• Hindi News
  • Rajasthan
  • Dholpur
  • Saipau News rajasthan news by listening to bhagwat katha destruction of birth and death is the cosmic and spiritual development of the zodiac

भागवत कथा सुनने से जन्म जन्मांतर के विकार नष्ट होकर प्राणी मात्र का लौकिक और आध्यात्मिक विकास होता है: शांति दास

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 10:06 AM IST

Dholpur News - सैंपऊ| कैंथरी हनुमान गढ़ी आश्रम के महंत स्वामी शांति दास महाराज के सानिध्य में शांति धाम आश्रम चित्रकूट में चल रही...

Saipau News - rajasthan news by listening to bhagwat katha destruction of birth and death is the cosmic and spiritual development of the zodiac
सैंपऊ| कैंथरी हनुमान गढ़ी आश्रम के महंत स्वामी शांति दास महाराज के सानिध्य में शांति धाम आश्रम चित्रकूट में चल रही संगीतमय भागवत कथा के अंतिम दिन भागवताचार्य सत्य देव महाराज ने भगवान श्रीकृष्ण और सुदामा प्रसंग की रोचक कथा सुनाई। सुदामा की दयनीय दशा और भगवान में निष्ठा के प्रसंग को सुनकर श्रद्धालुओं की आंखें भर आईं।

आचार्य ने बताया कि यदि सुदामा दरिद्र होते तो अनके लिए धन की कोई कमी नहीं थी। सुदामा के पास विद्वता थी और धनार्जन तो सुदामा उससे भी कर सकते थे। मगर सुदामा पेट के लिए नहीं बल्कि आत्मा के लिए कर्म कर रहे थे। आचार्य ने कहा कि जिसे भागवत ही परमशांत ही कहती हो उसे कौन दरिद्र घोषित कर सकता है। प|ी के कहने पर सुदामा का द्वारिका आगमन और प्रभु द्वारा सुदामा के सत्कार पर आचार्य बोले कि यह व्यक्ति का नहीं व्यक्तित्व का सतकार है, यह चित की नहीं चरित्र की पूजा है। सुदामा की निष्ठा और त्याग का सम्मान है। आचार्य ने ‘ऐसो को उदार जग माही, बिनु कारण जो द्रवै दीन पर, राम समान प्रभु नाही’ के माध्यम से प्रभु की करुणा, कृपा आदि लीलाओं का वर्णन सुनकर सभी श्रोता भावुक हो गए। इस दौरान कृष्ण-सुदामा की मनोहारी झांकी के दर्शन करने के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। भगवान कृष्ण के स्वरूप ने जैसे ही सुदामा बने स्वरूप के पैर धोए तो पांडाल में मौजूद श्रोता भावुक हो गए। भागवत समापन पर संत स्वामी शांति दास महाराज ने कहा कि भागवत कथा की सार्थकता इसी में है कि हम इसके संदेश को जीवन में उतारें। भागवत कथा श्रवण से जन्म जन्मांतर के विकार नष्ट होकर प्राणी मात्र का लौकिक व आध्यात्मिक विकास होता है। इस मौके पर संत रामायणी बाबा, संत रामकिशोर दास, कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष विनीत शर्मा, समाजसेवी राकेश भारद्वाज, रामप्रकाश शर्मा, द्वारिका तोमर, शिक्षक धर्मेंद्र शर्मा, सुभाष शर्मा, जगदीश सेठ, भगवान दास शर्मा, संत गंगादास बाबा, रामप्रकाश शर्मा दिल्ली, सुरेेश कुशवाह दिवालिया का नगला, बनवारी परमार, सत्यप्रकाश परमार नगला वीरभान, गिर्राज शर्मा खिडोरा, कृष्ण पोद्दार, राजू शर्मा बाबू, नीरज शर्मा समेत काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे। सात दिवसीय भागवत कथा के समापन पर शनिवार को संत एवं श्रद्धालुओं के लिए आश्रम महंत स्वामी शांति दास महाराज के द्वारा विशाल भंडारे का आयोजन किया गया है। जिसमें तीर्थ नगरी चित्रकूट धाम के तमाम आश्रमों के संत और महंतों को प्रसादी ग्रहण करा कर दक्षिणा दी जाएगी।

सैंपऊ. कथा समापन पर आरती में शामिल श्रद्धालु और संत महंत।

X
Saipau News - rajasthan news by listening to bhagwat katha destruction of birth and death is the cosmic and spiritual development of the zodiac
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543