शिवरात्रि पर वंश वृद्धि और मनवांछित फल प्राप्ति का योग

Dholpur News - महाशिवरात्रि पर 28 साल बाद एेसे ग्रह योग बन रहे जिनका प्रभाव वंश वृद्धि कारक होता है। ज्योतिषियों का मानना है कि...

Feb 15, 2020, 08:20 AM IST
Dholpur News - rajasthan news increase of dynasty and desired fruit yield on shivratri

महाशिवरात्रि पर 28 साल बाद एेसे ग्रह योग बन रहे जिनका प्रभाव वंश वृद्धि कारक होता है। ज्योतिषियों का मानना है कि वंश की वृद्धि की कामना करने वाले जातक महाशिवरात्रि पर विशेष आराधना करें तो उन्हें मनोवांछित फल प्राप्त हो सकता है। महाशिवरात्रि पर शिवजी की विशेष पूजा का विधान है। महाशिवरात्रि 21-22 फरवरी की रात मनाई जाएगी। ज्योतिषविद शिवपूजन शर्मा मूढ़िक वाले के अनुसार 21 फरवरी शुक्रवार को त्रयोदशी तिथि शाम 5.21 बजे तक है, इसके बाद में चतुर्दशी तिथि शुरू होगी जो शनिवार को रात 7.02 बजे तक रहेगी। इसलिए 21 को त्रियोदशी और चतुर्दशी साथ हैं।

महाशिवरात्रि का महापूजन रात में होता है, इसलिए 21-22 की रात में महाशिवरात्रि मनाई जाएगी। वर्ष में कुल बारह शिवरात्रियां होती है। उनमें फाल्गुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी की रात महाशिवरात्रि होती है। मान्यता है इसी दिन करोड़ों सूर्य के समान प्रभावशाली लिंग रूप में शिव प्रकट हुए। इस साल महाशिवरात्रि विशेष ज्योतिषीय संयोगों में आ रही है। जीवन रूपी चन्द्रमा का शिव रूपी सूर्य से मिलन होगा। संहार व तमोगुण के अधिष्ठाता शिव का यह पर्व विशेष आराधना के लिए है। ज्योतिषाचार्य शिवपूजन के अनुसार कालदंड व विष योग के साथ शश योग शिवरात्रि को खास बनाएंगे। 2 मार्च 1992 को 28 साल पहले चंद्र, शनि का विष योग बना था। अगला योग 117 साल बाद बनेगा, जो चारों पुरुषार्थ प्रदान करने वाला होगा। इसके अलावा 59 साल बाद शश नामक ज्योतिषीय संयोग भी बन रहा है।

इस बार त्रयोदशी के साथ चतुर्दशी का विशेष संयोग

व्रत व रात्रि जागरण शिवरात्रि के प्रमुख भाग हैं। इस वर्ष शिवरात्रि पर त्रयोदशी के साथ चतुर्दशी का संयोग चारों प्रहर की पूजा को खास बना रहा है। इस रात अनेक आध्यात्मिक शक्तियां जागृत होंगी जो व्रती के मनोरथों को पूरा करेंगी। महाशिवरात्रि पर भगवान शिव की विशेष आराधना का महत्व है। ज्योतिषविद् के अनुसार महाकालेश्वर मंदिर में रात में महापूजा की जाती है। महाशिवरात्रि की कथा में भी शिव की आराधना का विधान है। महाकालेश्वर मंदिर सहित शहर के अन्य शिवालयों में भी इस दिन दर्शन-पूजन का क्रम सुबह से शुरू होगा।

X
Dholpur News - rajasthan news increase of dynasty and desired fruit yield on shivratri

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना