• Hindi News
  • Rajasthan
  • Dhorimana
  • 6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
--Advertisement--

6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए

Dhorimana News - द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आईसीएआई) की ओर से सीए फाइनल का परिणाम शुक्रवार को घोषित किया गया।...

Dainik Bhaskar

Jul 21, 2018, 03:05 AM IST
6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (आईसीएआई) की ओर से सीए फाइनल का परिणाम शुक्रवार को घोषित किया गया। बाड़मेर के चार युवाओं ने मेहनत के बूते सफलता हासिल कर जिले का गौरव बढ़ाया है।

पिछले सात-आठ साल से तैयारी कर रहे इन युवाओं ने सीए परीक्षा के दो स्टेप पास कर लिए। लेकिन फाइनल में सफलता नहीं मिलने के बावजूद हताश नहीं हुए। इस बार चार युवाओं का सीए फाइनल में चयन हुआ।

सीए फाइनल का परिणाम घोषित, दो बाड़मेर व एक-एक धोरीमन्ना व उण्डू के युवा शामिल

10 से 12 घंटे पढ़ाई कर सीए बना अश्वनी

बाड़मेर निवासी अश्वनी पुत्र संपतराज मालू ने वर्ष 2012 में सीए बनने की तैयारी शुरू की। अहमदाबाद में रहकर सीए परीक्षा के दो स्टेप पार किए, लेकिन फाइनल परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हुए, फिर भी निराश न होकर तैयारी जारी रखी। सीए 2018 की परीक्षा के दौरान अचानक तबीयत खराब हो गई। इस दौरान 10 से 12 घंटे की सेल्फ स्टडी जारी रखते हुए सीए बनने में सफल हुए।

छठे प्रयास में हुए सफल

भरत कुमार पुत्र धनराज निवासी धोरीमन्ना का छठे प्रयास में सीए पद पर चयन हुआ। 2011 में पहले प्रयास में आईपीसीसी सेकंड उत्तीर्ण कर ली। लेकिन फाइनल में रह गए थे। सेल्फ स्टडी पर फोकस रखकर सफल हुए।

बिना कोचिंग सीए बने जसराज

बाड़मेर निवासी जसराज पुत्र रावल चंद गोलेच्छा ने 12वीं उत्तीर्ण करने के बाद सीए बनने की ठान ली। उन्होंने कोचिंग या ट्यूशन करवाने की बजाय सेल्फ स्टडी पर फोकस रखा। लगातार पांच साल की मेहनत से सीए बनकर ही दम लिया।

उण्डू के मनोज बने सीए

शिव के उण्डू निवासी मनोज चंडक का सीए फाइनल में चयन हुआ है। चंडक ने मुंबई में रहकर परीक्षा की तैयार की। दोस्तों के मार्गदर्शन में दूसरे ही प्रयास में दो स्टेप की परीक्षा उत्तीर्ण करने में कामयाब हुए। इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ा।

6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
X
6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
6 से 8 साल की मेहनत का नतीजा, बाड़मेर के चार युवा बने सीए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..