पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Dholpur News Rajasthan News 90 Thousand Devotees Took A Dip In The Lake 40 Thousand Less Than Last Year Because The Devotees Came In The Night And Went Away

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

90 हजार श्रद्धालुओं ने सरोवर में लगाई डुबकी, पिछले वर्ष से 40 हजार कम, क्योंकि श्रद्धालु रात में आकर चले गए

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
धौलपुर. मचकुंड घाटों पर उमड़ी भीड़।

भास्कर संवाददाता|धौलपुर

मन में श्रद्धा और आस्था की बयार, मुख पर तीर्थराज मचकुंड धाम का नाम, मनोकामनाओं की मुराद लिए पवित्र सरोवर में डुबकी लगाने के लिए देवछठ मेले में बुधवार को करीब 90 हजार महिला पुरुष, नौ जवान, युवती, बच्चों ने सरोवर में डुबकी लगाई है, जो पिछले वर्ष से करीब 40 हजार श्रद्धालुओं की संख्या कम है। पिछले वर्ष देवछठ मेले में श्रद्धालुओं के पहुंचने का आंकड़ा एक लाख 30 हजार के करीब पहुंच गया था। इस बार कारण रहा कि अधिकतर श्रद्धालु रात में विसर्जन करके चले गए हैं। जिसके कारण दूसरे दिन संख्या पिछले वर्ष की तुलना में कम रही।

बुधवार को तीन धर्मों के संगम का नजारा धौलपुर शहर में मचकुंड पर राधे-राधे, पहाड़ वाले बाबा पर नमाज और गुरु द्वारा शेर शिकार पर गुरुवाणी की गूंज सुनाई देने के साथ दिखाई दिया। अल सुबह 3 बजे से श्रद्धालुओं का रेला मचकुंड चौराहे से गुजरना शुरू हो गया, जो धीरे धीरे सुबह 10 बजे तक श्रद्धालुओं के काफिले में तब्दील हो गया। शहर में भी हर रास्ते पर चहुंओर देवछठ मेले व पहाड़ वाले बाबा के उर्स में आने वाले लोगों की मौजूदगी देखने ही बनी। देर दोपहर तक मचकुंड सरोवर के सभी घाट श्रद्धालुओं से खचाखच हो गए। इस दौरान राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश सहित अन्य प्रांतों से आए श्रद्धालुओं ने सबसे पहले मचकुंड सरोवर में डुबकी लगाकर मंदिरों में दर्शन किए। महिलाओं ने स्नान कर घाटों पर मिट्टी से लेप कर आटे से चौक मांडे और कलंगी मौहरियों की पूजा अर्चना कर उन्हें सरोवर में बहाया। वहीं महिला श्रद्धालुओं ने साधु संतों को भोजन कराकर दक्षिणा देकर धर्म लाभ कमाया। नव दंपतियों ने समूह में घाटों पर बैठकर मचकुंड महाराज की कथा सुनकर दीप प्रज्वलित कर साधु-संतों का आशीर्वाद लिया।

इस मौके पर वर वधू ने मचकुंड के दर्शन किए और संत महात्माओं से आर्शीर्वाद लिया। सबसे ज्यादा भीड़ श्रीलाडली जगमोहन मंदिर, जगन्नाथ जी मंदिर, रानी गुरु मंदिर के पीछे बने घाटों पर देखी गई। जहां मेला कंट्रोल रुम से मेले की व्यवस्थाएं संभालने के लिए प्रशासनिक अधिकारी पुलिस जवानों सहित सफाई कर्मियों, स्काउट गाइड, एनजीओ, सिविल डिफेंस के जवानों को मेले में शांति व्यवस्था बने रहने के चलते लाउडस्पीकर से दिशा निर्देश देते रहे। जिससे मेले में आए श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

एक साथ राधे राधे, गुरुवाणी, नमाज के साथ दिखी कौमी एकता
पहाड़ वाले बाबा की मजार, गुरु द्वारा शेर शिकार में गुरु हर गोविंद सिंह जी महाराज के दरबार में माथा टेकने के बाद चिरागी जलाकर श्रद्धालुओं ने चिनौरी, रेबडी चढाई। संत ठाकुर दास महाराज ने बताया कि कौमी एकता का अनूठा संगम यहां दिखाई देता है। सभी धर्मों के लोग जात पात धर्मों से दूर एक ही जगह पहुंचकर प्यार मोहब्बत का संदेश देते हैं। देवछठ मेला का अवसर ऐसा है कि मेले मेें लाखों लोग की मौजूदगी के बीच मेला शांति पूर्वक संपन्न होता आया है।

