नर्सरी में पौधे तैयार करते समय कम पानी का उपयोग करें : दिग्विजय

Dholpur News - गुरूवार को सरमथुरा में वनकर्मियो को पौधारोंपण करने के लिए वनविभाग द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 10:40 AM IST
Saramathura News - rajasthan news use less water while preparing plants in nursery digvijay
गुरूवार को सरमथुरा में वनकर्मियो को पौधारोंपण करने के लिए वनविभाग द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें वनकर्मियों को पौधा लगाने की विधि से अवगत कराते हुए सुरक्षित रखने के उपाए बताए गए। वही नर्सरी से प्लान्टेशन तक पौधो को सुरक्षित पहुॅचाने के उपाए बताए। इस दौरान वन अधिकारियो ने वनकर्मियो को डेमो कर जानकारी दी। कार्यशाला में सीएफ दिग्विजय गुप्त ने वनकर्मियो को नर्सरी में पौधा तैयार करने के लिए कम पानी देने का सुझाब दिया। उन्होने कहा कि पौधो को तैयार करते समय कम पानी मिलने पर अगर कम बरसात होने के बाद भी पौधा कम पानी में भी अपना संरक्षण कर सकता है। इसी प्रकार सीएफ ने पौधा रोपते समय यूरिया का उपयोग नही करने की सलाह दी। उन्होने कहा कि पौधारोपते समय खड्डा की मिट्टी में डीएपी व एसएसपी का उपयोग कर सकते है। उन्होने वनकर्मियो को पथरीली जमीन पर पौधा लगाने की विधि से अवगत कराया। कहा कि पथरीली जमीन में खड्डा से निकली मिट्टी में से कंकड, पत्थरो को अलग करना चाहिए जिसके बाद ही पौधा में मिट्टी का उपयोग करना चाहिए। उन्होने खड्डा में मिट्टी के साथ घास नही डालने का सुझाब दिया। कार्यशाला में डीएफओ कर्णसिह ने वनकर्मियो को नसीहत देते हुए कहा कि पौधा नवजात शिशु के समान है। उन्होने कहा कि नवजात शिशु व पौधा की बराबर सुरक्षा करनी चाहिए। साथ ही कहा कि पौधा लगाते समय कपडो के गंदा होने की चिंता नही करनी चाहिए। सीएफ दिगविजय गुप्त, डीएफओ कर्णसिह, रेजर विक्रमसिह, हेमराजसिह व रूपेन्द्र शर्मा सहित वनकर्मी मौजूद थे।

सरमथुरा. डेमोकर पौधा लगाकर बताते डीएफओ और सीएफ।

इमली के बीज लगाने की विधि से कराया अवगत

कार्यशाला में वन अधिकारियो ने वनकर्मियो को इमली के बीज लगाने की विधि से अवगत कराया। उन्होने कहा कि इमली का बीज लगाने के लिए विशेष सतर्कता बरतनी चाहिए। बीज लगाने की तैयारी से एक दिन पूर्व प्रक्रिया शुरू कर दी जाती है। एक दिन पूर्व गर्म पानी में बीज को डालने के बाद दूसरे दिन ही बीज स्विंग करना चाहिए। इमली के बीज को बरसात होने के बाद ही लगाना चाहिए। कार्यशाला के बाद नर्सरी में पौधा लगाने का डेमो किया गया जिसके तहत पौधा लगाने की विधि से वनकर्मियो अवगत कराया गया। सीएफ दिगविजय गुप्त ने बताया कि जिला में गत बर्ष वृक्षारोंपण के तहत 2.92 लाख पौधा लगाने की योजना है। जिसके तहत अधिकांश नीम, वर, पीपल व गूलर जैसे छायादार पौधा लगाए जाऐगे। उन्होने कहा कि पौधे लगाने के बाद ही पावडे बनाने चाहिए। सीएफ ने नर्सरी में करंज के पौधो को देखकर नाराजगी जताई तथा उचित प्रबंध करने की नसीहत दी।

X
Saramathura News - rajasthan news use less water while preparing plants in nursery digvijay
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना