है। वहीं मातादीन की हालत यह है कि बमुश्किल 10-12 कदम चलने के बाद ही उनका शरीर जवाब दे जाता है। कुछ देर आराम करने के लिए बैठते हैं तो फिर उठने में असहनीय दर्द होता है। उन्होंने बताया कि कहीं आने-जाने के लिए उन्हें दूसरों का सहारा लेना पड़ता है।