इधर, पहाड़ बाले बाबा पर मुशायरा तो मचकुंड पर राधा कृष्ण की झांकियां ने मेलार्थियों का मन मोहा
मचकुंछ देवछठ मेलेे के अवसर पर नगरपरिषद की ओर से भजन संध्या में वृंदावन की पार्टी ने शानदार भजनों की प्रस्तुति के साथ झांकियों में बने राधा कृष्ण गोपियों ने नृत्य की शानदार प्रस्तुति देकर भोर तक मेलार्थियों का मनोरंजन किया। लोग भी भजनों पर हाथ उठाकर जयकारे लगाते नाचते रहे। इससे पूर्व सभापति कमल कंषाना, महंत कृष्णदास ने भजन संध्या का शुभारंभ किया। वहीं इधर पहाड़ वाले बाबा की मजार परिसर में अब्दाल शाह रहमतुल्लाह अलेह के तीन दिवसीय 126 वां उर्स के मौके पर उर्स कमेटी के सदर शहजाद जलमानी के द्वारा ऑल इंडिया मुशायरा हुआ। मुख्य अतिथि एडीशनल एसपी राजेंद्र वर्मा के साथ विशिष्ट अतिथि बीजेपी नेता अशोक शर्मा, जिला उपभोक्ता मंच के पूर्व सदस्य गफूर अहमद लोदी, इरफान अहमद, बल्लू खांन, पार्षद अवधेश गुर्जर रहे। अध्यक्षता दुर्गा दत्त शास्त्री ने की। इस मौके पर मशहूर शायर अबरार कासिव, हाशिम, उस्मान मिनाही, आकिब, बारिस वारसी, शरफ नानपारवी, सुन्दर आदि शायरों ने अपने अपने अंदाज और अल्फाजों के साथ शायरी कर महफिल को शायराना किया। इस मौके पर पूर्व राज्यमंत्री अब्दुल शगीर खान सहित तमजीर अहमद, मुन्ना खान, नफीस खांन अब्बास, शगीर छावनी, अलीमुद्दीन अंसारी, शाहिद कुरैशी, मोंटी दिलशाद अब्बासी, लियाकत अब्बासी सहित बडी संख्या में लोग मौजूद रहे।

मेले में अव्यवस्थाओं के चलते श्रद्धालुओं को परेशानी
तीर्थराज मचकुण्ड पर देवछठ के मौके पर भारी अव्यवस्थाएं देखने को मिली। मेले में अव्यवस्थाओं के चलते श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना करना पड़ा। मेले में सुबह से मंदिर में पहुंचे श्रद्धालु जहां पैरों में फैली प्रसादी से फिसलते हुए दिखाई दिए तो वहीं सरोवर में लगाए गए गोताखोर सिर्फ पैसे बीनते हुए नजर आए। ग्वालियर से आई महिला श्रद्धालु सरबती देवी ने बताया कि पिछले कई सालों से वह लगातार मचकुंड मेले में आ रही है।

धौलपुर. घाट पर मोहरी कलंगी विसर्जन से पहले आटे का लेप माड़ती महिला।

मेले की झलकियां
मेले में टूटा मंगलसूत्र, संग की महिलाओं ने बंधाया ढांढस, फिर क्या मंगलसूत्र के दुख को छोड़ बढ़ गई मचकुंड धाम

मेले में गर्मी के चलते श्रद्धालु पसीने से तर बतर मचकुंड की ओर बढ़ रहे थे, इसी दौरान एक महिला धड़ाम से सड़क पर मूर्छित होकर गिर गई, जिसे अन्य श्रद्धालुओं ने साइड कर पानी पिलाया

तीन राज्यों सहित अन्य प्रांतों के आए श्रद्धालुओं के चलते मचकुंड चौराहे से लेकर जिरौली फाटक तक जाम की समस्या बनी रही। मचकुंड चौराहे पर तो दिनभर जाम लगा रहा, वाहन रेंग रेंगकर गुजरते रहे।

धर्म प्रेमियों की ओर से मचकुंड के मुख्य गेट से लेकर मचकुंड धाम तक करीब 150 भंडारे लगाए गए, जहां पूरी सब्जी, खीर पुआ, जलपान, शरबत की स्टॉल थीं। धर्मप्रेमी प्रिंस हुंडावाल ने बताया हमारा यह भंडारा 50 सालों से एक मात्र पुआ सब्जी का लगता आया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें