• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Dholpur
  • Dholpur News rajasthan news the new principals expressed displeasure over the lack of teachers the education of children affected the distribution of filth and nutrition

शिक्षकों की कमी से बच्चों की पढ़ाई हो रही प्रभावित, गंदगी और पोषाहार का वितरण बंद होने पर नई प्रिसिंपल ने जताई नाराजगी

Dholpur News - धौलपुर. अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर शुक्रवार को विद्यालय संचालन का जिम्मा प्रतिभाशाली बालिकाओं को सौंपा गया तो...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:31 AM IST
Dholpur News - rajasthan news the new principals expressed displeasure over the lack of teachers the education of children affected the distribution of filth and nutrition
धौलपुर. अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर शुक्रवार को विद्यालय संचालन का जिम्मा प्रतिभाशाली बालिकाओं को सौंपा गया तो उन्हें भी समस्याओं से रूबरू होना पड़ा। एक दिन की मानद संस्था प्रधान बनी छात्राओं ने बताया कि सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर क्यों कमजोर है। जिसे देखने के बाद संस्था प्रधानों ने बदलाव की बात कही है। भास्कर संवाददाता ने विभिन्न विद्यालयों में जाकर एक दिन की संस्था प्रधान बनी छात्राओं से उनके अनुभव जाने। इस दौरान उन्होंने अधिकांश विद्यालयों में शिक्षकों तथा अन्य स्टाफ की कमी होना बताया।

धौलपुर : स्कूल में सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग रोकने के दिए निर्देश

धौलपुर. साड़ी पहनकर कक्षा का निरीक्षण करती कक्षा 7 की छात्रा तनु।

धौलपुर. राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कोलारी में एक दिन बालिकाओं के नाम कार्यक्रम के तहत बालिका मंजू ने एक दिन के लिए संस्था प्रधान बनकर कक्षाओं में बच्चों के शैक्षिक स्तर को जांचा तो वहीं विद्यालय की साफ सफाई पर असंतोष जताया। एक दिन की संस्था प्रधान बनी शिवानी गोस्वामी ने एमडीएम का निरीक्षण किया साथ ही कक्षा 11वीं में भूगोल के तीसरे कालांश में अध्यापिका निरमा की शिकायत पर 2 छात्रों को कड़ी फटकार लगाई। कक्षा 7वीं में छात्रों से शिवानी गोस्वामी द्वारा प्रश्न पूछने पर कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं दिया। शारीरिक शिक्षिक की भूमिका निभा रही कक्षा 10वीं की छात्रा कामिनी शर्मा ने प्रार्थना सभा में सभी छात्र छात्राओं को विद्यालय की साफ सफाई व स्वच्छता के लिए तथा सिंगल यूज़ प्लास्टिक को प्रतिबंधित करने पर विचार विमर्श किया।

स्कूल में एक अक्टूबर से नहीं बन रहा था पोषाहार, अंजलि परमार ने जिला कलेक्टर को लिखा पत्र

बसेड़ी| राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बसेड़ी में एक दिन के लिए संस्था प्रधान बनी बालिका ने अंजलि परमार ने विद्यालय की व्यवस्थाओं को देखते हुए पोषाहर नही बनने पर पोषाहार प्रभारी से कारण जाना तो पता चला कि विद्यालय में एक अक्टूबर से पोषहर सामग्री नही है ऐसे में जिससे विद्यार्थियों को पोषाहार नही मिल पा रहा है। जिस पर मानद संस्था प्रधान ने तत्काल कलेक्टर को पोषाहार सामग्री नही होने की सूचना भेजी। उन्होने सुबह प्रर्थना सभा में विद्यालय में लेट आने वाले बच्चों की अलग से लाइन लगाई तथा उन्हें हिदायत दी कि विद्यालय समय पर आंए लेट आने पर उन्हें विद्यालय में प्रवेश नही दिया जाएगा। इस अवसर पर उन्होने विद्यालय संचालन के दौरान कक्षाओं की व्यवस्थाओं को देखा तथा प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी। उन्होने कहा कि सरकार की ओर से सरकारी विद्यालयों में शिक्षकों की कमी के साथ ही खेल मैदान, लाइब्रेरी आदि पर ध्यान देना चाहिए। संबंधित सामाचार पेज 15 पर

सरमथुरा: कक्षाओं का किया निरीक्षण कमजोर बच्चों पर दें ध्यान : सोनम

सरमथुरा. शिक्षकों को निर्देश जारी करती एक दिन की संस्था प्रधान।

सरमथुरा. उपखंड की आंगई पंचायत के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 12 वीं की छात्रा सोनम शर्मा को को एक दिन का संस्था प्रधान बनाया गया। जिन्होंने सबसे पहले अध्यापकों की बैठक ली। उसके बाद विद्यालय में संचालित कक्षाओं को निरीक्षण किया। जहां उन्होने शिक्षकों को कहा कि कमजोर बच्चों पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है। सोनम शर्मा ने बताया कि राजकीय विद्यालयों की ओर सरकार की ओर से शिक्षकों की कमी एवं संसाधन नही होने से विद्यालय संचालन में परेशानी आती है। उन्होने बताया कि राजकीय विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र को शिक्षा में जो गुणवत्ता मिलती है वह निजी विद्यालयों में नही मिल सकती है। उन्होंने कहा कि अभिभवाकों को राजकीय विद्यालयों में अपने बच्चों का नामांकन कराना चाहिए। उन्होने बताया कि विद्यालय संचालन में किसी प्राकर की परेशानी नही हुई।

सैंपऊ : शिवानी ने छात्राओं से कराया अध्यापन, शिक्षण कार्य भी सौंपा

सैंपऊ. एक दिन के प्रधानाचार्य का चार्ज देता विद्यालय स्टाफ।

सैंपऊ. अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर 11 अक्टूबर शुक्रवार को कस्बे के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सैपऊ मैं विद्यालय संचालन का उत्तरदायित्व विद्यालय की छात्राओं को प्रदान किया गया। बालिकाओं द्वारा प्रार्थना सभा से प्रारंभ करते हुए विद्यालय की समस्त गतिविधियों को चाहे वह प्रशासनिक हो अथवा शैक्षिक समस्त जिम्मेदारियों का निर्वहन पूर्ण मनोयोग एवं निष्ठा के साथ किया। कक्षा 12 विज्ञान वर्ग की छात्रा शिवानी शर्मा को 1 दिन के लिए विद्यालय का प्रधानाचार्य नियुक्त किया गया तथा कक्षा बार विभिन्न बालिकाओं को शिक्षण कार्य की जिम्मेदारी सौंपी गई। प्रार्थना सत्र के बाद विद्यालय प्रधानाचार्य शिवानी शर्मा द्वारा बैठक आयोजित कर विभिन्न बालिकाओं को उनके उत्तरदायित्व को समझाया गया।

Dholpur News - rajasthan news the new principals expressed displeasure over the lack of teachers the education of children affected the distribution of filth and nutrition
Dholpur News - rajasthan news the new principals expressed displeasure over the lack of teachers the education of children affected the distribution of filth and nutrition
X
Dholpur News - rajasthan news the new principals expressed displeasure over the lack of teachers the education of children affected the distribution of filth and nutrition
Dholpur News - rajasthan news the new principals expressed displeasure over the lack of teachers the education of children affected the distribution of filth and nutrition
Dholpur News - rajasthan news the new principals expressed displeasure over the lack of teachers the education of children affected the distribution of filth and nutrition
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना