किशोर गृह के शरारती बच्चों में सुधार की मुहिम

Dholpur News - राजकीय बाल संप्रेषण व किशोर गृह में रहने वाले बच्चों के लिए उनको दैनिक दिनचर्या में उनको सुधार की बातें सिखाई व...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:10 AM IST
Dholpur News - rajasthan news campaign to improve naughty children of kishor ghar
राजकीय बाल संप्रेषण व किशोर गृह में रहने वाले बच्चों के लिए उनको दैनिक दिनचर्या में उनको सुधार की बातें सिखाई व समझाई जाती हैं, लेकिन किशोर गृह में कुछ शरारती बच्चों द्वारा सरकारी सामान को तोड़़कर नुकसान पहुचंाया जा रहा है। इसी को देखते हुए बाल संप्रेषण गृह में अब नई व्यवस्था शुरू की गई है। इससे बच्चों में सुधार भी आना शुरू हुआ है।

काउंसलर कविता शर्मा का कहना है कि इस नई व्यवस्था में गृह की प्रबंधन समिति की ओर से छोटी मोटी चीजों को तोड़ने पर अलग-अलग हर्जाना तय किया गया है। यहां कुछ शरारती बालक आ गए हैं। जो किशोर गृह में पलंग, खिडकी के कांच, दीवार का पेंट, कुर्सी इत्यादि सामान को तोड रहे हैं। हम लोगों ने उनकोे समझाया, लेकिन उनकी समझ में नहीं आया। इस पर गृह प्रबंधन समिति ने बच्चों के बीच काउंसलिंग कर सामान तोड़ने नुकसान पहुंचाने पर संबंधित बालक के अभिभावक पर हर्जाना वसूला गया है। इससे अब बच्चों में गलती का अहसास हुआ। उन बच्चों ने गलती मानी और कहा कि हमसे नुकसान हुआ है इसकी क्षतिपूर्ति हम ही करेंगे। बता दें कि इस समय किशोर गृह में पांच बच्चे हैं, जिसमें 4 अपचारी और एक उपेक्षित। अपचारी के परिजन प्रत्येक सोमवार को मिलने आते हैं।

संपत्ति को नुकसान पहुंचाया तो अभिभावक देंगे जुर्माना

ली प्रतिज्ञा-यहां या कहीं और न करेंगे गलती और न ही नशा

किशोर गृह के केयर टेकर नरेश शर्मा का कहना है कि बीते कुछ दिनों से कुछ शरारती बालकों द्वारा किशोर गृह में राजकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया है। काउंसलर कविता शर्मा ने बालकों की कुशल काउंसलिंग लेकर बालकों काे उनकी गलती को स्वीकार कराने के साथ साथ बालकों ने गलती को समझकर इसकी क्षतिपूर्ति के लिए खुद अपने अभिभावकों से हर्जाना दिलाया। बच्चों को प्रतिज्ञा भी दिलाई कि हम यहां या आगे कहीं भी रहेंगे तो सरकारी संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। वहीं गृह में नए प्रवेश हुए बच्चों व रह रहे बच्चों को गुटखा व धूम्रपान न करने की प्रतिज्ञा दिलाई।

बालकों काे किशोर गृह में सामान को नुकसान नहीं पहुंचाने की प्रतिज्ञा दिलाते

यह होगा सदुपयोग... गृह प्रबंधन समिति हर्जाने के पैसे से खरीदेगी बच्चों के लिए खेलकूद व ज्ञानवर्धक किताबें

किशोर गृह में शुरू की गई व्यवस्था के बाद बच्चों द्वारा सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के बाद उनके अभिभावकों से वसूले हर्जाने की राशि से गृह प्रबंधन समिति बच्चों के विकास में काम में लेगी। बच्चों की पसंद के हिसाब से खेलकूद का सामान, ज्ञानवर्धक किताबें आदि मनोरंजन की वस्तुएं खरीदी जाएंगी। काउंसलर कविता ने बताया कि हर्जाना नहीं लगाना चाहते थे, लेकिन मोटिवेट करना जरुरी था। अब बच्चों ने सामान को नुकसान करना बंद कर दिया है।


X
Dholpur News - rajasthan news campaign to improve naughty children of kishor ghar
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना